सिवान ऑनलाइन न्यूज का हुआ काफी असर : महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म मामले का वीडियो बनाने वाले युवक को पुलिस ने धर दबोचा

0
  • पीड़ित महिला को भी काफी मशक्कत के बाद ढूंढ निकाली है पुलिस ने
  • घटना में शामिल चार आरोपियों को पुलिस ने पूर्व में भेज चुकी है जेल
  • आंदर सर्किल इंस्पेक्टर रणधीर कुमार के नेतृत्व में हो रही थी छापेमारी
  • सीवान ऑनलाइन न्यूज़ से पुलिस महकमे में मची थी खलबली
  • मामला: आंदर थाना क्षेत्र का

परवेज़ अख्तर/सीवान : सिवान जिले के आंदर थाना क्षेत्र के एक गांव में विगत दिनों हुए सामूहिक दुष्कर्म के मामले में वीडियो बनाने वाले युवक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।पुलिस उसे 67आईटी एक्ट के अंतर्गत गिरफ्तार किया है।पुलिस घटना की सत्यता के लिए तथा कांड के आरोपित होने के नाते सरगर्मी से तलाश कर रही थी। यहां बताते चलें कि बीते मंगलवार एसपी नवीन अभिनव कुमार के निर्देश के आलोक में एसआईटी टीम ने आंदर प्रभाग के सर्किल इंस्पेक्टर रणधीर कुमार के नेतृत्व में छापेमारी कर जिले के अलग-अलग स्थानों से चार आरोपियों को गिरफ्तार कर पुलिस ने बुधवार को जेल चुकी है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
ads
adssss

इस घटना को लेकर आंदर थानाध्यक्ष कैप्टन शाहनवाज के फर्द बयान के आधार पर आंदर थाना कांड संख्या 146/20 दर्ज की गई है. जिसमें कुल सात लोगों को आरोपित किया गया है. इसी मामले में पुलिस ने दुष्कर्म की घटना का वीडियो बनाने वाले युवक को सरगर्मी से तलाश कर रही थी।आंदर प्रभाग के सर्किल इंस्पेक्टर रणधीर कुमार ने बताया कि 67 आईटी एक्ट के तहत धाराओं के अंतर्गत वीडियो बनाने वाले युवक को आरोपित किया गया था। जिसे गिरफ्तार किया गया है।उन्होंने बताया कि इसके पूर्व अन्य चार लोगों को 376(D) भा.द.वी. के अंतर्गत जेल भेजा जा चुका है।

कांड के सभी आरोपितों को स्पीडी ट्रायल के तहत सजा दिलाने को लेकर पुलिस ने पीड़ित महिला को भी काफी मशक्कत के बाद ढूंढ निकाली है। खबर लिखे जाने तक वीडियो बनाने वाले युवक तथा पीड़ित महिला का जांच सिवान के सदर अस्पताल में हो रहा था। यहाँ बताते चलें कि उक्त घटना की खबर सीवान ऑनलाइन न्यूज़ ने बड़ी ही प्राथमिकता पूर्वक चलाई थी। खबर चलाए जाने के बाद पुलिस महकमे में खलबली मची हुई थी। उक्त खबर को संज्ञान में लेते हुए एसपी अभिनव कुमार ने एक पुलिस टीम का गठन कर छापेमारी कर सभी आरोपितों तथा पीड़ित महिला को हिरासत में लेने का दिशा निर्देश दिए थे।जिसके आलोक में यह बड़ी करवाई आंदर प्रभाग के सर्किल इंस्पेक्टर रणधीर कुमार के नेतृत्व में की गई है।