जांच शुल्क व विहित प्रपत्र नही जमा करेगी संघ

0

वित्त रहित संयुक्त संघर्ष मोर्चा की हुई आपात बैठक

परवेज अख्तर/सिवान:
रविवार को जे.आर.एस. कॉलेज विदुरती हाता के प्रांगण में वित्त रहित संयुक्त संघर्ष मोर्चा की आपात बैठक की गई. बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि प्रांतीय संघ बिहार वित्त रहित अनुदानित शिक्षक संघर्ष मोर्चा के आगामी सेमिनार मंडपम तारा मंडल के सामने होने वाली है यह सेमिनार आगामी 18 दिसंबर को 11बजे पूर्वाहन में आरंभ की जाएगी. इस सेमिनार में सभी शिक्षक एवं शिक्षकेतर कर्मचारि बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेंगे. ताकि सेमिनार के द्वारा जांच के नाम पर,कालेज के नाम पर होने वाले दोहन को रोका जा सके. संयुक्त संघर्ष मोर्चा के जिला अध्यक्ष जयराम यादव ने कहा कि वित्त रहित कॉलेज लगभग 80 के दशक में प्रारंभ हुए .अब तक उनका 20 वां बार जांच हो चुका है और जांच के नाम पर 20 बार 15-15 हजार रुपए लिया गया है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-16 at 8.56.45 PM
WhatsApp Image 2022-08-16 at 8.56.44 PM (1)
WhatsApp Image 2022-08-16 at 8.56.44 PM
WhatsApp Image 2022-08-16 at 8.56.42 PM (1)
WhatsApp Image 2022-08-16 at 8.56.43 PM (1)
WhatsApp Image 2022-08-16 at 8.56.44 PM (2)
WhatsApp Image 2022-08-16 at 8.56.42 PM
WhatsApp Image 2022-08-16 at 8.56.43 PM

लेकिन बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष का इरादा नेक नहीं है और अध्यक्ष विगत 5 वर्षों का अनुदान नहीं देना चाह रहे हैं. इसलिए जांच के नाम वित्त रहित कर्मियों को उलझा कर रखना चाहते हैं. वित्त रहित कर्मी लगातार सेवानिवृत्त हो रहे हैं, असाध्य बीमारियों का शिकार हो रहे हैं. परंतु सरकार और बोर्ड कमाया हुआ पैसा देने को तैयार नहीं है.वही बैठक में संघ ने निर्णय लिया कि 2020 तक अनुदान मिलने के पहले ना तो विहित प्रपत्र जमा किया जाए और ना ही जांच शुल्क जमा किया जाए.इस प्रकार सरकार द्वारा तुगलकी फरमान को नहीं माना जाए.

विगत 30 वर्षों में आज तक किसी भी महाविद्यालयों को प्रस्वीकृति संबंधित जानकारी नहीं दिया गया है. जबकि सरकारी विद्यालय मात्र दो कट्ठा जमीन में चलता है और वहां दो कमरे में आठ सौ से एक हजार विद्यार्थियों का कोरोना महामारी में नामांकन किया जा रहा है. वही बैठक के दौरान जे.आर.एस. कॉलेज के प्राचार्य जयराम यादव, भगवान यादव ,राम अवतार यादव ,परमा यादव, ओम प्रकाश पांडे, मदन मोहन जायसवाल, शैलेंद्र प्रसाद सिन्हा, दिनेश कुमार यादव, मदन कुमार, नासिर हुसैन, पवन कुमार, विक्रम सिंह ,सुरेंद्र सिंह आदि लोग मौजूद थे.