सिवान सदर विधायक श्री अवध बिहारी चौधरी के दामाद हैं अपराधियों के निशाने पर, पुलिस प्रशासन बेखबर !

0
  • परिजनों को आहट मिलते हीं हो गए हैं खौफजदा
  • सदर विधायक के रिश्तेदार का चर्चित दवा का दुकान सदर अस्पताल गेट के सामने सद्भावना मेडिकल हॉल के नाम से होता है संचालित
  • पूर्व में अज्ञात अपराधियों द्वारा दवा दुकान पर रंगदारी को लेकर चलाई जा चुकी है गोली
  • रंगदारों ने जेल के गेट पर 5 लाख रुपए पहुंचाने की बात की थी

✍️ परवेज अख्तर/एडिटर इन चीफ:
पूर्व काबीना मंत्री सह वर्तमान सदर विधायक श्री अवध बिहारी चौधरी के रिश्तेदार में दामाद जो सिवान में सक्रिय अपराधियों के निशाने पर हैं ! इनके साथ कब क्या हो जाए,यह किसी को मालूम तक नहीं।हालांकि परिजनों को पूर्ण रूप से उम्मीद है कि हम सभी पर अपराधियों की बुरी नजर है।उधर अपराधियों के भय के कारण परिजनों ने बिहार स्तर से लेकर जिला स्तर तक के पुलिस जगत के आला पुलिस पदाधिकारी को एक लिखित आवेदन देकर सूचनार्थ करते हुए सुरक्षा की गुहार लगाई है।यहां बताते चलें कि पूर्व काबिना मंत्री सह सदर विधायक श्री अवध बिहारी चौधरी के रिश्ते में दामाद श्री अजय कुमार है जो सिवान शहर के एक चर्चित दवा व्यवसाई भी हैं।जिनका प्रतिष्ठान सिवान सदर अस्पताल के मुख्य गेट पर सद्भावना मेडिकल हॉल के नाम से संचालित होता है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-14 at 9.16.03 PM
WhatsApp Image 2022-08-14 at 9.24.37 PM
WhatsApp Image 2022-08-14 at 9.13.39 PM
WhatsApp Image 2022-08-14 at 9.18.57 PM

WhatsApp Image 2022 07 01 at 9.15.31 PM

सद्भावना मेडिकल हॉल पर बीते 13/1/2021 को संध्या 7: 45 बजे अज्ञात अपराधियों द्वारा 5 लाख रंगदारी की मांग पूरी नहीं करने पर संचालक श्री अजय कुमार पर पिस्टल से फायरिंग कर मौत के घाट उतारने का प्रयास किया गया था।परंतु वे भगवान भरोसे बच गए थे।और घटना को कारित करने के बाद बाइक सवार सशस्त्र अपराधी मौके का लाभ उठाकर आसानी से हथियार लहराते हुए फरार हो गए थे।रंगदारी मांगने वाले अपराधी 5 लाख नगद रुपया जेल गेट पर पहुंचाने की बात एक पर्ची के माध्यम से कही थी। जिस पर्ची को अपराधियों द्वारा दुकान में फेंका गया था।उधर जैसे इस घटना की सूचना सिवान के तत्कालीन पुलिस अधीक्षक को मिली तो मौके वारदात पर तुरंत नगर थाना पुलिस समेत कई वरीय पुलिस पदाधिकारी समेत कई प्रशासनिक पदाधिकारी मौके वारदात पर पहुंचकर घटना की तहकीकात करते हुए पीड़ित श्री अजय कुमार के लिखित आवेदन पर अज्ञात अपराध कर्मियों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कर गहराई पूर्वक अनुसंधान प्रारंभ कर दी गई थी।

जो मामला अभी न्यायालय में विचाराधीन है।यहां बताते चलें कि पीड़ित श्री अजय कुमार जो राजद के दिग्गज नेता सह सदर विधायक श्री अवध बिहारी चौधरी के रिश्ते में दामाद लगने की बात बताई जा रही है।वहीं सिवान से भाजपा के पूर्व सांसद सह पार्टी के शीर्ष नेता श्री ओम प्रकाश यादव के पीड़ित श्री अजय कुमार रिश्तेदार भी लगते हैं। उधर उक्त घटित घटना के बाद सारण रेंज के पूर्व डीआईजी एवं तत्कालीन पुलिस अधीक्षक सिवान के आदेशानुसार पीड़ित चर्चित दवा व्यवसाई श्री अजय कुमार को एक बॉडीगार्ड तथा दुकान की सुरक्षा हेतु एस्टैटिक गार्ड प्रतिनियुक्त किया गया था।यहां बताते चले कि दिनांक 17/6/2022 को पीड़ित चर्चित दवा व्यवसाई श्री अजय कुमार का बॉडीगार्ड तथा दुकान की सुरक्षा हेतु लगे स्टैटिक हटा दिया गया है।

उधर सुरक्षा तथा एस्टैटिक में लगे पुलिस टीम को हटाए जाने के बाद पीड़ित चर्चित दवा व्यवसाई श्री अजय कुमार के परिजन खौफजदा की जिंदगी जी रहे हैं और जिला पुलिस प्रशासन बेखबर बनी हुई है।उधर सुरक्षा तथा एस्टैटिक में लगे पुलिस टीम को हटाए जाने के बाद चर्चित दवा व्यवसाई श्री अजय कुमार के रिश्तेदार दुकान की चारो बगल प्राइवेट असलहा लेकर पहरा करने पर आतुर हैं।लेकिन परिजनों के दिलों से अपराधियों का खौफ निकलने का नाम नहीं ले रहा है।बहरहाल मामला चाहे जो हो इस मसले पर जिला पुलिस प्रशासन तनिक भर भी लापरवाही बरती तो पूर्व काबीना मंत्री सह सदर विधायक श्री अवध बिहारी चौधरी के दामाद अपराधियों के निशाने पर पुनः हो सकते हैं।

इससे कहीं दूर दूर तक इनकार नहीं किया जा सकता है ! वहीं इस मसले पर राजद के कई शीर्ष नेताओं ने खुलकर कहा कि अगर घटना की पुनरावृति होती है तो इसकी सारी जिम्मेदारी पुलिस जगत के आला पुलिस पदाधिकारी की होगी। क्योंकि सदर अस्पताल के मुख्य गेट पर प्रतिष्ठान होने के नाते मरीजों के सहूलियत के लिए दुकानें देर रात तक खुली रहती है।जिस कारण प्रतिष्ठान के मालिक श्री अजय कुमार पर हमेशा खतरा बना रहता है।उधर राजद के एक शीर्ष नेता ने नाम न छापने के शर्त पर बताया कि अगर घटना की पुनरावृत्ति होती है तो सड़क से लेकर सदन तक हंगामा होगा की आखिर किसके इशारे पर पूर्व काबीना मंत्री सह सदर विधायक श्री अवध बिहारी चौधरी के दामाद के गार्ड तथा स्टैटिक को हटाई गई थी। राजद के शीर्ष नेता ने स्पष्ट रूप से कहा है कि कहीं हो सकता है कि एक षड्यंत्र व साजिश रच कर हत्या करने की नियत से ऐसी करतूत की गई है।राजद के शीर्ष नेता ने जिला पुलिस प्रशासन से जांच कर सुरक्षा के दृष्टिकोण से कोई ठोस कदम उठाने की मांग की है।