रघुनाथपुर: आर्केस्ट्रा में चिमनी भट्ठा मालिक के बेटे को मारी गोली

0

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के रघुनाथपुर थाना क्षेत्र के टारी बाजार में बुधवार की रात जनवासे में हो रहे आर्केस्ट्रा देखने पहुंचे एक युवक को गोली मार दी गयी। आर्केस्ट्रा देखने दूसरे गांव के भी कुछ युवक पहुंचे थे। चिमनी भट्ठा मालिक गोविन्द प्रसाद का पुत्र अमित कुमार अपने कुछ साथियों के साथ किसान मजदूर हाईस्कूल टारी के खेल मैदान में ठहरे बारात के जनवासे में हो रहे आर्केस्ट्रा को देखने के लिए गया हुआ था। कहा जा रहा है कि जनवासे में आर्केस्ट्रा देखने के दौरान किसी बात को लेकर अमित का दूसरे गांव के युवकों के साथ पहले कहासुनी और फिर धक्का-मुक्की हो गयी। तभी चिमनी भट्ठा मालिक के पुत्र पर उनलोगों ने अंधाधुंध दो फायरिंग कर दी। जिसमें एक गोली अमित के पीठ में लग गयी। जबकि दूसरी गोली सिर के ऊपर से निकल गयी। गोली चलने की घटना के बाद जनवासे में अफरातफरी मच गयी। इसी बीच स्थानीय लोगों की मदद से युवक को एक निजी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया। फिलहाल युवक खतरे से बिल्कुल बाहर है। माना जा रहा है कि युवक को देशी कट्टा से गोली मारी गयी होगी। इधर, चिमनी मालिक के बेटे व टारी बाजार के व्यवसायी अमित ने कहा कि उनपर सुनियोजित तरीके से गोलीबारी की गयी है। बहरहाल, गुरूवार की दोपहर में अमित ने स्थानीय थाने में एक आवेदन दिया। इसमें तीन लोगों को नामजद किया गया है। जबकि तीन अज्ञात लोग अरोपित किए गए हैं। खबर लिखे जाने तक इस मामले में एफआईआर दर्ज नहीं हो सकी थी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2023-10-11 at 9.50.09 PM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.50 AM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.51 AM
ahmadali
WhatsApp Image 2023-11-01 at 2.54.48 PM

रात साढ़े 12 बजे के करीब हुई यह घटना

टारी बाजार के सुरेन्द्र बैठा के घर आई बारात में आर्केस्ट्रा देखने वाले काफी संख्या में पहुंचे हुए थे। कहा जा रहा है कि रात में जनवासे में मौजूद युवक अपनी-अपनी पसंद की गीतों पर नर्तकियों का नृत्य देख रहे थे। इसी बीच गोलीबारी हुई तो भगदड़ सी मच गयी। आर्केस्ट्रा वाले तो भागे ही, बेटे वाले सारा समान मौके पर छोड़कर फरार हो गये। गोली मारने वाले युवक भी पश्चिम दिशा की तरफ भाग खड़े हुए। इस घटना के करीब 1 घंटे के बाद जनवासे में पहुंचकर दुल्हन पक्ष के लोग सामान समेटकर अपने घर लाये। हालांकि, यह शादी शांतिपूर्ण संम्पन्न होने के बाद दुल्हन की सुबह में विदाई कर दी गयी।