पारिवारिक कलह के बाद विवाहिता को जलाया

0
jail

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के बड़हरिया थाना क्षेत्र के ज्ञानी मोड़ गांव में सोमवार की सुबह एक विवाहित आग से झुलस कर गंभीर रूप से घायल हो गई। उसे बचाने के क्रम में उसका पति और सास भी झुलस कर घायल हो गए। आनन फानन में तीनों को इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां विवाहिता की स्थिति गंभीर होने के कारण उसे चिकित्सकों ने बेहतर इलाज के लिए पटना रेफर कर दिया। इधर पटना जाने के पूर्व गंभीर स्थिति में विवाहिता ने अपनी सास पर मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का बयान पुलिस के समक्ष दर्ज कराया। जबकि सदर अस्पताल में इलाजरत विवाहित के पति और सास ने इस आरोप को झूठा बताते हुए विवाहित द्वारा स्वयं ही केरोसिन डाल कर आग लगाने की बात कही गई। महिला गांव निवासी धनंजय शर्मा की पत्नी सरोज देवी बताई जाती है। जबकि धनंजय और उसकी मां शिवकुमारी देवी का इलाज सदर अस्पताल में चल रहा है। मामले में विवाहित की सास और उसके पति को पुलिस अभिरक्षा में रखकर इलाज किया जा रहा था। मामले में घायल सरोज देवी के भाई सह महादेवा ओपी क्षेत्र के दारोगहाता निवासी अंकित कुमार शर्मा ने बताया कि दो वर्ष पहले मेरी बहन सरोज की शादी ज्ञानी मोड़ निवासी धनजंय शर्मा से हुई थी। शादी के बाद से ही सास व पति से छोटी छोटी बातों को लेकर अक्सर लड़ाई झगड़ा होने की सूचना मिलती थी। मेरी बहन को एक सात माह की बच्ची भी है। कुछ माह पहले उसके साथ मारपीट किया गया था, इसकी सूचना जब मिली तो मैंने उसका इलाज कराया था। सोमवार को किसी बात पर मेरी बहन से उसकी सास और पति द्वारा लड़ाई की गई और मेरी बहन पर केरोसिन डालकर उसे जला दिया गया। वहीं मामले में पति धनजंय शर्मा ने बताया कि शादी के बाद से ही सरोज और मेरी मां के बीच छोटी छोटी बातों को लेकर झगड़ा होता था। कई बार मैं सरोज को कहता था कि इन सब बातों को छोड़ दो लेकिन वह नहीं मानती थी। सोमवार को भी यही वाक्या हुआ था, इस पर मेरी बेटी से मेरी मां ने कह दिया कि मैं तुम्हारी दादी नहीं हूं, यह सुनकर सरोज ने अपने ऊपर केरोसिन डाल कर आग लग लिया। यह देख उसे जब हम दोनों बचाने गए तो हमलोग भी झुलस कर घायल हो गए। इधर रेफर होने से पूर्व सरोज ने नगर थाना के पुलिस पदाधिकारियों के समक्ष बताया कि मेरी सास ने गहने की मांग की तो मैंने दे दिया, और इसके बाद उन्होंने मुझ पर मिट्टी तेल छिड़क कर आग लगा दी। पुलिस ने इस मामले में पीड़िता के बयान को दर्ज कर अपनी जांच शुरू कर दी है।