तरवारा में नितीश कुमार को चाकू मार मौत के घाट उतारने वाला प्राथमिकी दर्ज होने से पहले ही हुआ गिरफ्तार

0
nitish murder in tarwara
  • चौकी हसन धानुक टोला के दो मित्रों को दीनदयालपुर के युवक ने मारी थी चाकू
  • एक की मौत जबकि दूसरा है गंभीर रूप से घायल
  • घटना का पटाक्षेप करने के लिए जी. बी. नगर थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर श्री प्रमोद कुमार सिंह ने कई युवकों को लिया था हिरासत में

परवेज अख्तर/सिवान:
जिले के जी. बी. नगर थाना क्षेत्र के चौकी हसन धानुक टोला गांव मे बुधवार की देर रात चाकू से प्रहार कर चौकी हसन गांव निवासी दारोगा महतो के 19 वर्षीय पुत्र नीतीश कुमार महतो और मनोज मांझी के 17 वर्षीय पुत्र रौशन मांझी को दीनदयालपुर गांव निवासी सुरेश साह के पुत्र गोलू कुमार ने चाकू से प्रहार कर गंभीर रूप से घायल कर दिया था। घायल अवस्था में दोनों को ग्रामीणों के सहयोग से प्राथमिक उपचार के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया था। जहाँ ड्यूटी पर तैनात चिकित्सा पदाधिकारी ने नीतीश कुमार को मृत घोषित कर दिया था।वहीं घायल रौशन मांझी का ईलाज सदर अस्पताल के बाद रेफर कर दिया गया। मृतक के स्वजनों ने बताया कि नीतीश कुमार और रौशन कुमार मांझी दोनों मित्र हैं जो शौच करने के लिए खेत के तरफ गए थे। जहां से लौट कर गांव स्थित सड़क के किनारे पुल पर बैठ कर आपस में बात कर रहे थे की तभी दीनदयालपुर गांव निवासी गोलू कुमार वहां पहुँच गया और अचानक बकझक शुरू कर दी। इस मामूली बकझक में गोलू कुमार ने आग बबूला होकर दोनों मित्रों पर चाकू से हमला कर दिया। जिससे दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। जहां मौके वारदात पर एक ने तड़प तड़प कर अंतिम सांस ली। उधर घटना की सूचना जैसे ही जी.बी. नगर थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर श्री प्रमोद कुमार सिंह को मिली तो श्री सिंह ने घटना का पटाक्षेप करने के लिए इलाके में जाल बिछा डाला। इसी कड़ी में पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए घटना के मुख्य आरोपी दीनदयालपुर गांव के गोलू कुमार के साथ अभिषेक कुमार व शिबू कुमार समेत अन्य को घर से हिरासत में ले लिया। साथ ही घटना में प्रयुक्त चाकू को भी बरामद कर लिया। पुलिस द्वारा सभी को हिरासत में लेने के बाद बारीकी पूर्वक पूछताछ के दौरान यह पता चला कि गोलू कुमार ने घटना को अंजाम दिया है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

शव पहुंचते ही स्वजनों के हृदय विदारक चीत्कार से गूंज उठा मोहल्ला:

चाकू से गोद कर हत्या के बाद जब पोस्मार्टम करा कर मृतक नितीश कुमार का शव पैतृक गांव में गुरुवार की अल सुबह पहुँचते ही मृतक के पत्नी रूबी देवी, माता मुन्नी देवी, भाई पोलिन्दर महतो, तथा बहनों के हृदय विदारक चीत्कार से पूरा मोहल्ला गूंज उठा।और देखते ही देखते मृतक के दरवाजे पर ग्रामीणों का हुजूम उमड़ पड़ा।

मृतक की दो माह पूर्व हुई थी शादी:

मृतक नीतीश कुमार की शादी इसी वर्ष 24 मई को हुई थी। जिसको लेकर गांव के सभी लोगों मे चर्चा हो रही है की मृतक की पत्नी रूबी देवी का अब क्या हश्र होगा ! रूबी देवी की जिंदगी पर अब ग्रहण लग गया।

मृतक के पिता करते है मजदूरी:

मृतक नीतीश कुमार के पिता दारोगा महतो जो मजदूरी कर परिवार के लोगो का भरण पोषण करते है। अब उनके कंधे पर मृतक की पत्नी रूबी देवी का भी बोझ आ गया है।

घायल की भी हालत है नाजुक:

चाकू लगने से घायल चौकी हसन धानुक टोला गांव निवासी मनोज मांझी के 17 वर्षीय पुत्र रौशन कुमार का इलाज पटना के पीएमसीएच में चल रहा है। जहां पर रौशन कुमार की हालत भी नाजुक बनी हुई है और वह जिंदगी व मौत से जूझ रहा है। जिसको लेकर स्वजनों के साथ-साथ गांव में भी शोक की लहर है।

मृतक और घायल थे जिगरी मित्र:

मृतक नीतीश कुमार और इलाजरत घायल रौशन कुमार दोनों जिगरी मित्र थे जो एक साथ हीं रहते थे और कही भी जाते थे तो एक हीं साथ जाते थे।इसी क्रम में दोनों  बुधवार की रात्रि में एक साथ शौच करने के लिए खेत के तरफ गए थे।जहां से लौट कर दोनों मित्र गांव स्थित पुलिया पर बैठ कर मोबाइल चला रहे थे तभी वहां दीनदयालपुर गांव के गोलू कुमार पहुँच गया।और अचानक दोनों मित्रों से बकझक शुरू कर दी।और मामूली विवाद में चाकू से प्रहार कर नीतीश कुमार को मौत के घाट उतार दिया और दूसरे को भी घायल कर दिया।

क्या कहते हैं थानाध्यक्ष:

इस संदर्भ में थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर श्री प्रमोद कुमार सिंह ने बताया कि मृतक के स्वजनों के द्वारा अभी तक आवेदन नही दी गई है। आवेदन मिलने के बाद अग्रिम कानूनी कार्रवाई करते हुए गिरफ्तार अभियुक्त को पुलिस अभिरक्षा में जेल भेजा जाएगा।