बसंतपुर के कन्हौली के समीप भाजपा नेता की सड़क दुर्घटना में मौत

0
  • घायलावस्था में परिजन बसंतपुर पीएचसी लाए जहां से चिकित्सकों ने चिंताजनक स्थिति देख हुए सदर अस्पताल रेफर कर दिया था
  • स्कॉर्पियो ने साइकिल में धक्का मार जख्मी किया
  • मृतक जयनारायण सिंह भाजपा के बूथ अध्यक्ष थे
  • 10 बजे के आसपास कन्हौली बाजार में हुई दुर्घटना

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के बसंतपुर थाना क्षेत्र के कन्हौली के समीप एसएच-73 पर शनिवार की सुबह दस बजे अज्ञात स्कॉर्पियो के धक्के से भाजपा नेता की मौत हो गई। मृतक कन्हौली गांव के स्व. हरिराज सिंह के पुत्र 60 वर्षीय जयनारायण सिंह थे। बताया जाता है कि शनिवार को सुबह 10 बजे के आसपास कन्हौली बाजार से प्रतिदिन की तरह दूध लेकर साइकिल से अपने घर पर जा रहे थे। तभी एसएच-73 पर कन्हौली के पास स्कॉर्पियो ने साइकिल में धक्का मार दिया। इस दुर्घटना में वे गंभीर रूप से जख्मी हो गए। उनके सिर में गंभीर चोट आई। घायलावस्था में परिजन बसंतपुर पीएचसी लाए जहां से चिकित्सकों ने चिंताजनक स्थिति को देखते हुए सदर अस्पताल रेफर कर दिया। जहां इलाज के क्रम में उनकी मौत हो गई। बताया जाता है कि स्कॉर्पियो काफी तेज गति से जा रही थी। आसपास के लोगों ने बताया कि जय नारायण सिंह सड़क के किनारे होकर आ रहे थे। इसी दौरान अज्ञात स्कॉर्पियो ने गलत साइड से आकर जोरदार धक्का मार दिया। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया। मृतक जय नारायण सिंह भाजपा के बूथ अध्यक्ष थे। वह काफी सक्रिय सदस्य थे।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 7.27.12 PM
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

आक्रोशित ग्रामीणों ने की सड़क जाम

सड़क हादसे में जय नारायण सिंह की मौत की सूचना मिलते ही ग्रामीण आक्रोशित हो गए व पुलिस के खिलाफ हंगामा करने लगे। ग्रामीणों ने मृतक के परिजनों को मुआवजा देने की मांग करते हुए एसएच-73 को एक घंटे तक जाम कर दिया। घटना की सूचना पाते ही सीओ सुनील कुमार व प्रभारी थानाध्यक्ष मनोज कुमार सिंह मौके पर पहुंचे। आक्रोशित ग्रामीणों को नियमानुकुल मुआवजा देने की बात बताई। जबकि ग्रामीणों को बसंतपुर थानाध्यक्ष राकेश कुमार ने फोन पर समझाकर मामला शांत कराया। तब जाकर ग्रामीणों का आक्रोश कम हुआ तथा यातायात बहाल हुआ।

परिजनों के चीत्कार से माहौल गमगीन

सड़क हादसे में मृत जयनारायण सिंह का शव पोस्टमार्टम के बाद गांव पहुंचते ही परिजनों के चीत्कार से सबकी आंखें नम हो जा रही थीं। मृतक की पत्नी कमला देवी के साथ परिजनों के रोने से सबकी आंखें भर जा रही थी। उनके दो पुत्रों मनोज सिंह व रंजीत सिंह का पहले ही निधन हो चुका है। इस घटना को लेकर भाजपा विधायक देवेश कांत सिंह, रंजीत प्रसाद, संजीव सिंह, विनोद सिंह, राजीव कुमार सिंह, श्रीराम सिंह, नवल किशोर सिंह व शंकर प्रसाद ने दुख प्रकट किया।