बच्चे की बरामदगी नहीं होने पर ग्रामीणों ने किया एनएच जाम व प्रदर्शन

0
bachhe ki baramadgi

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के भगवानपुर हाट थाना क्षेत्र के मीरहाता गांव के तारकेश्वर साह के नौ वर्षीय इकलौता पुत्र आदित्य के अपहरण के 26 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस द्वारा इस मामले में कोई खास सुराग नहीं जुटाने और बच्चे की बरामदगी नहीं किए जाने से आक्रोशित ग्रामीणों ने मीरहाता गांव से लगभग चार किलो मीटर मार्च कर भगवानपुर थाना पहुंच एनएच 101 को जाम कर दिया तथा टायर जला आगजनी की। ग्रामीणों ने पुलिस प्रशासन के विरुद्ध नारेबाजी करते हुए बच्चे की शीघ्र बरामदगी की मांग की। जाम एवं प्रदर्शन करने वालों में महिलाओं की संख्या अधिक थी। अपहृत बालक आदित्य की विधवा मां लालमती कुंवर का रो-रो कर बुरा हाल हो गया था। वहीं आदित्य के बुजुर्ग दादा डोमा साह, चाचा बालकेश्वर साह समेत सभी परिजनों के जाम स्थल पर रोने बिलखने से माहौल गमगीन हो गया था। एनएच जाम की खबर सुन थानाध्यक्ष विपिन कुमार,बीडीओ डॉ. अभय कुमार दल बल के साथ जामस्थल पर पहुंच जाम हटाने का प्रयास किया। प्रदर्शनकारियों के उग्र रूप देख एसडीपीओ हरीश शर्मा दलबल के साथ भी पहुंचे। उन्होंने प्रदर्शनकारियों एवं अपहृत बच्चा की मां, दादा एवं चाचा से बात की और बहुत जल्द बच्चा बरामदगी की कार्रवाई का आश्वासन दिया। प्रदर्शनकारियों में मालती देवी, सुनीता देवी, कौशल्या देवी, संजू देवी, बबन देवी, विनय कुमार, संजय यादव, कमलेश कुमार, पप्पू कुमार, दीना राय, गोलू कुमार, रंजीत यादव, प्रिंस कुमार आदि शामिल थे। गौरतलब हो कि 1 फरवरी की शाम घर के बाहर आदित्य खेल रहा था। अचानक वह गायब हो गया। शाम ढलते देख परिजन आदित्य की खोज में जुट गए। रात भी बीत गया। बच्चा नहीं मिला। चाचा बालकेश्वर साह ने आदित्य के अपहरण का प्राथमिकी दर्ज कराई।पुलिस आदित्य के बरामदगी का प्रयास करने की बात कहती रही। एसडीपीओ महराजगंजद्वारा भी मामले की तहकीकात की है, लेकिन परिजनों का आरोप है कि पुलिस जांच एवं खोज करने के नाम पर समय काट रही है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal