सड़क दुर्घटना में पुत्र की मौत, पिता गंभीर

0
accident

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के जी. बी. नगर थाना के तरवारा बाजार स्टेट बैंक के सामने शुक्रवार की देर शाम पिकअप की टक्कर से बाइक सवार पिता-पुत्र गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों को इलाज के लिए आनन फानन में सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां गंभीर अवस्था में पुत्र को चिकित्सकों ने इलाज के लिए पटना रेफर कर दिया लेकिन पटना जाने के क्रम में ही उसकी मौत हो गई। वहीं बाइक पर पीछे बैठे पिता की हालत गंभीर है। मृतक की शिनाख्त जीरादेई थाना का नवलपुर निवासी विशाल कुमार (22) के रूप में हुई। वहीं घायल मृतक के पिता सुनील प्रसाद (49) हैं। सुनील प्रसाद झारखंड के रांची में सीआरपीएफ में हेड कांस्टेबल के पद पर कार्यरत हैं। इसकी सूचना परिजनों ने झारखंड पुलिस को दे दी है। वहीं घटना के बाद से पिकअप चालक गाड़ी लेकर फरार हो गया। घटना के संबंध में बताया जाता है कि शुक्रवार की शाम जीरादेई के नवलपुर निवासी सुनील कुमार अपने पुत्र विशाल कुमार के साथ बाइक से जीबी नगर के रउजा गौर में एक व्यक्ति से मिलकर अपने घर लौट रहे थे। तभी तरवारा स्टेट बैंक के सामने तेज गति से मलमलिया की ओर जा रही पिकअप ने उनकी बाइक में टक्कर मार दिया जिससे पिता-पुत्र गंभीर रूप से घायल हो गए। इसी बीच उधर से गुजर रहे एक राहगीर ने इसकी सूचना स्थानीय पुलिस को दी। घटना की सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस घटनास्थल पर पहुंच गई और घायलों को इलाज कराने के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस का सहयोग मौके पर मौजूद संकल्प ट्रस्ट के अध्यक्ष श्रीनिवास यादव ने किया। पुलिस ने क्षतिग्रस्त बाइक को थाना लाया। इधर नगर थाने के पुलिस पदाधिकारियों ने शनिवार को सदर अस्पताल पहुंच मृतक के परिजनों का फर्द बयान दर्ज कर कॉपी स्थानीय पुलिस को सौंप दिया। जानकारी के अनुसार घायल पिता का इलाज एक निजी क्लीनिक में चल रहा है। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौंप दिया। विशाल की मौत के बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

संकल्प ट्रस्ट अध्यक्ष ने की मुआवजे की मांग

संकल्प ट्रस्ट के अध्यक्ष श्रीनिवास यादव ने घायलों को इलाज कराने में मदद की। उन्होंने मृतक के परिजनों को आपदा के तहत चार लाख रुपये,श्रम विभाग से एक लाख रुपये उचित मुआवजा की मांग की है तथा मृतक के घायल पिता को विभाग से उचित इलाज कराने की मांग की है। ज्ञात हो कि सीआरपीएफ रांची में काम करते हैं।