महाराजगंज: सात दिवसीय शतचंडी महायज्ञ की तैयारी पूरी, कल निकलेगी भव्य शोभा यात्रा

0

परवेज अख्तर/सिवान : महाराजगंज शहर के नखासचौक स्थित नवनिर्मित काली मां मंदिर का प्रथम बार्षिक उत्सव  को लेकर सात दिवसीय शतचंडी महायज्ञ की तैयारी पुरी कर ली गई है. कल रविवार को निकलेगी भव्य कलश यात्रा. महाराजगंज मुख्यालय के नखासचौक स्थित काली मंदिर  के प्रांगण में सात दिवसीय श्री शतचंडी महायज्ञ एवं श्री मद् देवी भागवत कथा महायज्ञ की तैयारी अंतिम चरण में है.इस संबंध मे बड़ी देवी पूजन समिति  व शतचंडी महायज्ञ  आयोजन समिति के सचिव राजेश अनल ने बताया कि सात दिनों तक चलने वाले इस शतचंडी महायज्ञ के लिए बनारस के पंडित को बुलाया गया है. यज्ञ के दौरान बृंदावन के सुप्रसिद्ध देवी भागवत कथा वाचिका सपना नन्दनी जी का आगमन हो रहा है. जिनके मुखारबिंद से श्रद्धालु भक्ति के सागर में गोता लगाएंगे. यज्ञ के दौरान प्रत्येक दिन भंडारे का आयोजन किया जाएगा.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

पूर्णाहुति के उपरांत आगामी 7 फरवरी को जागरण कार्यक्रम आयोजित किया गया है. यज्ञ को लेकर शहर में कई तोरण द्वार बनाये गए हैं.इस कार्यक्रम को लेकर शहर के सभी जनप्रतिनिधि एवं ग्रामीणों में काफी उत्साह बना हुआ है और सभी लोग इस कार्यक्रम को सफल बनाने में लगे हुए हैं.ग्रामीणों ने बीते दिन अपने अपने घर से महाप्रसाद हेतु अन्नदान किया. सात दिवसीय इस महायज्ञ का शुभारम्भ 31 जनवरी को 1001 कन्या एवं महिलाएं इस भव्य कलश शोभा यात्रा में भाग लेंगी.कलश शोभा यात्रा में हाथी, घोड़ा बच्चों के द्वारा देवी देवताओं की झांकी आकर्षक का केंद्र बनेगा.

शोभा यात्रा पुरे शहर का भ्रमण कर यज्ञ स्थल पर पहुचेगी एवं संध्या काल में पहुँचे मुख्य अतिथियों के द्वारा दीप प्रज्वलित कर मंच का उद्घाटन किया जायेगा.प्रतिदिन प्रथम चरण में बेदीपूजन और उत्तर चरण में प्रवचन भजन एवं झांकी के साथ साथ विद्वानों द्वारा उदगार व्यक्त किया जायेगा. प्रत्येक दिन संगीतमय कथा वाचिका सपना नन्दनी जी के मुखारबिंद से श्रद्धालु भक्ति के सागर मे गोता लगाएंगे. शतचंडी महायज्ञ को लेकर शहर के पत्रकार नगर मे भव्य पंडाल का निर्माण बड़ी देवी पूजा समिति के तरफ से कराया गया है.यज्ञ को सफल बनाने के लिए पूजा समिति के अध्यक्ष रामबाबू प्रसाद,हरिशंकर आशीष, लीला, राजू कुमार,राजन कुमार सुरज कुमार ठाकुर,कुष्णा प्रसाद,डेनीस कुमार,उमेश कुमार,सतोष केसरी, दशरथ कुमार आदि व्यवस्था मे जुटे हुए है.