अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी ने की परिवार कल्याण कार्यक्रम की समीक्षा

0
  • जूम एप के माध्यम से ऑनलाइन की गई समीक्षा बैठक
  • मिशन परिवार विकास अभियान के सफल क्रियान्वयन को लेकर हुई चर्चा
  • अभियान को लेकर माइक्रो प्लान बनाने का निर्देश

गोपालगंज: जिला अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ एके चौधरी की अध्यक्षता में परिवार कल्याण कार्यक्रम की समीक्षा बैठक की गई। जूम एप के माध्यम से ऑनलाइन समीक्षा बैठक में सभी उपाधीक्षक, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, सभी स्वास्थ्य प्रबंधक, प्रखंड समुदायिक उत्प्रेरक के साथ समीक्षा की गई। बैठक के दौरान अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी ने मिशन परिवार विकास अभियान के सफल क्रियान्वयन को लेकर कई महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा की। एसीएमओ डॉ एके चौधरी ने कहा कि परिवार कल्याण कार्यक्रम से संबंधित सभी रिकॉर्ड रजिस्टर कम पर पत्र को संबंधित कर्मी आदतन रखें एवं आवश्यकता अनुसार जिला स्वास्थ समिति से उठाव करें उन्होंने निर्देश दिया कि सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी या सुनिश्चित करें कि प्रसव कक्ष में पीपीआईयूसीडी प्रशिक्षित नर्स एवं एएनएम का ड्यूटी 24 घंटे हो। उन्होंने निर्देश दिया कि गर्भनिरोधक सुई अंतरा की उपलब्ध एवं सेवा एपीएचसी एचडब्ल्यूसी और एचएससी तक के सभी स्वास्थ्य इकाइयों पर दृढ़ता से पालन सुनिश्चित किया जाए। अंतरा की सेवा प्रदान करने वाले सभी स्वास्थ्य स्थानों पर संबंधित रिकॉर्ड एवं रजिस्टर्ड की उपलब्धता सुनिश्चित हो। इस समीक्षा बैठक के दौरान एसीएमओ डॉ एके चौधरी के अलावे केयर इंडिया के डिटीएल मुकेश कुमार सिंह, परिवार नियोजन समन्वयक अमित कुमार समेत सभी स्वास्थ्य स्थानों के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, स्वास्थ्य प्रबंधक व सामुदायिक उत्प्रेरक शामिल थे।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

सास बहू सम्मेलन कराना अनिवार्य

समीक्षा के दौरान एसीएमओ ने निर्देश दिया कि सभी आरोग्य दिवस पर दिशा निर्देश के अनुसार सास बहू बेटी सम्मेलन का आयोजन कराना अनिवार्य है। इसके लिए सभी एएनएम को निर्देशित किया गया है। जिसमें समुदाय स्तर पर महिलाओं के साथ साथ किशोरियों को भी शामिल किया जाएगा। सीएमओ ने कहा कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, रेफरल अस्पताल, अनुमंडल अस्पताल एवं सदर अस्पताल स्तर पर परिवार नियोजन परामर्श केंद्र में प्रशिक्षित स्टाफ नर्स एएनएम को संस्थान में आए योग दंपतियों को परिवार नियोजन से संबंधित अस्थाई सेवा एवं अस्थाई सेवा प्राप्ति में सहयोग के लिए प्रतिनियुक्त किया जाएगा।

परिवार नियोजन को लेकर आमजनों में फैलाए जागरूकता

एसीएमओ डॉ एके चौधरी ने कहा कि मिशन परिवार विकास अभियान के तहत प्रथम चरण में 14 से 20 जनवरी तक दंपति संपर्क सप्ताह का आयोजन किया जाएगा। इस दौरान आमजन में जागरूकता के लिए प्रचार प्रसार किया जाएगा जिसमें यह जानकारी दी जाएगी की सही उम्र में शादी, शादी के कम से कम 2 साल के बाद पहला बच्चा, दो बच्चों में कम से कम 3 साल का अंतर, प्रसव पश्चात एवं गर्भपात पश्चात परिवार नियोजन के अस्थाई एवं अस्थाई उपाय, परिवार कल्याण ऑपरेशन में पुरुषों की भागीदारी पर जोर दिया जाएगा।

योग दंपतियों की पहचान करना जरूरी

अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी ने सभी संबंधित पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि परिवार नियोजन के अंतराल साधन को बढ़ाने के लिए वैसे दंपतियों का पहचान करना जरूरी है जिनके 1 बच्चे हो और उन दंपतियों के साथ आशा के द्वारा बैठक कर या एएनएम के द्वारा वीएचएसएनडी पर बैठक परिवार नियोजन के अंतराल साधन के बारे में चर्चा करना एवं परिवार नियोजन के साधन पर उनका समझ बढ़ाना आवश्यक है इसलिए आशा के द्वारा एक बच्चे वाले दंपतियों को लिस्ट करके उनको फोकस करने के लिए निर्देशित करें एवं उनके साथ बैठक करने के लिए आशा एवं एनएम को निर्देशित करें।

2 दिनों के अंदर सदर अस्पताल में 10 कंडोम बॉक्स लगाने का निर्देश

समीक्षा के दौरान अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी ने सदर अस्पताल गोपालगंज व रेफरल अस्पताल भोरे को निर्देशित किया कि पत्र प्राप्ति के 2 दिनों के अंदर परिवार नियोजन सामग्री का उठाव जिला भंडारण से करना सुनिश्चित करें । इसके साथ ही सदर अस्पताल के स्वास्थ्य प्रबंधक को निर्देश दिया कि 2 दिनों के अंदर सदर अस्पताल कैंपस में कम से कम 10 कंडोम बॉक्स लगवाए एवं किसी एक व्यक्ति को नामित करें जो प्रत्येक दिन कंडोम बॉक्स में रिफिलिंग करना सुनिश्चित करेंगे।