जिले में ठंड से ठिठुर रहे है लोग, हवा व कोहरे ने बढ़ाई कनकनी

0

परवेज अख्तर/सीवान: पिछले एक सप्ताह से ठंड का सितम जारी है. तापमान में आई भारी गिरावट के बीच बर्फीली हवाओं व गलन के प्रकोप से जनमानस ठिठुर रहा है. कई दिनों से पछुआ हवा के साथ – साथ कनकनी से लोगों की परेशानी बढ़ गई है .हड्डी कंपा देने वाली ठंड ने लोगों की मुसीबत बढ़ा दी है. स्थिति ऐसी कि जरूरी काम आने पर ही लोग घर से निकल रहे हैं जो लोग घर से बाहर निकल रहे हैं वे अपने पूरे शरीर को गर्म कपड़ों से तरह ढक ले रहे हैं. मौसम विभाग के अनुसार सोमवार को न्यूनतम तापमान 8.3 डिग्री रिकार्ड किया गया. नौ डिग्री से नीचे आए पारे के कारण ही सर्दी बढ़ी है. सोमवार को पूरे दिन धुंध व कोहरा छाया रहा. धूप नहीं निकलने से विजिबलिटि भी सड़क पर कम रही जिससे सड़क पर वाहनों का पहिया थम सा गया . मौसम विभाग के अनुसार ठंड की स्थिति जस की तस बनी रहेगी. इधर मौसम में आई परिर्वतन व कड़ाके की ठंड की वजह से रिक्शा – ठेले व रोजमर्रा की जिंदगी जीने वाले लोगों के समक्ष विकट स्थिति उत्पन्न हो गई है. यूं कहे तो लोगों की जिंदगी ही ठहर सी गई है .

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

चौक – चौराहे और स्टेशन परिसर में अलाव जलाने की मांग, लोगों का जीना हुआ मुहाल

एक सप्ताह से कड़ाके की ठंड जारी है . पछुआ हवा के साथ जिंदगी ठिठुर रही है । ठंड से बेहाल हुए लोग किसी तरह बचने का प्रयास कर रहे हैं. आम आदमी , गरीब – गुरबा घास – भूषा आदि जलाकर आग की गर्माहट के साथ अपनी जिदगी बचाने में लगे हैं प्रशासनिक स्तर पर अब तक अलाव की समुचित व्यवस्था नहीं की गई है. आमलोगों में इसको लेकर गहरी नाराजगी है . चौक – चौराहे और स्टेशन परिसर में अलाव जलाने की मांग तेज हो उठी है. बाजार आए लोग चाय – नाश्ते की दुकान पर भट्ठी के समीप खड़े होकर ठंड से बचने का उपाय तलाशते हैं .इसको लेकर कई बार उन्हें झिड़कियां सुननी पड़ती है .

अभी ठंड से नहीं मिलने जा रही राहत

मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार जिले मे आने वाले दिनों में 22 जनवरी तक आसमान साफ रहने की संभावना है . 19 व 20 जनवरी को अधिकतम और न्यूनतम तापमान में थोड़ा वृद्धि होगा , लेकिन फिर 22 जनवरी को अधिकतम और न्यूनतम तापमान में गिरावट आएगा. आसमान में बादल छाए नहीं रहने से कुहासा रह सकता है और इस समय 6 से 7 किलोमीटर के गति से पछुवा हवा चलने की संभावना है. जिससे ठंड और बढ़ सकता है .मौसम को देखते हुए किसान भाइयों को सलाह दी जा रही है की रबी फसल में नमी बनाए रखने के लिए सिंचाई आवश्यकतानुसार करे .

ठंड से बचने के लिए ये करें

  • ठंड से बचने के लिए हमेशा कान व सिर को गर्म कपड़े से ढंक कर रखें
  • रक्तचाप व हृदय रोगी नियमित दवाएं लेते रहें
  • सूर्योदय के बाद ही सैर पर निकलें
  • गुनगुना पानी ही पीएं
  • शाम के बाद खुले में न घूमें
  • सरसों के तेल में कपूर डालकर गर्म करके सीने व तलवों में लगाएं
  • ठंडे पानी के सेवन से बचें
  • हालत गंभीर होने पर चिकित्सक से संपर्क करें

क्या होंगी परेशानी

  • ठंड लगने से पेट दर्द व दस्त हो सकते हैं
  • सरदर्द व जोड़ों में भयंकर दर्द व जकड़न हो सकता है
  • रक्तचाप में इजाफा हो सकता है जो दिल के लिए घातक हो सकता है
  • गला खराब व कफ हो सकता है
  • जुकाम व बुखार हो सकता है