ट्रेन में मोबाइल पर्स चोरी करते युवती को यात्रियों ने पकड़ा, जीआरपी को सौंपा

0
chori

दिल्ली से चलकर सीवान तक आती थी युवती

चोरी के बाद पुलिस वाले को देती थी पैसे

परवेज अख्तर/सिवान:- सोमवार को नई दिल्ली से चलकर सीवान के रास्ते सहरसा को जाने वाली वैशाली सुपर फास्ट एक्सप्रेस यात्रियों ने सीवान जंक्शन पर एक चोर को उतारा. इस मामले में यात्री मुफस्सिल थाना क्षेत्र के सरसर निवासी एनुल हक के पुत्र महमद मैनुद्दीन ने बताया कि मैं नई दिल्ली में वैशाली एक्सप्रेस के कोच 8 के सीट नंबर 34 पर सवार होने के लिये चढ़ा. तब तक पीछे मौजूद चोर सीमापुरी निवासी मंसूर अली के पुत्रि गुलाबशा ने मेरा मोबाइल की चोरी कर लिया.फिर उसने मेरा पॉकेट से पैसा निकलने की कोशिश की तो हमने उसका हाथ पकड़ लिया. हमसे पहले उस कोच में सवार होने वाले अन्य चार यात्रियों की मोबाइल की चोरी हो चुकी थी.जिसे सभी यात्रियों ने कोच में ही बैठा लिया. जिसके बाद नई दिल्ली व गाजियाबाद के बीच एक पुलिस वाले ने कहा कि आप इसे छोड़ दीजिये यात्रियों ने इसका विरोध करते हुए कहा कि आप पुलिस वाले है लेकिन आपका नेम बैच नही है.आईडी दिखाइये और ले जाईये जिसके बाद पुलिस वाले ने चलती ट्रेन में यात्रियों पर अपनी पिस्टल तानते हुए कहा कि यही मेरा आईडी है.हल्ला हंगामा करने के बाद पुलिस वाला चल पड़ा. वही सीवान जंक्शन पर चोर युवती ने बताया की मैं दिल्ली में जीआरपी पुलिस वाला साबिर के कहने पर चोरी का काम करती थी. चोरी का माल मैं नई दिल्ली में रहने वाले कंजा भाई को देती थी वो उसके बदले मुझे पैसे देते थे.जिस पैसे में से मैं साबिर पुलिस वाला को पांच सौ रुपये देती थी.उसने यह भी बताया कि और मैं कुछ और समान की चोरी जो करती थी. उस समान को सीवान में अपने रिश्तेदार रेशमा की मां मुमताज को देती थी. जो हमे समान के बदले पैसा नहीं देती थी. लेकिन उसने मुमताज का पता नही बताया. जिसके बाद यात्री महमद मैनुद्दीन, दानिश, पिंटू कुमार कुशवाहा व अन्य यात्रियों ने सीवान जीआरपी को सौंप दिया. जीआरपी प्रभारी ने बताया कि मामले की जांच की जा रही हैं.जल्द ही कार्यवाई की जायेगी.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal