सिवान में सुबह 7 बजे से शाम छह बजे तक पड़ेंगे वोट : डीएम

0

लोकतंत्र के पर्व में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हुए मतदान करने की अपील डीएम ने की

परवेज़ अख्तर/सिवान:
सिवान में विधानसभा के दूसरे चरण के लिए मंगलवार को मतदान होना है। जिला प्रशासन द्वारा इसकी पूरी तैयारी कर ली गई है। जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिलाधिकारी अमित कुमार पांडेय ने बताया कि मतदान का समय प्रात 7 बजे से 6 बजे संध्या तक निर्धारित किया गया है। इस दौरान जिला नियंत्रण कक्ष पूरी तरह से सजग एवं कार्यरत रहेगा। कहा कि शांतिपूर्ण, भयमुक्त पारदर्शी व निष्पक्ष रूप से चुनाव संपन्न कराने के लिए जिला प्रशासन प्रतिबद्ध है। डीएम ने बताया कि कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए सभी मतदान केंद्रों को सैनिटाइज कराया जा रहा है। साथ ही मतदान के दौरान शारीरिक दूरी का पालन कराने के लिए मतदान केंद्रों पर सफेद गोला बनाया गया है। जिले के सभी 3571 मतदान केंद्रों में से 320 ऐसे मतदान केंद्रों को चिह्नित किया गया है, जहां दिव्यांग मतदाताओं की संख्या ज्यादा है। इन मतदान केंद्रों पर ह्वीलचेयर की व्यवस्था की गई है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

साथ ही दिव्यांग मतदाताओं के सहयोग के लिए बूथों पर स्काउट एवं गाइड की प्रतिनियुक्ति की गई है। डीएम ने बताया कि जिले में कुल 2576 संवेदनशील मतदान केंद्र हैं। जबकि 995 सामान्य केंद्र हैं। संवेदनशील बूथों पर पारा मिलिट्री फोर्स की तैनाती की गई है। ताकि मतदान शांतिपूर्ण संपन्न हो सके। जिले के आठ विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में विधानसभावार दो-दो मॉडल केंद्र बनाया गया है। तथा 50 ऐसे मतदान केंद्र बनाए गए हैं जहां सिर्फ महिला कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की गई है। डीएम ने बताया कि चुनाव कार्य में 954 गश्ती दल को लगाया गया है। ये गश्ती दल चुनाव संपन्न होने के बाद इवीएम का संग्रहण भी करेंगे। साथ ही 316 जोनल दंडाधिकारी, 41 सुपर जोनल दंडाधिकारी व 518 माइक्रो ऑब्जर्वर की प्रतिनियुक्ति की गई है। 27 क्विक रिस्पांस टीम को चुनाव कार्य में लगाया गया है। निष्पक्ष रुप से चुनाव संपन्न कराने को लेकर 4487 बैलेट यूनिट, 3571 कंट्रोल यूनिट, 3571 वीवीपैट को तैयार किया गया है।

साथ ही अतिरिक्त इवीएम, बीयू, सीयू व वीवीपैट रखा गया है, ताकि गड़बड़ी आने पर उसका उपयोग किया जा सके। चुनाव को पारदर्शी, निष्पक्ष, भयमुक्त व शांतिपूर्ण संपन्न कराने के लेकर व्यापक स्तर पर तकनीक का सहारा लिया गया है। 437 मतदान केंद्रों की वेव कास्टिग कर मतदान की प्रक्रिया का जायजा लिया जाएगा। डीएम ने सभी जिलेवासियों से इस लोकतंत्र के पर्व में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हुए मतदान करने की अपील की है।सिवान । विधानसभा के दूसरे चरण के लिए मंगलवार को मतदान होना है। जिला प्रशासन द्वारा इसकी पूरी तैयारी कर ली गई है। जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिलाधिकारी अमित कुमार पांडेय ने बताया कि मतदान का समय प्रात 7 बजे से 6 बजे संध्या तक निर्धारित किया गया है। इस दौरान जिला नियंत्रण कक्ष पूरी तरह से सजग एवं कार्यरत रहेगा। कहा कि शांतिपूर्ण, भयमुक्त पारदर्शी व निष्पक्ष रूप से चुनाव संपन्न कराने के लिए जिला प्रशासन प्रतिबद्ध है।

डीएम ने बताया कि कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए सभी मतदान केंद्रों को सैनिटाइज कराया जा रहा है। साथ ही मतदान के दौरान शारीरिक दूरी का पालन कराने के लिए मतदान केंद्रों पर सफेद गोला बनाया गया है। जिले के सभी 3571 मतदान केंद्रों में से 320 ऐसे मतदान केंद्रों को चिह्नित किया गया है, जहां दिव्यांग मतदाताओं की संख्या ज्यादा है। इन मतदान केंद्रों पर ह्वीलचेयर की व्यवस्था की गई है। साथ ही दिव्यांग मतदाताओं के सहयोग के लिए बूथों पर स्काउट एवं गाइड की प्रतिनियुक्ति की गई है। डीएम ने बताया कि जिले में कुल 2576 संवेदनशील मतदान केंद्र हैं। जबकि 995 सामान्य केंद्र हैं। संवेदनशील बूथों पर पारा मिलिट्री फोर्स की तैनाती की गई है। ताकि मतदान शांतिपूर्ण संपन्न हो सके। जिले के आठ विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में विधानसभावार दो-दो मॉडल केंद्र बनाया गया है।

तथा 50 ऐसे मतदान केंद्र बनाए गए हैं जहां सिर्फ महिला कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की गई है। डीएम ने बताया कि चुनाव कार्य में 954 गश्ती दल को लगाया गया है। ये गश्ती दल चुनाव संपन्न होने के बाद इवीएम का संग्रहण भी करेंगे। साथ ही 316 जोनल दंडाधिकारी, 41 सुपर जोनल दंडाधिकारी व 518 माइक्रो ऑब्जर्वर की प्रतिनियुक्ति की गई है। 27 क्विक रिस्पांस टीम को चुनाव कार्य में लगाया गया है। निष्पक्ष रुप से चुनाव संपन्न कराने को लेकर 4487 बैलेट यूनिट, 3571 कंट्रोल यूनिट, 3571 वीवीपैट को तैयार किया गया है। साथ ही अतिरिक्त इवीएम, बीयू, सीयू व वीवीपैट रखा गया है, ताकि गड़बड़ी आने पर उसका उपयोग किया जा सके। चुनाव को पारदर्शी, निष्पक्ष, भयमुक्त व शांतिपूर्ण संपन्न कराने के लेकर व्यापक स्तर पर तकनीक का सहारा लिया गया है। 437 मतदान केंद्रों की वेव कास्टिग कर मतदान की प्रक्रिया का जायजा लिया जाएगा। डीएम ने सभी जिलेवासियों से इस लोकतंत्र के पर्व में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हुए मतदान करने की अपील की है।