गोपालगंज में सड़क पार कर रहीं सास-बहू को कार ने रौंदा, सास की मौत

0

गोपालगंज: नगर थाना क्षेत्र के अरार गांव के समीप एनएच 27 पर मंगलवार को सड़क पार कर रही एक महिला तथा उनकी सास को एक कार ने रौंद दिया। इस हादसे में मौके पर ही सास की मौत हो गई तथा बहू गंभीर रूप से घायल हो गई। हादसे के बाद आक्रोशित ग्रामीण हाईवे को जाम कर प्रदर्शन करने लगे। ग्रामीण मृतका के स्वजन को मुआवजा देने की मांग कर रहे थे। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों को समझा कर शांत कर दिया। ग्रामीणों के शांत होने के बाद पुलिस ने महिला के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। घायल महिला को इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सास व बहू को रौंदने के बाद कार सहित चालक फरार हो गया। पुलिस कार चालक के बारे में पता लगा रही है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

बताया जाता है कि सोमवार की सुबह नगर थाना क्षेत्र के अरार गांव निवासी साहेब हुसैन की पत्नी नजमा खातून अपनी बहू मरहूम खातून के साथ एनएच 27 को पार कर अपने खेत में जा रही थीं। इसी दौरान हाईवे पर तेज गति से जा रही एक कार ने सास व बहू को रौंद दिया। इस हादसे में सास नजमा खातून की मौके पर ही मौत हो गई तथा इनकी बहू मरहूम खातून गंभीर रूप से घायल हो गईं। हादसे की सूचना मिलते ही ग्रामीणों में रोष फैल गया। आक्रोशित ग्रामीणों ने हाईवे को जाम कर प्रदर्शन शुरू कर दिया। ग्रामीण मृतका के स्वजन को मुआवजा देने की मांग कर रहे थे। बाद में सूचना मिलने पर मौके पर दल बल के साथ पहुंचे नगर थाना के प्रभारी थानाध्यक्ष मनोज कुमार सिंह तथा सब इंस्पेक्टर कामेश्वर प्रसाद ने ग्रामीणों को समझा कर शांत करा दिया। ग्रामीणों शांत होन के बाद पुलिस ने महिला के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। हादसे में घायल मरहूम खातून को इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इनसेट

एनएच पर छह किलोमीटर लंबा लगा जाम गोपालगंज : अरार गांव के समीप सड़क हादसे में महिला की मौत के बाद उग्र लोगों ने एनएच 27 को जाम कर दिया। इस दौरान करीब दो घंटे तक एनएच 27 जाम रहने के कारण हाईव के दोनों तरफ छह किलोमीटर लंबा जाम लग गया। शहर के बंजारी मोड़ से लेकर मांझागढ़ थाना क्षेत्र के भड़कुईया मोड़ तक वाहनों की कतार लग गई। दो घंटे तक हाईवे जाम करने के बाद पुलिस के समझाने पर ग्रामीण शांत हो गए। इसके बाद हाईवे पर वाहनों का पहिया सरकने लगा।