भगवानपुर हाट के चोरौली में भूमि विवाद को लेकर दो पक्षों के बीच हिंसक झड़प, वृद्ध की मौत

0
  • विवादित भूमि के दीवार पर प्लास्टर कराने के दौरान हुई घटना
  • एसडीपीओ श्री पोलअस्त कुमार ने कहा कि पीड़ितों को हरसंभव मिलेगा मदद

✍️परवेज़ अख्तर/एडिटर इन चीफ:
भगवानपुर हाट थाना क्षेत्र के चोरौली गांव में गुरुवार को भूमि विवाद को लेकर दो पक्षों में हिंसक झड़प हो गई। इसमें एक वृद्ध की चोट लगने से मौत हो गई। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। मृतक की पहचान फुलेना शर्मा के पुत्र ओमप्रकाश शर्मा के रूप में हुई है।घटना के संबंध में मृत ओमप्रकाश के स्वजनों ने बताया कि पट्टीदार बलिराम शर्मा द्वारा विवादित भूमि पर दीवार का प्लास्टर कराया जा रहा था। तभी ओमप्रकाश विरोध करने गए। इस क्रम में उनके पट्टीदारों ने उनके साथ मारपीट की। इस दौरान चोट लगने से वे बेहाेश होकर गिर पड़े। उन्हें आनन-फानन में भगवानपुर स्थित एक निजी क्लीनिक में ले जाया गया जहां चिकित्सक द्वारा चिंताजनक स्थिति देखते हुए पीएमसीएच रेफर कर दिया गया। पटना ले जाने क्रम में उनकी मौत हो गई। स्वजन शव लेकर गांव पहुंचे। घटना की सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष संजीव कुमार, एसआइ जयराम सिंह, पीएसआइ रजनी कुमारी पुलिस बल के साथ पहुंच कर शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2023-10-11 at 9.50.09 PM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.50 AM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.51 AM
ahmadali
WhatsApp Image 2023-11-01 at 2.54.48 PM

WhatsApp Image 2022 11 03 at 8.06.05 PM

थानाध्यक्ष ने बताया कि स्वजनों द्वारा आवेदन मिलने तथा पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर प्राथमिकी की जाएगी। वहीं ओमप्रकाश शर्मा की मौत के बाद स्वजनों में कोहराम मच गया। स्वजनो के चीत्कार से माहौल गमगीन हो गया। मृत ओमप्रकाश की पत्नी भगमानी देवी, पुत्री जूही शर्मा सहित अन्य स्वजनों के चीत्कार से माहौल गमगीन हो गया। आसपास के ग्रामीण स्वजनों को ढाढ़स बंधा रहे थे। मृतक अपने पीछे दो पुत्र ऋतिक कुमार, सन्नी कुमार, एक पुत्री है। वे चोरौली बाजार में एक दुकान चला परिवार का भरण पोषण करते थे। उनकी मृत्यु के बाद परिवार में दुखों का पहाड़ टूट पड़ा।घटना के संबंध में बताया जाता है कि ओमप्रकाश शर्मा के परिवार और बलिराम शर्मा के परिवार के बीच दो माह पूर्व भूमि विवाद के लेकर मारपीट हुई थी।

इसमें बलिराम शर्मा की ओर से आधा दर्जन लोगों के खिलाफ प्राथमिकी कराई गई थी जबकि ओमप्रकाश द्वारा थाने में आवेदन देने पर पुलिस द्वारा आवेदन लेने से इन्कार कर दिया गया था।भागमनी देवी एक आरोप लगाया कि बलीराम शर्मा का एक पुत्र पुलिस विभाग में चालक के पद पर कार्यरत है उसके दबाव में आकर पुलिस हमलोग का आवेदन नहीं ली थी।उधर ओमप्रकाश शर्मा के मौत मामले में एसडीपीओ श्री पोलअस्त कुमार ने बताया कि हम स्वयं घटनास्थल पर जाकर परिजनों से मुलाकात कर हरेक पहलूओं पर अनुसंधान कर हर संभव परिजनों को मदद देने का प्रयास करेंगे ताकि दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा मिल सके।दूसरी ओर उन्होंने कहा कि दर्ज कांड के अनुसंधानकर्ता को पारदर्शिता पूर्वक जांच करने की बात मेरे द्वारा कही गई है।