सदर अस्पताल :- अब एचआईवी मरीजों का जिले में ही होगा इलाज

0
sadar hospital

सिवान ऑनलाइन न्यूज़ का असर

परवेज़ अख्तर/सिवान : सदर अस्पताल में जल्द ही एचआइवी पीड़ितों के इलाज के लिए एंटी रेट्रो वायरल थेरेपी (एआरटी) सेंटर खोला जाएगा। इसको लेकर विभाग ने कवायद भी शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार 15 सितंबर तक एआरटी सेंटर काम करना शुरू कर देगा। यह सेंटर अस्पताल परिसर स्थित ब्लड बैंक के भवन में बनेगा। इसके खुलने से एचआइवी पॉजिटिव मरीजों को इलाज व दवा लेने के लिए किसी दूसरे स्थान पर नहीं जाना पड़ेगा। आर्थिक रूप से कमजोर मरीजों को इससे निजात मिलेगी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
ads

सिविल सर्जन डॉ. यदुवंश कुमार शर्मा ने बताया कि करीब एक साल पूर्व नेशनल एड्स कंट्रोल सोसायटी की टीम ने स्थल निरीक्षण कर आवश्यक निर्देश दिए थे। अभी जिले में एआरटी सेंटर नहीं होने के कारण मरीजों को पटना या अन्य बड़े शहरों में जाना पड़ता है। इस एआरटी सेंटर में सीडी फोर सहित अन्य उपकरण लगाए जाएंगे। सीडी फोर लगाने का मुख्य उद्देश्य मरीज की बीमारी किस परिस्थिति में है, उसका पता लगाना है। पहले ब्लड काउंट साढ़े तीन सौ से नीचे होने पर दवा शुरू की जाती थी, पर अब बीमारी की पुष्टि होते ही दवा शुरू कर दी जाएगी। चिकित्सकों सहित कर्मियों की हो गई नियुक्ति सदर अस्पताल में भी एचआइवी से ग्रसित मरीजों का इलाज करने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा एक चिकित्सक, एक जीएनएम, एक काउंसलर व एक लैब टेक्निशियन की नियुक्ति की है। इस केंद्र पर मरीजों की जांच करने के साथ समय-समय पर उनका स्वास्थ्य परीक्षण कर दवा मुहैया कराने की सुविधा रहेगी।

क्या कहते हैं सीएस:

सदर अस्पताल में 15 सितंबर तक एंटी रेट्रो वायरल थेरेपी (एआरटी) सेंटर चालू हो जाएगा। इसके चालू होने से एड्स मरीजों को काफी सहूलियत मिलने लगेगी। एआरटी सेंटर से ही मरीजों को दवाइयां भी मिलेंगी। प्रथम चरण में भवन की व्यवस्था कर चिकित्सक समेत कर्मियों की नियुक्ति भी कर दी गई है।

डॉ. यदुवंश कुमार शर्मा, सिविल सर्जन, सिवान।