आरपीएफ खुद बनाएगी नशाखुरानी गिरोह के सदस्यों की स्केच

0

परवेज अख्तर/सिवान : सीजन में नशाखुरानी गिरोह की सक्रियता को देखते हुए आरपीएफ ने गिरोह के सदस्यों पर लगाम कसने की तैयारी शुरू कर दी है। इसके तहत अब आरपीएफ पोस्ट पर ही नशाखुरानी गिरोह के सदस्यों की स्केच जारी की जाएगी। मंगलवार को नशाखुरानी गिरोह के 10 सदस्यों का स्केच जारी भी कर दिया गया। मामले में आरपीएफ इंस्पेक्टर अजय कुमार सिंह ने बताया कि एनसीआरबी ने एक सॉफ्टवेयर लाया है। सॉफ्टवेयर की मदद से अब स्केचर की जरूरत नहीं होगी। पोस्ट पर ट्रेनंड जवान नशाखुरानी गिरोह के सदस्यों का हुलिया जैसे ही अपलोड करेंगे स्केच बनकर तैयार हो जाएगा। इससे उनकी धरपकड़ में आसानी होगी। पहले गिरोह के सदस्यों की पहचान करने के लिए स्केचर को बुलाना पड़ता था इसके बाद उनका स्केच जब जारी होता था तो हुलिया में कई फर्क आ जाते थे। इसको देखते हुए एनसीआरबी ने एक सॉफ्टवेयर लाया। इस सॉफ्टवेयर को कैसे आॅपरेट करना है इसके लिए सभी आरपीएफ प्रभारी व जवानों को ट्रेनिंग देकर उन्हें खुद से अपराधियों का स्केच बनने की जानकारी दी गई। जबकि इसकी ट्रेनिंग के लिए 26 मार्च को सिवान आरपीएफ पोस्ट से एक कांस्टेबल रमेश कुमार शर्मा को लखनऊ भेजा गया था। जो ट्रेनिंग लेने के बाद वहां सिवान आ गया है। इसके बाद मंगलवार से आरपीएफ पोस्ट पर सभी को अपराधियों का स्केच बनने के लिए ट्रेनिंग दिया गया है। कंप्यूटर में इस सॉफ्टवेयर को सेट कर दिया गया है। जिससे अभी तक दस की संख्या में स्केच जारी हो चूके हैं। अब नशाखुरानी गिरोह के सदस्यों की धरपकड़ में मदद मिलेगी।