सिवान: 21 लाख रुपये गबन का दो लोगों पर प्राथमिकी दर्ज

0
fir

परवेज अख्तर/सिवान: नगर थाने में सिक्योर वैल्यू इंडिया लिमिटेड मुजफ्फरपुर ब्रांच के मैनेजर सुभाष कुमार ने अपने ही दो कर्मचारी के ऊपर 21 लाख रुपये गबन का प्राथमिकी दर्ज कराया है. उन्होंने यह आरोप लगाया है कि शहर के स्टेशन रोड स्थित कृष्णा सिनेमा के सामने केनरा बैंक के एटीएम में कंपनी के कार्यकाल मे दो कस्टोडियन द्वारा अपने सेवा कार्याकाल के दौरान केनरा बैंक एटीएम मशीन जे डिस्पेंसर पैटर्न को मैनुअली बड़ा काउंटर के साथ छेड़छाड़ कर रुपए की गबन की गई है. इस संदर्भ में मुजफ्फरपुर ब्रांच मैनेजर सुभाष चंद्र ने अपने आवेदन में कहा है कि मेरे ही कंपनी का सभी सरकारी एवं गैर सरकारी बैंकों का एवं एमएसपी के द्वारा कैश मैनेजमेंट का कार्य मिला हुआ है. सीवान का लोकेशन मुजफ्फरपुर ब्रांच के अंदर की देख रेख होती है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

कंपनी में दो स्टेडियम जिम्मेवारी शैलेश कुमार और जय शंकर के द्वारा केनरा बैंक सिवान के कैश निकासी करना एवं उस कैश को केनरा बैंक एटीएम जोकि कृष्णा सिनेमा हॉल के समीप स्थित है उसमें कैश डालने की पूरी जिम्मेवारी दोनों कस्टोडियन की थी.बीते 3 जून को कैनरा बैंक के अधिकारियों द्वारा ईमेल के माध्यम से इसकी सूचना एमएसपी की ईपीएस को दिया गया.उसके बाद ईपीएस के द्वारा इस घटना की सूचना सिक्योर वैल्यू इंडिया लिमिटेड कंपनी के हेड क्वार्टर ऑफिस मुंबई को दी गई. इस घटना की जांच पड़ताल कंपनी के द्वारा एवं एमएसपी और बैंकों से छानबीन करने से पता चला कि यह दोनों कस्टोडियन शैलेश कुमार एवं जयप्रकाश के द्वारा अपने सेवाकार्यकाल के दौरान केनरा बैंक एटीएम से 22 जनवरी 21 को डिस्पेंसर पैटर्न को मैनुवली काउंटर के साथ छेड़छाड़ कर 12 लाख रुपए मशीन के काउंटर में बढ़ाकर गबन कर लिया गया.

इसके 17 अप्रैल 21 को भी दोनों कस्टोडियन शैलेश कुमार और जयशंकर के द्वारा अपने ही सेवा कार्यकाल के दौरान उसी केनरा बैंक की एटीएम में डिस्पेंसर पैटर्न को मैनुअली काउंटर के साथ छेड़छाड़ करते हुए पुनः मशीन में काउंटर में बढाकर 9 लाख रुपये की गबन कर लिया गया .यानी दोनों बार में कस्टोडियन द्वारा 21 लाख की गबन की गई है.मुजफ्फरपुर मैनेजर सुभाष कुमार दोनों कस्टोडियन पर प्राथमिकी दर्ज कराते हुए उचित करवाई कर गबन की राशि जल्द से जल्द बरामद करने की गुहार लगाई है.