एसपी साहब,आपके जामो थाना की पुलिस: धनोज राम के हत्यारों के गिरफ्तारी के लिए अंधेरे घर में लाठी पीट रही है

0
  • 26 वर्षीय धनोज राम की तेजाब डालकर की गई थी निर्मम हत्या
  • जामो थानाध्यक्ष सूरज प्रसाद के छुट्टी पर चले जाने के दौरान हुई थी घटना
  • मृतक वेल्डिंग का काम कर परिवार का करता था लालन- पोषण
  • मृतक के 3 वर्षीय माशूम युवराज के जीवन पर लगा ग्रहण, अब कौन करेगा लालन- पोषण ?
  • शव की पहचान के बाद पुलिस ने दी थी परिजनों को सूचना
  • घटना :- जामो थाना क्षेत्र के हेतिमपुर गांव का

परवेज़ अख्तर/सीवान:- एसपी साहब आखिर कब तक पुलिस गिरफ्त में होंगे मेरे पति के हत्यारे, क्या मुझे न्याय मिल पाएगा स्थानीय पुलिस से ? यह सवाल जिले के जामो थाना क्षेत्र के हरिहरपुर कला गांव निवासी विधवा रविता देवी की है।जो अपने पति के हत्यारे के गिरफ्तारी के लिए दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर है।इसके बावजूद स्थानीय थाना पुलिस पर इसका कोई असर साफ तौर पर नहीं दिख रहा है।घटना बीते रविवार की दोपहर की है।और पुलिस आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए अंधेरे घर में लाठी पीट रही है।यहां बताते चले कि घटना के 2 दिन पूर्व हरिहरपुर कला गांव निवासी 26 वर्षीय धनोज राम नामक व्यक्ति जो अपने घर अपने स्वजनों से बोलकर पास के एक बाजार में साइकिल बनवाने के लिए   निकला हुआ था।लेकिन वह समय से घर नहीं लौटा।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
ads

समय से घर नहीं लौटने पर परिजनों ने उसकी काफी तलाश की परंतु उसका कहीं सुराग नहीं लगा।इसी क्रम में बीते रविवार की दोपहर स्थानीय थाना पुलिस द्वारा धनोज राम का शव बरामद होने की सूचना उसके स्वजनों को मोबाइल पर दी थी।सूचना पाते ही उसके परिवार के कई सदस्य घटनास्थल पर पहुंचे।तथा शव की पहचान करने के बाद परिजन घटनास्थल पर दहाड़ मार रोने बिलखने लगे।बाद में पुलिस ने पंचनामा के आधार पर पानी में तैरते हुए शव को ग्रामीणों के सहयोग से काफी मशक्कत के बाद निकाला।तथा बाद में शव को पोस्टमार्टम के लिए सिवान सदर अस्पताल भेज दिया था।पोस्टमार्टम रिपोर्ट देने वाले चिकित्सा पदाधिकारी डॉ अहमद अली ने बताया कि पोस्टमार्टम के प्रथम रिपोर्ट में शव को देखने से ऐसा प्रतीत हो रहा था कि हमलावरों द्वारा इसे रस्सी से बांधकर पहले पिटाई की गई है।

बाद में उसके चेहरे व अन्य कई स्थानों पर कोई ज्वलनशील पदार्थ डालकर शिनाख्त मिटाने की कोशिश की गई है।शव भी सड़ चुका था।बहरहाल चाहे जो हो हत्या कैसे हुई है इसकी जानकारी पूर्ण रूप से पोस्टमार्टम रिपोर्ट पुलिस को सौंपे जाने के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा कि धनोज राम की हत्या किसी ज्वलनशील पदार्थ डालकर की गई है या उसे बेरहमी से पीट पीट कर हत्या कर साक्ष्य मिटाने के उद्देश्य से उसके शव को उक्त स्थान पर फेंक दिया गया था।उधर इस घटना को लेकर पुलिस ने मृतिका की पत्नी रविता देवी के आवेदन पर हरिहरपुर कला गांव निवासी हरेंद्र मांझी  व अन्य अज्ञात के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है।हरेंद्र मांझी जो गांव के हजारी मांझी का बेटा है।दर्ज प्राथमिकी में मृतिका की पत्नी ने अपने पति की हत्या कर शव को फेंकने का आरोप लगाया है। घटना उस समय घटी जब थानाध्यक्ष सूरज प्रसाद छुट्टी पर चले गए थे इसी दरमियान यह घटना घटित हुई।

मृतक के 3 वर्षीय माशूम बच्चा के जीवन पर लगा ग्रहण ?

निर्दयी हत्यारा मृतक के 3 वर्षीय माशूम युवराज कुमार के जीवन पर प्रश्नचिन्ह लगा दिया है।अब उसका लालन- पोषण कौन करेगा ?मृतक बाहर में वेल्डिंग का काम कर अपने परिवार का भरण पोषण करता था। मृतक के भाई रमेश कुमार ने बताया कि 3 माह पूर्व गांव के ही हजारी मांझी के घर से पैसे के लेनदेन को लेकर विवाद हुआ था।इसी क्रम में हजारी मांझी तथा उनके परिजनों ने मेरे भाई को अंजाम भुगतने की धमकी दी थी।हजारी मांझी ने अपने परिजनों संग मिलकर मेरे भाई की बेरहमी से हत्या कर साक्ष्य मिटाने के उद्देश्य से उसके शव को हेतिमपुर गांव के चँवर में फेंक दिया था। मृतक के पिता नारायण राम अब भी अपने खोए हुए लाडले के ग़म से नहीं उबर पाए हैं। वही मां भागमनी देवी का भी रोते-रोते बुरा हश्र हो चुका है।

क्या कहते हैं थानाध्यक्ष

जामो थानाध्यक्ष सूरज प्रसाद ने कहा कि मृतक की पत्नी रविता देवी के आवेदन पर प्राथमिकी दर्ज कर कांड में शामिल नामजद आरोपी के गिरफ्तारी के लिए संदिग्ध ठिकानों पर छापेमारी जारी है।उसके गिरफ्तारी के बाद ही यह स्पष्ट हो पाएगा कि घटना में अन्य कौन-कौन से लोग शामिल थे।श्री प्रसाद ने बताया कि उक्त घटना को लेकर दो पहलुओं पर अनुसंधान किया जा रहा है।अनुसंधान के क्रम में कुछ अहम सुराग मिले हैं।जल्द ही इसका खुलासा कर लिया जाएगा। इसके आगे अनुसंधान में बाधा पहुंचने के कारण कुछ भी बताने से साफ तौर पर इंकार किया है। वही इस संदर्भ में दर्ज कांड के अनुसंधानकर्ता अवर निरीक्षक प्रवीण कुमार से संपर्क करने की कोशिश की गई परंतु उनसे संपर्क नहीं हो सका।