दिव्यांग प्रमाण पत्र बनवाने में दिव्यांगों के छूटे पसीने

0

परवेज़ अख्तर/सीवान:- जिले के सिसवन प्रखंड मुख्यालय पर गुरुवार को दिव्यांग प्रमाण पत्र बनवाने के लिए लगे शिविर में भारी कुव्यवस्था सामने आई।कुव्यवस्था इस कदर इस थी कि दिव्यांगों को भी प्रमाणपत्र बनवाने में पसीने छूट गए। सैकड़ों की संख्या में अपने परिजनों के साथ दिव्यांग एवं उसके परिजन काफी परेशान दिखे। ग्यासपुर निवासी कबूतरा देवी ने कहा कि लाइन में करीब दो घंटे से खड़ी हूं, लेकिन मेरा नंबर ही नहीं आ रहा। चटेया से आए हरिकिशन यादव ने कहा कि अपने दिव्यांग पोते को लेकर दो घंटे से खड़ा हूं, मेरे पीछे वाले जांच कराकर चले गए, लेकिन मेरा नंबर ही नहीं आ रहा है। दो बजे तक दिव्यांग प्रमाणपत्र के लिए एक सौ आवेदन लिए जा चुके थे। शिविर में दिव्यांगों के जांच के लिए सिवान से आए डॉ. मुक्तिनाथ प्रसाद, डॉ. नागेंद्र शर्मा सहित चार डॉक्टर शामिल थे। वहीं दूसरी ओर पचरुखी प्रखंड मुख्यालय स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में बुधवार को दिव्यांगता जांच शिविर का आयोजन किया गया, जिसमें दिव्यांगों की जांच कर उन्हें दिव्यांगता का प्रमाण पत्र वितरित किया गया। शिविर में ईएनटी विशेषज्ञ डॉ. प्रदीप कुमार ने बताया कि प्रखंड स्तर पर शिविर लगाया जा रहा है। इसका लाभ प्रखंडों के दिव्यांग अपने-अपने प्रखंड मुख्यालय स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में लगने वाले शिविर में लाभ उठा सकते हैं। शिविर में डॉ. अनिल कुमार सिंह, डॉ. सुमित कुमार, डॉ. मुक्तिनाथ सिंह एवं प्रभारी चिकित्सक पचरुखी डॉ. सुरेंद्र प्रसाद उपस्थित थे। शिविर में दो सौ आवेदन जमा हुए थे जिसमें जांचोंपरांत सौ दिव्यांगों के बीच प्रमाण पत्र का वितरण किया गया।