जेल में तीन घंटे छापेमारी, मस्जिद वार्ड से बरामद हुआ मोबाइल व सिम 

0
siwan mandalkara

परवेज़ अख्तर/सिवान :- मंडल कारा में गुरुवार की देर रात करीब एक बजे से तीन बजे तक जिला प्रशासन के निर्देश पर एसडीओ अमन समीर व एएसपी कांतेश मिश्रा ने नेतृत्व में छापेमारी की गई। छापेमारी के दौरान जेल से दो मोबाइल, दो सिम, खैनी, सिगरेट सहित कई आपत्तिजनक सामग्री को बरामद किया गया। यह मोबाइल जेल के वार्ड संख्या 17 जिसे मस्जिद वाला वार्ड और वार्ड संख्या 15 से मोबाइल बरामद किया गया। अधिकारियों ने जेल के वार्ड संख्या 9,10,11 व 12 को छोड़कर सभी में तलाशी ली। इस दौरान वार्ड संख्या 15 से नगर थाना इंस्पेक्टर सुबोध  कुमार ने एक मोबाइल बरामद किया। यह मोबाइल हत्याकांड में जेल में बंद संजीत यादव के पास से बरामद किया गया। नगर इंस्पेक्टर ने वार्ड संख्या 14 से 17 और 21 में जांच किया। जबकि पूर्व सांसद जिस वार्ड में रहते थे उस वार्ड सहित अन्य की जांच एएसपी कांतेश मिश्रा, एसडीओ अमन समीर, मुफस्सिल थानाध्यक्ष ने की। इस दौरान सबने सबसे पहले शहाबुद्दीन जिस वार्ड में रहते थे उस वार्ड में वर्तमान में रह रहे एक बंदी के पास से मोबाइल बरामद किया गया। इसके बाद जांच के दौरान खैनी, सिगरेट भी अन्य वार्डों से बरामद की गई। सघन छापेमारी के दौरान हर वार्ड के बंदियों को बाहर निकाल दिया गया और उसके बाद उनके हर एक सामान को हटा हटा कर तलाशी ली गई। इधर बंदियों में जैसे ही जेल में छापेमारी की भनक लगी सभी में हड़कंप मच गया। वहीं एसडीओ व एएसपी के जेल में प्रवेश करते ही सभी बंदियों को भनक लग गई और सभी बेचैन रहे। सूत्रों की मानें तो जेल के वार्ड संख्या नौ, 10,11,12 को छोड़कर सभी वार्ड में छापेमारी की गई। यहां हर बंदी के पास रखे सामानों को टटोला गया। इसके बाद शौचालयों के कमरे की भी तलाशी ली गई। तलाशी के क्रम में ही 15 व 17 नंबर वार्ड से मोबाइल सिम सहित बरामद हुआ। जानकारी के अनुसार दोनों मोबाइल झोला से बरामद हुए। इधर अधिकारियों के कड़े रुख को देख सभी बंदी में हड़कंप रहा। वहीं जेल प्रशासन के आवेदन पर मुफस्सिल थाना में देर शाम तक एफआइआर की कार्रवाई जारी थी। बात दें कि पिछले दो महीने में दूसरी बार जेल में छापेमारी की गई है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

बार बार मिलते रहे हैं जेल से मोबाइल

बता दें कि जब भी सिवान मंडल कारा में छापेमारी की गई है। यहां से मोबाइल को बरामद किया गया है। इसके पूर्व भी जेल में छापेमारी के दौरान मोबाइल के चार्जर को बरामद किया गया था। वहीं इतनी कड़ाई के बाद भी जेल में मोबाइल सहित अन्य आपत्तिजनक सामग्री का बरामद होना हैरानी का विषय है।

जेल प्रशासन पर हो सकती है कार्रवाई की अनुशंसा

जेल में पिछले दो महीने में दूसरी बार छापेमारी और हर बार जिला प्रशासन को कुछ ना कुछ आपत्तिजनक सामग्री बरामद होने के बाद जिला प्रशासन सकते में है। वहीं सूचना यह भी है कि जेल प्रशासन पर जिलाधिकारी के स्तर से जल्द ही शोकॉज भी किया जा सकता है। क्योंकि पिछली बार भी जिलाधिकारी द्वारा जेल अधीक्षक से शोकॉज किया गया था।

कहते हैं अधिकारी

रूटीन छापेमारी थी। रात में करीब एक बजे से तीन बजे तक छापेमारी की गई है। वरीय अधिकारी को रिपोर्ट सिपुर्द की जाएगी। उसके बाद जेल प्रशासन पर आगे की कार्रवाई वरीय अधिकारी द्वारा की जाएगी।
अमन समीर
अनुमंडलीय पदाधिकारी, सदर