बाल संरक्षण को ले एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन

0
baal sanrakshan

परवेज अख्तर/सिवान : आरपीएफ पोस्ट के परिसर में बुधवार को स्नेही लोकोत्थान संस्थान के द्वारा बाल संरक्षण अधिनियम पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में बालकों की देख रेख संरक्षण सुरक्षा एवं मानव व्यापार जैसे गंभीर विषयों पर विचार-विमर्श किया गया । कार्यशाला की अध्यक्षता स्टेशन अधीक्षक सुरेश चंद्र गिरि द्वारा की गई। इस मौके पर जिला बाल संरक्षण इकाई के सहायक निदेशक अनिमेष कुमार चंदन मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे। कार्यशाला का शुभारंभ मुख्य अतिथि सहित आरपीएफ इंस्पेक्टर अजय कुमार सिंह, जीआरपी प्रभारी नंदकिशोर सिंह, नगर परिषद् के कार्यपालक पदाधिकारी सुशील कुमार ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया। कार्यशाला को संबोधित करते हुए आरपीएफ इंस्पेक्टर अजय कुमार सिंह ने कहा कि मानव तस्करी एक व्यापार का रूप ले चुका है मेरे द्वारा अभी तक कई नाबालिग लड़के एवं लड़कियों को मानव तस्करों से मुक्त कराया गया है। प्रशासन एवं सामाजिक संगठनों की भूमिका काफी महत्वपूर्ण है। इसी विषय पर प्रकाश डालते हुए स्टेशन अधीक्षक सुरेश चंद्र गिरि ने बताया कि यदि कभी कोई भूला भटका अथवा परित्यक्त या मुसीबत में फंसा हुआ बच्चा मिले तो उसे संबंधित संस्थान को ही सुपुर्द करें। जिले में इसके लिए स्नेही लोकोत्थान संस्थान संवैधानिक रूप से बिहार सरकार के द्वारा अधिकृत है। कार्यशाला में उपस्थित संस्थान के कानूनी सलाहकार व अधिवक्ता राजीव कुमार सिंह ने बच्चों के संरक्षण अधिनियम आदि विषयों पर विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि जब भी कोई लावारिस बच्चा प्राप्त हो तो उसे बाल कल्याण समिति जिला बाल संरक्षण इकाई को सूचित करें। ज्ञात हो की पिछले 2 वर्षों से जिले में फतेहपुर में संस्थान द्वारा वशिष्ठ दत्तक ग्रहण का संचालन किया जा रहा है। जिसमें 0 से 6 वर्ष तक के बच्चों को रखा जाता है। सरकार व सामाजिक संगठन के सहयोग से संस्थान का संचालन हो रहा है। यह एक काफी सराहनीय कार्य है। लेकिन अभी भी लोगों में जागरूकता का अभाव है जिसके लिए जागरूकता फैलाना जरूरी है। संस्थान के कार्यक्रम प्रबंधक विकास कुमार सिंह ने बताया कि जागरूकता कार्यक्रम निरंतर अलग-अलग स्थानों पर किया जाएगा शहर के विभिन्न प्रखंडों स्वास्थ्य केंद्रों एवं जनप्रतिनिधियों के साथ कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा । धन्यवाद ज्ञापन नवीन सिंह परमार ने किया । कार्यशाला में वशिष्ठ दत्तक ग्रहण संस्थान की समन्वय, सामाजिक कार्यकर्ता, कार्यक्रम निदेशक के अलावा डॉ मधुसूदन प्रसाद ,रेडियो स्नेही के राणा प्रताप सिंह, प्रीति सराफ एवं अन्य गणमान्य लोगों की गरिमामय उपस्थिति रही। कार्यक्रम को सफल बनाने में मनीष कुमार, विकास कुमार, अनंत कुमार, संजय प्रसाद, प्रतिभा देवी, रिन्कू कुमारी, मौली साहब , एवं शोध संस्थान के सभी स्वयंसेवकों का सराहनीय योगदान रहा।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal