सीवान में सफाईकर्मियों की हड़ताल जारी, सड़कों पर पसरा रहा कचरा

0
hadtal

परवेज अख्तर/सिवान: अपने विभिन्न दस सूत्री मांगों के समर्थन में नगर परिषद के स्थायी व संविदा पर कार्यरत सफाई कर्मियों ने बुधवार को तीसरे दिन भी अपना हड़ताल जारी रखी। लगातार तीसरे दिन सड़कों पर कचरा पसरे होने से पूरा शहर कूड़ामय हो गया है। जगह-जगह कूड़ा-कचरा पसरा हुआ है। शहर के विभिन्न वार्डों में लोगों के घरों से कचरा का उठाव नहीं हो रहा है। जिससे लोगों को ही कचरा फेंकने के लिए कूड़ेदान तक जाना पड़़ रहा है। वहीं कूड़ेदान से कचरों का उठाव न होने के कारण कचरे अब कूड़ेदान से निकल कर सड़कों तक आ गए हैं। बता दें कि सफाई कर्मियों की हड़ताल के कारण शहर की स्थिति पूरी तरह नारकीय हो गई है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

तीन दिनों से कचरा का उठाव नहीं होने के कारण शहर में कोरोना जैसी महामारी की आशंका गंभीर हो गई है। मुख्य बाजार से होकर गुजरना लोगों के लिए मुश्किल साबित हो रहा है। सड़कों पर कचरा और जलजमाव के कारण लोगों का पैदल चलना भी मुश्किल है। मजदूर यूनियन अध्यक्ष अमित कुमार गोड़ ने बताया कि कोरोना काल में सभी कर्मी जान जोखिम में डालकर ईमानदारी पूर्वक काम करते हैं। कर्मचारियों को ना तो सुरक्षा किट मुहैया कराई गई है और ना ही कोरोना भत्ता, जीवन बीमा, अंतर वेतन(एरियर) का भुगतान, प्रोमोशन का लाभ व वेतन बढ़ोतरी ही की जा रही है। उन्होंने कहा कि जबतक नगर परिषद प्रशासन हमारी मांगों को पूरा नहीं करता है, तबतक हमारा आंदोलन व हड़ताल जारी रहेगी।

 38 वार्डों से रोज 15 ट्रैक्टर निकलता है कचरा

शहर के 38 वार्डों से रोज लगभग 15 ट्रैक्टर कचरा निकलता है। वर्तमान में घर-घर कचरा संग्रहण के लिए 16 ई रिक्शा नगर परिषद द्वारा खरीदी गई है। इनमें से 6 से 8 ई रिक्शा चालू हैं। शेष को नगर परिषद के गोदाम में शो-पीस के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है। सफाई के लिए नगर परिषद में 49 नियमित व 250 दैनिक वेतनभोगी कर्मी हैं। कचरा उठाने के लिए तीन ट्रैक्टर व 2 टिप्पर हैं। सफाई कर्मियों में बड़ी संख्या में महिलाएं भी शामिल हैं, जो सुबह 5 बजे से सड़कों पर झाड़ू लगाती नजर आती हैं। ट्रैक्टर व टिप्पर सुबह 8 बजे के बाद कचरा उठाने के लिए निकलते हैं। दोपहर 12 बजे तक शहर का कचरा डंपिग स्थल पर पहुंच जाता है, लेकिन लगातार तीन दिनों से कचरा का उठाव नहीं होने के कारण शहर की स्थिति बदतर हो गई है।

क्या कहते हैं जिम्मेदार

रामनवमी को लेकर बुधवार को कार्यालय बंद रहने के कारण सफाईकर्मियों से बात नहीं हो पाई है। कार्यालय खुलने के बाद सफाईकर्मियों से बातचीत कर हड़ताल को समाप्त कराया जाएगा। साथ ही कचरे का उठाव कराया जाएगा।
सिधु सिंह, सभापति, नगर परिषद सिवान।