वजीर ए आजम जनाब नरेंद्र मोदी ने लॉकडाउन को लेकर क्या कहा 

0

जनाब मोदी ने स्पष्ट रूप से कहा कि हम देश की अर्थव्यवस्था भी सुधारेंगे और लोगों की सेहत भी

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2023-10-11 at 9.50.09 PM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.50 AM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.51 AM
ahmadali
WhatsApp Image 2023-11-01 at 2.54.48 PM

परवेज अख्तर/न्यूज़ डेस्क:
कोरोना संकट के बीच मुल्क के वजीर ए आजम जनाब नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर मंगलवार को मुल्क को खेताब किया। मुल्क में कोरोना संक्रमण के चलते पैदा हुई खतरनाक हालात को देखते हुए जनाब वजीर ए आजम ने इसे संजीदगी से लिया और चर्चा की।जनाब मोदी ने लॉकडाउन को लेकर इशारे हीं इशारे में बड़ा बयान दिया। उन्होंने कहा कि देश के प्रत्येक सूबे की सरकार लॉकडाउन को आखिरी विकल्प मान कर चलें। उन्होंने आम जनमानस से सतर्कता बरतने की अपील करते हुए कहा कि आज की स्थिति में हमें लॉकडाउन से बचाना है। अपने संबोधन में जनाब मोदी ने स्पष्ट रूप से कहा कि हम देश की अर्थव्यवस्था भी सुधारेंगे और लोगों की सेहत भी। उन्होंने कहा कि आज पूरे देश के लोगों ने जो मिलजुल कर कोरोना का जंग लड़ रहे हैं। इसे हम जाया नहीं जाने देंगे।

इस कोरोना के जंग में सबकी भागीदारी है। इस कोरोना काल में पूरे देश में कई सामाजिक संगठन के लोग जरूरतमंदों के बीच खाने-पीने रहने तक की व्यवस्था की है। उन्होंने देश के सभी सामाजिक संगठनों को भी सामूहिक रूप से धन्यवाद भी दिया। उन्होंने ने कहा की देश के कई राज्यों में कुछ सप्ताह पूर्व तक कोरोना को लेकर स्थितियां काफी सुधरी हुई थी लेकिन अचानक दूसरे स्टेज में कोरोना हम सभी के बीच तूफान बन कर आ गई। जनाब मोदी ने इस कोरोना काल के दौरान जिन जिन लोगों ने अपनों को खोया है। उसके प्रति जनाब मोदी ने गहरी संवेदना व्यक्त की। जनाब मोदी ने खासकर युवाओं से आग्रह किया कि अपने प्रत्येक मोहल्ले में एक टोली बनाकर कोरोना मिशन को कामयाब करें। जनाब मोदी ने अपने संबोधन के दौरान स्वच्छता मिशन पर भी क्षणिक चर्चा करते हुए छोटे-छोटे बच्चों की तारीफ की।

उन्होंने कहा कि इस बार कोरोना संकट में देश के अनेक हिस्से में ऑक्सीजन की डिमांड बहुत ज्यादा बढ़ी है। इस विषय पर तेजी से और पूरी संवेदनशीलता के साथ काम किया जा रहा है। केंद्र सरकार, राज्य सरकारें, प्राइवेट सेक्टर, सभी की पूरी कोशिश है कि हर जरूरतमंद को ऑक्सीजन मिले।