आइजीआइएमएस में स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव ने कराया कोविड का टीका

0
  • कार्यपालक निदेशक व अन्य अधिकारियों ने भी टीका लगा कर लीगों को दिया सकारात्मक संदेश
  • टीका सुरक्षित और असरदार, आमजन में टीकाकरण के प्रति विश्वास के लिए पहल

पटना: कोविड टीकाकरण के पहले चरण में स्वास्थकर्मियों का टीकाकरण किया जा रहा है. इस टीकाकरण अभियान के तहत इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान पटना में स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों का कोविड टीकाकरण किया जा रहा है. शुक्रवार को स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने भी कोविड टीकाकरण कराया. उनके साथ राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने भी इस व्यापक टीकाकरण अभियान में हिस्सा लेकर टीका लिया. साथ ही सभी स्वास्थ्यकर्मियों को टीकाकरण के लिए प्रोत्साहित किया.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

covid samaroh

उन्होंने कहा टीकाकरण कराने के लिए लोगों का प्रोत्साहित किया जाना जरूरी है. टीकाकरण सुरक्षित और असरदार है. टीकाकरण के दूसरे और तीसरे चरण के लिए लोगों में को खुद को मानसिक रूप से तैयार कर लेना चाहिए. भविष्य में किसी भी कोविड संक्रमण से बचाव के लिए ऐसा करना महत्वपूर्ण हो जाता है.

इं​दिरा गांध आयुर्विज्ञान संस्थान, पटना में स्वास्थ्य विभाग एवं राज्य स्वास्थ्य समिति के अधिकारियों ने व्यापक टीकाकरण अभियान में शामिल कोकर टीका लेते हुए सभी के लिए मिसाल पेश की है. इस मौके पर बीएमएसआइसीएल के प्रबंध निदेशक प्रदीप कुमार झाा के अलावा राज्य स्वास्थ्य समिति के प्रशासी पदाधिकारी खालिद अरशद, उप सचिव राजेश कुमार, राज्य प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ एनके सिन्हा व औषधि के उपनिदेशक मनीष रंजन आदि ने भी कोविड का टीकाकरण लिया. स्वास्थ्य विभाग से संयुक्त सचिव अनिल कुमार एवं विशेष कार्य पदाधिकारी सतीश कुमार सिन्हा ने भी कोविड का टीकाकरण लिया.

कोविड टीका सभी प्रमाणित वैक्सीन पूरी प्रक्रिया के गुजरने के बाद ही स्वीकृत की गयी है और पूर्णतया: सुरक्षित है. लोगों में इसके सुरक्षा को लेकर किसी प्रकार का कोई भ्रम नहीं रहे इस कारण विभाग के आला​ अधिकारियों ने इस टीके को लेकर सबको टीके के प्रति विश्वास दिलाने का काम किया है. टीकाकरण के पश्चात लाभार्थी को किसी प्रकार की परेशानी के प्रबंधन के लिए सत्र स्थल पर एईएफआई किट भी पर्याप्त संख्या में उपलब्ध कराने के निर्देश भी विभाग की ओर से दिये गये है. इसके साथ ही संबंधित टीकाकर्मी को इसके लिए आवश्यक प्रशिक्षण दिया गया है.

कोविड टीकाकरण की पहली खुराक लिये जाने के 28 दिन बाद सभी अधिकारियो को दूसरी खुराक दी जायेगी. दूसरे डोज के 14 दिन बाद कोरोना के प्रति रोग प्रतिरोधक क्षमता का विकास होता है. इसलिए टीके के बाद भी सावधानी बरतनी जरूरी है. कोविशील्ड टीकाकृत लाभार्थी को कोविशील्ड व कोवैक्सीन टीकाकृत लाभार्थी को कोवैक्सीन का ही दूसरा दिया जाना है. विभाग की ओर से कहा गया है कि आमलोगों की तरह कोविड टीकाकरण कराने वाले लाभार्थी सावधानी के तौर पर मास्क का इस्तेमाल अवश्य करें. साथ ही शारीरिक दूरी व हाथों की सफाई का ​भी विशेष ध्यान रखने की जरूरत है.