जिले में 23 से 26 दिसंबर तक चलेगा विटामिन-ए छमाही गहन खुराक कार्यक्रम

0
  • आशा और स्वास्थ्य उप केंद्र स्तर पर बनेगा माइक्रोप्लान
  • प्रखंड स्तरीय टीकाकरण स्थल के कार्यकर्ताओं का होगा उन्मुखीकरण

गोपालगंज: जिले में 23 से 26 दिसंबर तक विटामिन ए छमाही गहन खुराक कार्यक्रम चलाया जाएगा। इस कार्यक्रम के तहत नौ से 11 माह तथा 12 से 60 माह के बच्चों को विटामिन ए की खुराक दी जाएगी। आशा कार्यकर्ता घर-घर जाकर बच्चों को विटामिन ए की खुराक देंगी। इसको लेकर राज्य स्वास्थ समिति के कार्यपालक निदेशक ने पत्र जारी कर सभी सिविल सर्जन को आवश्यक दिशा निर्देश दिया है। प्रत्येक ग्राम में आशा कार्यकर्ता अपने कार्य क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले 9 माह से 5 वर्ष तक के उम्र के बच्चों को विटामिन ए सिरप की खुराक गृह भ्रमण कर पिलाना सुनिश्चित करेंगी। अभियान के सफल क्रियान्वयन को लेकर कर्मियों का उन्मुखीकरण भी किया जाएगा। जारी पत्र में क्या निर्देश दिया गया है कि 25 दिसंबर को क्रिसमस डे का राजकीय अवकाश घोषित होने के कारण स्थानीय स्तर पर अपनी सुविधा अनुसार 1 दिन अभियान को आगे बढ़ाया जा सकता है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
muskan buty

माइक्रोप्लान तैयार कर चलेगा अभियान

कार्यक्रम के सफल क्रियान्वयन को लेकर जिला व प्रखंड स्तर पर माइक्रोप्लान तैयार किया जाएगा। इसके लिए आशा कार्यकर्ता एएनएम को आवश्यक दिशा निर्देश दिया गया है। यह निर्देश दिया गया है कि 9 माह से 5 वर्ष तक के बच्चों को विटामिन ए सिरप पिलाने के लिए आशा प्रतिदिन के हिसाब से प्लान बनाएंगी। जिसमें प्रत्येक आंगनबाड़ी को विटामिन ए वितरण स्थल साथ ही अतिरिक्त वितरण स्थल का निर्धारण किया जाएगा। आशा कार्यकर्ता तिथि वार माइक्रोप्लान बनाकर अभियान के 7 दिन पहले अपने संबंधित एएनएम को देंगी। शहरी क्षेत्रों में संबंधित शहरी इकाई के सभी नोडल कर्मी तथा शहरी क्षेत्र की आशा मिलकर क्षेत्रवार गृह आधारित बच्चों की सूची तैयार करना सुनिश्चित करेंगे। जिसके बाद जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी माइक्रोप्लान की समीक्षा कर जिला प्रोफाइल के साथ राज्य स्वास्थ समिति को भेजना सुनिश्चित करेंगे।

लाभार्थी के चम्मच से ही दी जाएगी बच्चों को खुराक

प्रत्येक गांव में आशा कार्यकर्ता अपने कार्य क्षेत्र में आने वाले 9 माह से 5 वर्ष तक के बच्चों को विटामिन ए की खुराक पिलाना सुनिश्चित करेंगे। आंगनबाड़ी केंद्रों व गृह भ्रमण के दौरान आशा कार्यकर्ता द्वारा विटामिन ए की खुराक पहले 1ml या 2ml मार्किंग युक्त चम्मच में डालने के बाद उक्त खुराक को लाभार्थी के चम्मच में डालें और संबंधित परिवार के द्वारा ही चम्मच से बच्चों को अनुपूरण कराया जाएगा। साथ ही यह भी निर्देश दिया गया है कि आशा के द्वारा बच्चों को पिलाई गए विटामिन एक खुराक की तारीख एमसीपी कार्ड तथा विटामिन ए टैलीशीट में अंकित करेंगी।

कोविड-19 प्रोटोकॉल का होगा पालन

विटामिन ए की खुराक कार्यक्रम के दौरान आंगनबाड़ी केंद्रों से भ्रमण के दौरान आशा कार्यकर्ता मास्क और ग्लव्स का उपयोग करेंगी। बच्चों को दवा पिलाने से पहले आशा साबुन और सैनिटाइजर से अपने हाथों को अच्छी तरह से साफ करेंगी और कम से कम 6 फीट की दूरी का विशेष रुप से ध्यान रखेंगी। आंगनबाड़ी केंद्रों व आरोग्य दिवस सत्र पर विटामिन ए अनूपुरण के लिए आने वाली लाभार्थियों व उनके परिजन को पूर्व से सूचना दी जाएगी कि सत्र पर अपने घर से साफ चम्मच के साथ ही आए। कोविड-19 कंटेनमेंट क्षेत्र में परिस्थितियां समान होने के उपरांत ही विटामिन ए की गतिविधि आयोजित की जाएगी।

आईसीडीएस व अन्य सहयोगी संस्था का लिया जाएगा सहयोग

अभियान के सफल क्रियान्वयन के लिए आईसीडीएस तथा अन्य डेवलपमेंट पार्टनर का भी सहयोग लिया जाएगा इसमें आईसीडीएस के द्वारा विटामिन ए कार्यक्रम का माइक्रोप्लान बनाने में मदद, गृह भ्रमण के दौरान आशा को अनुपूरण कार्य करने में मदद करना, सामाजिक जागरूकता फैलाने में आशा का सहयोग, आईसीडीएस कर्मियों के द्वारा विटामिन ए चक्र में सहयोगात्मक पर्यवेक्षण किया जाएगा।

कार्यक्रम का होगा अनुश्रवण एवं पर्यवेक्षण

विटामिन ए खुराक कार्यक्रम का जिला एवं प्रखंड स्तर पर अनुश्रवण पर्यवेक्षण किया जाएगा। ब्लॉक कम्युनिटी मोबिलाइजर, ब्लॉक हेल्थ मैनेजर द्वारा यह सुनिश्चित किया जाएगा कि राज्य स्वास्थ्य समिति के द्वारा भेजे गए फॉर्मेट पर अंकित करें। अनुश्रवण का कार्य स्वास्थ्य आईसीडीएस तथा डेवलपमेंट पार्टनर के प्रतिनिधियों के द्वारा किया जाएगा। आशा प्रतिदिन अपना रिपोर्ट एनएम को सौंपेगी। प्रखंड द्वारा प्राप्त दैनिक प्रतिवेदन का संकलन जिला स्तर से गूगल शीट के माध्यम से राज्य स्तर पर भेजा जाएगा।