कोविड-19 से बचाव में एंटीबायोटिक असरदार नहीं, बैक्टीरिया के खिलाफ करता है काम

0
  • कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सावधानियां जरूरी
  • सोशल मीडिया पर फैल रही अफवाहों से बचने की जरूरत
  • पीआईबी ने फैक्ट चेक में किया खंडन

छपरा :- कोविड-19 का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। इससे बचाव को लेकर पूरे राज्य में 31 जुलाई तक संपूर्ण लॉक डाउन लागू किया गया। ऐसे में कोरोना वायरस को लेकर लोगों के बीच कई भ्रांतियां फैली हुई हैं। कोरोना वायरस को लेकर फैली दहशत में अफवाहों का बड़ा हाथ है। सोशल मीडिया पर कई तरह के अफवाहों और बेकार के इलाज ने लोगों को और डरा दिया है। कई जगह अफवाह है कि एंटीबायोटिक से कोरोना का इलाज संभव है। यहां आपको फैक्ट चेक करने की जरूरत है। दरअसल किसी भी प्रकार का एंटीबायोटिक कोरोना के लिए असरदार नहीं है। एंटीबायोटिक केवल बेक्टेरिया के खिलाफ काम करता है इसलिए कोरोना वायरस पर प्रभावी नहीं है। सोशल मीडिया के साथ-साथ अब लोगों के बीच कई ऐसी भ्रांतियां फैली हुई है। अगर आप भी अब तक यही मानते हैं तो आपको फैक्ट चेक करने की जरूरत है। कोरोना वायरस भले ही घातक है, मगर इसके बचाव और सावधानियां बरतने से इसके संक्रमण से बचा जा सकता है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

पीआईबी ने फैक्ट चेक में किया खंडन

सोशल मीडिया पर कई ऐसे पोस्ट सामने आए हैं, जिनमें दावा किया गया है कि एंटीबायोटिक कोरोना वायरस से बचाव में कारगर साबित हो सकता है। मगर पीआईबी ने अपने फैक्ट चेक में पाया है कि एंटीबायोटिक से कोरोना वायरस बचाव नहीं हो सकता है। पीआईबी ने कोरोना वायरस पर कुछ सही जानकारी साझा किया है, जिसे हम सबको समझने की जरूरत है। ताकि कोरोना वायरस पर पैनिक होने की बजाय हम इसके सही बचाव पर ध्यान देकर इससे संक्रमित होने से बच सकते हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी किया दावा

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने भी यह दावा किया है कि एंटीबायोटिक्स केवल बैक्टीरिया के खिलाफ काम करते हैं, वायरस के नहीं। कोविड-19 वायरस के कारण होता है, और इसलिए एंटीबायोटिक्स का उपयोग रोकथाम या उपचार के लिए नहीं किया जाना चाहिए। हालांकि, अगर आपको कोविड-19 के लिए अस्पताल में भर्ती कराया जाता है, तो आपको एंटीबायोटिक्स मिल सकती हैं क्योंकि बैक्टीरिया का सह-संक्रमण संभव है।

प्रमाणिक सूचनाओं वाले माध्यमों को ही चुनें

प्रमाणिकता वाली सूचना देने वाले अधिकृत माध्यमों को चुने जाने के लिए भी केंद्र व राज्य सरकार की ओर से अपील की गयी है। इनमें विश्व स्वास्थ्य संगठन, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन आदि शामिल हैं। सही सूचनाएं पहुंचाने के लिए सरकार की ओर से कोरोनावायरस संक्रमण को लेकर जानकारी देने व जागरूकता लाने का काम किया गया है।

घर से निकलते समय मास्क जरूर पहने

कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर प्रशासन ने मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है। ऐसे में घर से निकलते समय मास्क पहनकर ही निकलें। मास्क नहीं पहनने वालों के खिलाफ प्रशासन अभियान चला रही है। प्रशासन की ओर से मास्क नहीं पहनने वालों से जुर्माने की वसूली की जा रही है। मास्क के उपयोग से कोविड-19 के संक्रमण से बचाव किया जा सकता है। इसलिए मास्क का उपयोग बेहद जरूरी है।

इन बातों का रखें खास ध्यान

  • छींकते या खांसते समय रूमाल या टिश्यू पेपर का इस्तेमाल करें.
  • बहुत अधिक इस्तेमाल होने वाले सतहों जैसे दरवाजे का हैंडल या ऐसी अन्य जगहों की नियमित सफाई जरूरी है.
  • खुले में या सार्वजनिक जगहों पर जहां तहां नहीं थूंके. ऐसा करना दंडनीय अपराध भी है.
  • बिना किसी उद्देश्य या औचित्य के यात्रा करने से बचें. बहुत जरूरी हो तभी यात्रा करें.
  • कोविड 19 संक्रमित या उसके परिवार वालों के साथ भेदभाव न कर सहाभूति से पेश आयें.
  • अपने स्वास्थ्य की मॉनिटरिंग करने के लिए आरोग्य सेतु एप्प का इस्तेमाल कर सकते हैं.