मामी-भांजे में चल रहा था प्रेम प्रसंग, हुआ मामा का मर्डर, तीन गिरफ्तार

0

पटना: बिहार की राजधानी पटना से अवैध संबंधों में हुई हत्या की एक सनसनीखेज कहानी सामने आई है. मामी और रिश्ते में लगने वाले उसके भांजे की कहानी यह शुरू हुई है. इस प्रेम कहानी में विलेन बने मामा को भांजे ने दोस्त के साथ मिलकर मौत के घाट उतार दिया. जिससे मामी से उसका प्रेम प्रसंग आसानी से चलता रहे. यह मामला पटना के दीदारगंज थाना क्षेत्र के फतेहपुर का बताया जा रहा है. पुलिस ने मामले में खुलासा करते हुए गुरुवार को मृतक की पत्नी और उसके भांजे के अलावा उसके दोस्त को गिरफ्तार कर लिया है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

क्या है पूरा मामला

बीते दिनों दीदारगंज थाना क्षेत्र के फतेहपुर में एक अज्ञात युवक का शव बरामद किया गया था. पुलिस लगातार उस शव की पहचान करने में जुटी थी. अचानक एक दिन दीदारगंज थाना पहुंचे एक शख्स ने मृतक की तस्वीर देखकर पुलिस को बताया कि ये उसका भाई है. उसके बाद परिजनों ने पुलिस को बताया कि मृतक सूरज अपने ससुराल में रहता था और छह फरवरी से गायब था. परिजनों ने पुलिस को बताया कि कुछ दिनों से सूरज काफी परेशान रहता था.

पुलिस ने किया हत्याकांड का खुलासा

पटना एसएसपी ने इस मामले की विशेष टीम बनाकर जांच शुरू करवाई. उसके बाद जो सामने आया, वो रोंगटे खड़े कर देने वाला था. एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लों के मुताबिक छानबीन के दौरान मृतक सूरज की पत्नी से पूछताछ की गई, तो पुलिस को कुछ शक हुआ. उसके बाद कहानी खुलकर सामने आई. इस दौरान पुलिस को परिजनों ने बताया कि चार साल पहले सूरज की शादी खानपुर की रहने वाली काजल से हुई थी. इस दौरान दोनों को एक बच्चा भी हुआ. सबकुछ ठीक ठाक चल रहा था. बगल में रहने वाला भांजा अक्सर मामी से मिलने पहुंचता था. इसी बात को लेकर सूरज और उसकी पत्नी में झगड़ा होने लगा.

भांजे और मामी एक दूसरे से करते थे बेहद प्यार

पुलिस के मुताबिक मामा के काम पर जाने के दौरान भांजा अपनी मामी से मिलने आता था. दोनों एक दूसरे से बेहद प्रेम करते थे. ज्यादातर समय भांजा अपनी मामी के साथ रहता था. दोनों ने एक दूसरे से शादी करने का फैसला भी कर लिया. इसी बीच मृत सूरज शराब के केस में जेल चला गया. उसके बाद मामी और भांजे बेहद करीब आ गए.

जेल से आने के बाद सूरज को पत्नी की करतूत पता चली

सूरज जमानत पर जेल से बाहर आया और पत्नी की करतूत उसे पता चली. उसके बाद सूरज ने इसका विरोध किया. जैसे ही भांजे को इस बात का पता चला भांजे आकाश ने अपने दोस्त अजीत के साथ मिलकर मामा के हत्या की प्लानिंग की. सात फरवरी को आकाश अपने दोस्त अजीत के टेंपो पर मामा सूरज को बैठाया. तीनों ने जमकर शराब पी फिर प्लानिंग के तहत सूरज को अधिक शराब पिलाई. मामा जब पीकर बेहोश हो गया, तो आकाश ने धारदार हथियार से उसका गला रेत दिया. पुलिस ने हत्या में प्रयोग में लाए गए चाकू को बरामद कर लिया है और गिरफ्तार मामी, भांजा और उसके दोस्त को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.