RJD विधायक की गुंडई, जाम में फंसे एम्बुलेंस को निकालने की कोशिश कर रहे जिला परिषद प्रत्याशी को मारा थप्पड़

0

गोपालगंज: बैकुंठपुर प्रखंड के राजापट्टी बाजार के समीप पुलिस के खिलाफ कुछ लोगों ने सड़क जाम किया था। जाम की सूचना मिलने के बाद राजद विधायक प्रेम शंकर यादव मौके पर पहुंच कर भीड़ को समझा रहे थे। इस बीच जिला परिषद क्षेत्र संख्या 32 के एक प्रत्याशी मौके पर पहुंच गए। आरोप है कि राजद विधायक ने उस प्रत्याशी को थप्पड़ जड़ दिया। घटना शुक्रवार की बताई जा रही है। इसको लेकर जिप प्रत्‍याशी ने विधायक पर प्राथमिकी दर्ज कराई है। हालांकि विधायक ने थप्‍पड़ मारने की बात से इंकार किया है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

जानकारी के अनुसार, शुक्रवार को राजापट्टी बाजार के समीप कुछ व्यवसायी पुलिस की कार्रवाई से नाराज होकर सड़क पर उतर गए। बताया गया कि कुछ लोगों की पुलिस ने पिटाई कर दी थी। इसी के विरोध में लोगों ने एसएच 90 को जाम कर दिया था। वे कार्रवाई की मांग कर रहे थे। लोगों को समझाने के लिए राजद विधायक वहां पहुंचे थे। इसी दौरान जिला परिषद प्रत्‍याशी अशफाक अहमद उर्फ सुड्डू वहां पहुंचे। उन्‍होंने कहा कि जाम हटवाइए, एंबुलेंस को निकलवाया। आरोप है कि इसी दौरान कुछ कहासुनी होने पर विधायक ने सुड्डू को थप्‍पड़ मार दिया। किसी ने घटना का वीडियो वायरल कर दिया। वायरल वीडियो को लेकर अशफाक अहमद उर्फ सुड्डू ने बताया कि विधायक ने भीड़ के सामने उन्‍हें पीटा है। उन्‍होंने थाने में आवेदन देकर सुरक्षा की भी गुहार लगाई। प्रत्‍याशी के आवेदन पर पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज की है। सदर एसडीपीओ संजीव कुमार ने बताया कि आवेदन मिलने के बाद पुलिस प्राथमिकी दर्ज कर मामले की जांच पड़ताल कर रही है।

घटना के संबंध में बताया जाता है कि बैकुंठपुर के राजपट्टी मोड़ के पास एसएच-90 को राजद विधायक के समर्थकों ने जाम कर दिया था। इस दौरान पुलिस के खिलाफ खुद राजद विधायक भी सड़क पर उतर गये। तभी इस दौरान एक एंबुलेंस जाम में फंस गया। एम्बुलेंस के ड्राइवर जाम से गाड़ी को निकालने का प्रयास करता रहा। जिला परिषद प्रत्याशी अशफाक अहमद उर्फ सुड्डू बाबू एंबुलेंस को जाम से निकालने की कोशिश कर रहे थे। जिसे देख राजद विधायक गुस्सा हो गये और जिला परिषद प्रत्याशी को थप्पड़ जड़ दिया। असफाक अहमद बैकुंठपुर के जिला परिषद क्षेत्र संख्या 32 के प्रत्याशी हैं।

इधर राजद विधायक ने कहा कि वायरल वीडियो में साफ दिख रहा है कि मैंने जिप सदस्य प्रत्याशी को धक्का देकर वहां से हटाने का कार्य किया है। भीड़ में घुसकर जबरन लोगों को जाम हटाने के लिए वे बोल रहे थे। इसी क्रम में उग्र होकर गाली गलौज करने लगे। भीड़ से प्रत्‍याशी को बचाने के लिए धक्‍का देकर वहां निकाला। थप्‍पड़ नहीं मारा था। मामले को राजनीतिक रंग दिया जा रहा है। उन्‍होंने कहा कि वायरल वीडियो की जांच कराई जाए।