पचरुखी: 20 वर्षीय युवक की हत्या मामले में न्याय की आश में बैठे परिजन

0
  • प्रेम प्रसंग में कलेजे के टुकड़े की हत्या से शोक में डूबा परिवार
  • दो गिरफ्तारी के बाद पुलिस बरत रही शिथिलता

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के पचरुखी थाना क्षेत्र के मन्द्रापाली गांव निवासी सुरेश महतो के 20 वर्षीय पुत्र पुनीत कुमार की प्रेम प्रसंग में हुई हत्या के बाद पूरे परिवार को झकझोर कर रख दिया है. मृतक की घर से रुक रुक कर रोने विलखने की आवाजें आ रही है. मां दुर्गा देवी पिता सुरेश मांझी सहित अन्य परिजनों का रोरोकर हाल बुरा है. इस मामले में पुलिस ने घटना के बाद गांव के ही नारद महतो व धर्मनाथ महतो को गिरफ्तार कर जेल दिया है.उसके बाद पुलिस हांथ में हांथ धरे बैठी है. गौरतलब हो कि बिते तीन जून को गांव के उक्त दो नमजद सहित अन्य अभियुक्तों ने पुनीत कुमार की गर्दन दबाकर हत्या कर साक्ष्य को छिपाने के लिये घर के समीप स्थित बगीचे में आम के पेड़ पर शव को गमछा से लटका दिया था.वहीं इधर प्रेमी की हत्या के बाद प्रेमिका ने प्रेमिका ने गम बर्दास्त नहीं कर सकी उसने घटना के दिन ही जहर खा लिया था. जिसे परिजनों ने स्थानीय क्लिनिक में इलाज कराया था.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2023-10-11 at 9.50.09 PM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.50 AM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.51 AM
ahmadali
WhatsApp Image 2023-11-01 at 2.54.48 PM

बहरहाल व स्वस्थ है. लेकिन पुलिस ने अभी तक प्रेम प्रसंग संबंधित मामले से अनजान दिख रही है. पुलिस ने दो नामजदों को गिरफ्तार कर अपना पल्लू झाड़ दिया है. अन्य अभियुक्तों को पुलिस गिरफ्तार करने में विफल है. वहीं हत्याकांड में न्याय की गुहार के लिये पीड़ित परिवार आश लगाते बैठे है. लेकिन पीड़ित परिवार को दूर दूर तक न्याय की उम्मीद नही दिखायी दे रही है. मालूम हो कि प्रेमिका अपने ननिहाल में नाना नानी के पास रहती है.मृतक के पिता ने अपने आवेदन में कहा है कि घटना के दिन मैं अपनी पत्नि दुर्गा के साथ ससुराल में था.वहां मेरी बेटी की शादी थी. तभी गुरुवार की सुबह फोन आया कि अपके पुत्र की हत्या हो गयी है.

जब मैं गांव आकर देखा कि मेरा पुत्र पुनीत की सजिश के तहत हत्या कर शव को गमछे के सहारे शव को टांग दिया गया है. अपने आवेदन में यह भी लिखा है कि पहले से उक्त नामजदों द्वारा धमकी दिया गया था कि अपने पुत्र को समझा कर रखो, उसका चरित्र अच्छा नही है. अगर नहीं मानेगा तो उसकी लाश मिलेगी. वहीं घटना के बाद एसडीपीओ जितेंद्र पांडेय घटनास्थल पर पहुंच कर गहन पड़ताल करते हुये परिजनों को शीघ्र ही जांच कर पूरे मामले के उद्भेदन कर न्याय दिलाने की बात कही थी. मृतक चार भाइयों व दो बहनों में तीसरे नम्बर का था. मृतक के सभी भाई बहन अविवाहित है. मृतक के पिता कृषि कार्य कर परिवार की आजीविका चलाते है.