सिवान: सबसे अधिक सोये अवस्था में काटता है करैत सांप

0
sanp

सुरक्षित शनिवार के तहत बच्चों को दी गयी जानकारी

परवेज अख्तर/सिवान: सुरक्षित शनिवार कार्यक्रम के तहत प्राथमिक विद्यालय मझवलिया में शिक्षक राकेश कुमार सिंह के नेतृत्व में हजार्ड हंट की पहचान करते हुए इससे निबटने के उपाय बताए गये. शिक्षक ने बताया कि हजार्ड और हंट दो शब्दों से बना है. इसमें हजार्ड का अर्थ होता है जोखिम और हंट का अर्थ होता है पहचानना, अर्थात जोखिम को पहचानना. उन्होंने कहा कि कहीं भी जोखिम की पहचान पहले कर लिया जाय एवं उसका समाधान समय रहते पहले कर लिया जाय तो खतरा को टाला जा सकता है. बताया कि आजकल का मौसम ठनका, सर्पदंश, बाढ़, आंधी आदि का ज्यादा है. पूरे बरसात में सर्पदंश से बचना बहुत जरूरी है. विशेषकर जुलाई-अगस्त महीने में करैत का दंश बढ़ जाता है. यह सर्प 98 प्रतिशत मामलों में रात को सोए अवस्था में काटता है. अत्यंत विषैले इस सर्प से बचाव के लिए मच्छरदानी अवश्य लगाएं. रात्रि में टार्च का उपयोग अवश्य करें.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-14 at 9.16.03 PM
WhatsApp Image 2022-08-14 at 9.24.37 PM
WhatsApp Image 2022-08-14 at 9.13.39 PM
WhatsApp Image 2022-08-14 at 9.18.57 PM

इस सर्प के दंश में व्यक्ति सोया रह जाता है. इसलिए जमीन पर न सोएं. अगर जमीन के अलावा कोई विकल्प न हो तो मच्छरदानी अवश्य लगाएं. अगर किसी को सर्प ने काट लिया है तो संभव हो तो उस सांप का फोटो खींच कर हास्पीटल जाएं. सर्प पर टार्च की रोशनी पड़ते ही वह वहीं रूक जाता है. इसी तरह ठनका के समय पक्के मकान में आश्रय लें. पेड़ और बिजली के तार से दूर रहें. अगर खुले स्थान पर हैं तो उकड़ू बैठ कर दोनों हाथों से कान बंद कर सिर झुका लें. इन सबके अलावे भूकंप, आगलगी, सड़क दुर्घटना, लू, भगदड़ आदि पर भी चर्चा की गयी.

वही उत्क्रमित मध्य विद्यालय घरथवलिया में प्रधानाचार्य जयप्रकाश सिंह, वर्तवलिया में रामानंद सिंह, वर्तवलिया कन्या में सुनील सिंह, कोदई में रामेश्वर सिंह, मध्य विद्यालय सहलौर में नागेंद्र मांझी, उखई पूर्वी में रवींद्र सिंह, पश्चिमी में अजय कुमार, प्रेमहाता में अतुल श्रीवास्तव, तरवारा में कुमारी मुन्नी, पिपरा में रमाशंकर सिंह, मठनपुरा में इंद्रदेव राम के नेतृत्व में कार्यक्रम आयोजित किए गये. मौके पर कृष्ण भगवान पांडे, जनार्दन प्रसाद, प्रशांत चंद्र, हरेकृष्ण सिंह, भूपेश कुमार, व्यासमुनी प्रसाद, अनिल सिंह, शशि भूषण सिंह सहित सभी शिक्षक छात्र उपस्थित थे.