सिवान: स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही, आपदा को नहीं भेजी कोविड से मृत लोगों की सूची

0

परवेज अख्तर/सिवान: कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत को भी आपदा के तहत शामिल किया गया है। कोविड से हो रही मौत के बाद आपदा राहत कोष से मृतक के परिजनों को मुख्यमंत्री राहत कोष से निर्धारित 4 लाख की सहायता राशि दी जा रही है, लेकिन विभागीय लेटलतीफी के चक्कर में कोविड 19 से मृत व्यक्तियों के आश्रितों को प्रोत्साहन राशि मिलने में देरी हो रही है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

जिला आपदा विभाग कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार पिछले वर्ष से अभी तक मात्र 48 मृत व्यक्तियों की सूची प्राप्त हो पाई है। इसमें से 31 मृतकों के आश्रितों को प्रोत्साहन राशि का भुगतान भी किया जा चुका है। स्वास्थ्य विभाग इसके प्रति कितना लापरवाह बना हुआ है यह इसी बात से स्पष्ट हो जाता है कि अब तक विभाग ने इस वर्ष कोविड से हुई मौत की जानकारी आपदा प्रबंधन विभाग को उपलब्ध नहीं कराई है।

35 में से 31 मृतकों के परिजनों को दी जा चुकी है प्रोत्साहन राशि

जिला आपदा विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार वर्ष 2020 में कुल 48 लोगों की कोरोना वायरस संक्रमण से मौत हुई है। इसमें से 35 मृत व्यक्तियों के लिए चार लाख रुपये के हिसाब से 1 करोड़ 40 लाख रुपये विभाग से आवंटित किया गया था। इसमें से 31 मृत व्यक्तियों के परिजनों के बीच 1 करोड़ 24 लाख रुपये प्रोत्साहन राशि वितरित भी कर दिया गया है। वहीं विभिन्न कारणों से शेष बचे चार व्यक्तियों के स्वजनों को प्रोत्साहन राशि नहीं मिल पाई है। गौरतलब हो कि एक मृतक के अन्य दूसरे जिला नवादा का निवासी होने के कारण प्रोत्साहन राशि नहीं मिल पाई। वहीं एक मृतक की पत्नी का अन्यत्र शादी कर लेने, दूसरे मृतक की दो शादियां होने व पूर्व पत्नी से जनित बच्चे तथा दूसरी पत्नी द्वारा आश्रित होने का दावा करने तथा तीसरे मृतका की बैंक विवरणी नहीं मिलने के कारण प्रोत्साहन राशि का भुगतान लंबित है।