‘दर्द’ जब हद से बढ़ा तो भावुक हो उठे तेज प्रताप, मां राबड़ी देवी और दीदी मीसा भारती के बहाने कही यह बात

0

पटना: तारापुर और कुशेश्वर स्थान में हो रहे विधानसभा उपचुनाव के लिए राष्ट्रीय जनता दल ने अपने स्टार प्रचारकों की सूची जारी कर दी. इसमें जहां पहले नंबर पर लालू प्रसाद यादव तो दूसर नंबर पर तेजस्वी यादव का नाम है. लेकिन, चौंकाने वाली बात यह है कि इस सूची से खुद को सेकेंड लालू बताने वाले तेज प्रताप यादव का नाम नदारद है. इसी तरह पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और तेज प्रताप-तेजस्वी की बड़ी बहन मीसा भारती का भी नाम राजद प्रचारकों की सूची में नहीं है. अब इसी बात पर तेज प्रताप यादव का दर्द छलक आया है और उन्होंने इसको लेकर ट्वीट किया है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

तेज प्रताप यादव ने अपने ट्वीट में लिखा, ऐ अंधेरे देख ले मुंह तेरा काला हो गया. मां ने आँखें खोल दीं, घर में उजाला हो गया… मेरा नाम रहता ना रहता मां और दीदी का नाम रहना चाहिए था. इस गलती के लिए बिहार की महिलाएं कभी माफ नहीं करेगीं. दशहरा में हम मां की ही अराधना करतें हैं ना जी!

राजद के स्टार प्रचारकों की सूची शेयर करते हुए तेज प्रताप यादव ने ट्वीट किया

tej pratap tweet

बता दें कि स्टार प्रचारकों की सूची में तीसरे नंबर पर अब्दुल बारी सिद्दिकी का नाम है. चौथे नंबर पर जयप्रकाश नारायण यादव, पांचवें पर उदय नारायण चौधरी, छठे पर श्याम रजक, सातवें पर भोला यादव, आठवें पर वृषण पटेल, नवें पर ललित कुमार यादव और दसवें नंबर पर मनोज कुमार झा का नाम है.

राजद के स्टार प्रचारकों की सूची में 11वें नंबर पर तनवीर हसन, 12 में पर आलोक कुमार मेहता, 13वें पर शिवचंद्र राम, 14वें पर अनिल कुमार सहनी, 15 में पर श्रीमती लवली सिंह, 16वें पर चंद्रहास चौपाल, 17वें पर भरत बिंद, 18वें पर रामवृक्ष सादा, 19वें पर अनिल कुमार उर्फ साधु पासवान और 20वें नंपर बर भरत मंडल के नाम हैं.

यानी साफ है कि इस लिस्ट से मैं तेज प्रताप यादव का नाम कहीं नहीं है. ऐसे में एक तरह से यह आधिकारिक घोषणा मानी जा सकती है कि तेज प्रताप यादव का अब वह रुतबा राजद में नहीं रहा जैसा कि पहले वह बताते रहे हैं. हालांकि इस सूची में पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी एवं मीसा भारती का भी नाम नहीं है. पर सबसे अधिक चर्चा तेज प्रताप को इस सूची से बाहर किए जाने को लेकर है. लेकिन, तेज प्रताप ने अपना दर्द अपनी मां और राबड़ी देवी के नाम के बहाने बयां कर दिया है.