मौत का मंजर : एक किलोमीटर तक तेज रफ्तार में हिलती रही बस और फिर….

0
bus accident in siwan

परवेज अख्तर/सिवान : मुफ्फसिल थानाक्षेत्र के सिवान-गोपालगंज मुख्यमार्ग पर स्थित अमलोरी-सरसर गांव के समीप सोमवार की सुबह यात्रियों से भरी बस के चक्का के ब्लास्ट करने के बाद बस में दबकर सात लोगों की मौत हो गई। जबकि दो दर्जन से ज्यादा यात्री घायल हो गए। घायलों में गोपालगंज जिला के कुचायाकोट थानाक्षेत्र के सासामुसा खजूरी निवासी राजेंद्र प्रसाद, मनिंद्र प्रसाद, सासामुसा निवासी अमरेंद्र प्रसाद, बिरती टोला निवासी चुनमुन यादव, मैरवा थानाक्षेत्र के खरौनी निवासी वीरेंद्र प्रसाद की पत्नी सुदामी देवी, थावे थानाक्षेत्र के जगमलवा निवासी सोगरा खातून, मीरगंज थानाक्षेत्र के रेपुरा निवासी सीताराम प्रसाद के पुत्र राहुल कुमार, कुसौधी निवासी सोबर मियां के पुत्र मेंहदी हसन, इम्तेयाज की पत्नी नजमून खातून, हरपुर निवासी स्वामीनाथ प्रसाद की पत्नी रमावती देवी, मैरवा थानाक्षेत्र के सुमेरपुर निवासी गौरीशंकर चौहान के पुत्र आनंद कुमार चौहान, हुसैनगंज थानाक्षेत्र के मड़कन निवासी लक्ष्मण प्रसाद के पुत्र रवि कुमार साह, शत्रुघ्न भारती के पुत्र अमित कुमार भारती, एमएच नगर थानाक्षेत्र के पड़री निवासी रामाश्रय यादव की पत्नी सरस्वती देवी, उचकागांव थानाक्षेत्र के भीतभेरवा निवासी हरिलाल चौधरी, इस्लाम मियां के पुत्र जिकरुल्लाह, चवहीं निवासी मंकेश्वर प्रसाद, गोपालपुर निवासी कुंती साह के पुत्र बैरिस्टर साह, लुहसी निवासी गिरजा देवी, खरौली निवासी सुमेत साह के चार वर्षीय पुत्र बब्लू कुमार, पश्चिमी चंपारण के नौतन थानाक्षेत्र के मंगलपुर बेतिया निवासी रंगीला साह, उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद जिला के सोरांव थाना निवासी धर्मराज के पुत्र रवि कुमार, रघु प्रसाद के पुत्र राजकुमार, गाेरखपुर के सोनहुला निवासी कमला देवी, पडरौना निवासी चंद्रप्रकाश तिवारी, बलिया जिला के बांसडीह निवासी जब्बार अहमद की पत्नी खैरुन निशा, मुन्नी खातून, तौफिक आलम व उनकी पत्नी अर्श फातिमा व महक शामिल है। घायलों में से चार की स्थिति नाजुक देखते हुए चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के बाद पीएमसीएच रेफर कर दिया। वहीं मृतकों के शवों को पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया गया।

mahila ghayal

घटनास्थल पर मची चींख-पुकार

घटना के बाद जहां पूरे इलाके में अफरा-तफरी मच गई थी, वहीं घायलों द्वारा बचाव के लिए चींख-पुकार मची रही। घटना की सूचना पाकर काफी संख्या में लोग अपने संबंधियों की जानकारी लेने व हाल जानने के लिए सदर अस्पताल पहुंच रहे थे, इससे अस्पताल परिसर में लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई थी। घटना के बारे में बांसडीह निवासी महक नें बताया कि वह अपनी दादी खैरुन निशा के साथ बस की पिछली सीट पर सवार होकर लौट रही थी, तभी रास्ते में बस का टायर तेज आवाज के साथ ब्लास्ट कर गया और तेज रफ्तार की अनियंत्रित बस कब गड्ढे में पलट गई आैर क्या हुआ इसका अंदाजा भी नहीं लगा। जब होश आया तो पता चला कि अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है।today bus accident

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here