कोविड-19 टीकाकरण के मॉक ड्रिल को लेकर कर्मियों को दिया गया प्रशिक्षण

0
  • सारण में तीन जगहों पर 8 को कोविड-19 टीकाकरण का मॉक ड्रील
  • प्रत्येक टीकाकरण सत्र पर होंगे 25 लाभार्थी
  • को-विन पोर्टल के सफल संचालन को लेकर दिया गया प्रशिक्षण

छपरा: वैश्विक महामारी कोरोना के नियंत्रण के लिए जिले में टीकाकरण का कार्य किया जाना है। इसको लेकर 8 जनवरी को मॉक ड्रील का आयोजन किया जायेगा। कोविड टीकाकरण के सफल मॉक ड्रील को लेकर जिला स्वास्थ्य समिति के साभागार में सिविल सर्जन की अध्यक्षता में संबंधित कर्मियों को प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण के दौरान सिविल सर्जन डॉ. माधवेश्वर झा ने कहा कि जिले में तीन जगहों पर कोविड टीकाकरण लेकर मॉक ड्रील का आयोजन किया जायेगा। सदर अस्पताल स्थित पारा मेडिकल संस्थान, सोनपुर अनुमंडलीय अस्पताल एएनएम स्कूल व इसुआपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में मॉक ड्रील यानि ड्राई रन किया जायेगा। इसको लेकर तीनों संस्थानों में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, एएनएम, बीएचएम व कंप्यूटर ऑपरेटर को प्रशिक्षण दिया गया। जिसमें टीकाकरण स्थल पर क्या तैयारियां होनी चाहिए, कौन-कौन सा उपकरण, लॉजिस्टिक की आवश्यकता है। कितने कर्मियों की आवश्यकता होगी इन सभी बातों को विस्तार से बताया गया। स्वास्थ्य कर्मियों को बताया गया कि वैक्सीन लगने से क्या-क्या सावधानियां उन्हें बरतनी है और वैक्सीन लगने से उन्हें क्या-क्या प्रभाव हो सकते हैं, उन लक्षणों की भी जानकारी दी गई। वैक्सीन लगने से किसी भी मरीज को आधा घंटे तक उल्टी दस्त, बुखार आदि या घबराहट हो सकती है। इसके लिए चिकित्सकों की देखरेख में आधा घंटे तक वैक्सीन जिस व्यक्ति को लगाई जाएगी उसे अपनी देखरेख में रखा जाएगा।सभी कर्मियों को पूरी तरह से तैयार रहने का निर्देश दिया गया है। प्रशिक्षण के दौरान जिला अनुश्रवण एवं मूल्यांकन पदाधिकारी भानू शर्मा के द्वारा प्रोजेक्टर के माध्यम से प्रशिक्षण दिया गया। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. अजय कुमार, डीपीएम अरविन्द कुमार, डीएमएंडई भानू शर्मा, डीपीसी रमेश चंद्र कुमार, डीएस डॉ. रामइकबाल प्रसाद, एसएसमओ डॉ. रंजितेष कुमार, एसएमसी आरती त्रिपाठी, केयर इंडिया के डीटीएल संजय कुमार विश्वास, डीटीओ-ऑन प्रणव कुमार कमल, यूएनडीपी के कोल्ड चेन मैनेजर अंशुमन पांडेय, रवि कुमार समेत अन्य मौजूद थे।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

इन स्थानों पर होगा मॉक ड्रील

  • पारा मेडिकल संस्थान, सदर अस्पताल छपरा
  • अनुमंडलीय अस्पताल, सोनपुर
  • प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, इसुआपुर

एक स्थल पर 25 व्यक्तियों को लगेगा टीका 

सिविल सर्जन डॉ. माधवेश्वर झा ने बताया कि ड्राई रन के दौरान एक स्थल 25 व्यक्तियों को डमी कोरोना टीका दिए जाएंगे। ड्राई रन के दौरान केंद्र सरकार के निर्देशानुसार सभी स्थलों पर तीन कक्ष बनाए जाएंगे। स्वास्थ्यकर्मियों के मोबाइल पर टीकाकरण को लेकर मैसेज भेजा जाएगा। इसके बाद क्रम अनुसार डमी टीकाकरण किया जाएगा।

लाभार्थियों की होगी थर्मल स्क्रिनिंग

जिले में सुबह 9 बजे से ड्राई रन शुरू किया जाएगा। इसके लिए आशा, एएनएम लाभार्थी की थर्मल स्क्रीनिंग करेंगी। उसके बाद फर्स्ट वैक्सीनेटर ऑफिसर होमगार्ड होंगे, जो लाभार्थी के आईकार्ड का मिलान करेंगे। दूसरा वैक्सीनेटर ऑफिसर डाटा ऑपरेटर होगा जो वहां लाभार्थी के रजिस्ट्रेशन का मिलान करेंगे। तीसरे वैक्सीनेटर इंजेक्शन देंगे। उसके बाद वेटिंग एरिया में आधे घंटे लाभार्थी इंतजार करेंगे। उसके बाद उन्हें छोड़ा जाएगा।

प्रतिकूलप्रभाव निपटने का होगा अभ्यास

डीपीएम अरविन्द कुमार ने बताया कि मॉक ड्रील के दौरान टीकाकरण के बाद होनेवाले प्रतिकूल प्रभावके प्रबन्धन के लिए एडवर्स इवेंट्स फोल्विंग इम्यूनाइजेशन(एईएफआई) का अभ्यास किया जाएगा। साथ ही इससे निपटने के लिए बनाये गए कॉलसेंटर का परीक्षण भी किया जाएगा। ड्राई रन की निगरानी जिला कलेक्टरों द्वारा की जाएगी।

चुनाव कार्य की तरह को-विन पोर्टल से होगी निगरानी

डीएमएंडई भानू शर्मा ने बताया कि कोविड-19 टीकाकरण के लिए टीके के वास्तविक स्टॉक की जानकारी, इनके भण्डारण तापमान एवं लाभार्थी के ट्रेकिंग के लिए को-विन सॉफ्टवेयर का निर्माण किया है।यह सॉफ्टवेयर कार्यक्रम प्रबंधकों को पूर्व-पंजीकृत लाभार्थियों के लिए स्वचालित सत्र आवंटन करने में सहयोग करेगा।पोर्टल के माध्यम से सत्र स्थल, वैक्सीनेटर मैनेजमेंट, लाभार्थियों की सूची आदि जानकारी मिल सकेगी।

मॉक ड्रील के दौरान इन निर्देशों का करना होगा पालन

  • कोल्ड चेन प्वाइंट के आस-पास टीकाकरण सत्र स्थल
  • सभी एएनएम के पास इंटरनेट युक्त एंड्रवायड मोबाइल
  • टीकाकरण के लिए तीन कमरा
  • टीकाकरण स्थल पर पीने का पानी व शौचालय की व्यवस्था
  • सामाजिक दूरी का पालन करना
  • मास्क का उपयोग करना
  • प्रत्येक टीकाकरण सत्र पर सेनिटाइजर की उपलब्धता
  • सभी लॉजिस्टिक उपलब्ध रखना होगा
  • लाभार्थियों की सूची की हार्ड कॉपी