चाड़ी के व्‍यवसायी बंधु पर फायरिंग मामले में एक लाइनर गिरफ्तार

0

दो बंधु हुए थे गोलीबारी के शिकार

इलाज के दौरान एक बंधु की हुई थी मौत

परवेज़ अख्तर/सीवान:- जिले के जी. बी. नगर थाना क्षेत्र के चाड़ी बाजार से दुकान बंद कर बिगत् 17 जनवरी को घर लौट रहे दो मोटरसाइकिल सवार व्यवसायी बंधुओं पर ताबतोड़ फायरिंग करने के मामले में एक मुख्य लाइनर को पुलिस ने महीनों बाद पुख्ता सबूत के साथ गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार लाइनर सिकंदरपुर (चाड़ी) गांव निवासी शहंशाह सिद्दीकी है जो एक तथाकथित नेता इमरान अली का भाई बताया जा रहा है।बतादें की इस हत्याकांड का मुख्य लाइनर को जिले के जीबी नगर थाना पुलिस ने गुप्त सुचना के आधार पर उसे पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था बाद में पूछताछ के क्रम में हिरासत में लिए गए लाइनर ने उक्त घटना में अपनी संलिप्तता स्वीकार की बाद जीबी नगर थाना पुलिस ने वरीय पुलिस पदाधिकारी के निर्देश के आलोक में उसे रविवार को जेल की हवा खिला दी।बता दें कि 17 जनवरी की देर संध्या चाडी बाजार से ब्यवसायी आनंदी सिंह अपने भाई श्री कान्त सिंह के साथ दुकान बंद कर अपने घर लौट रहे थे कि तभी घर लौटने के क्रम में पहले से घात लगाए कुख्यात अपराधियों ने आनंदी सिंह और उनके भाई श्रीकांत सिंह से लूट की कोशिश की।जिसका विरोध करने पर अपराधियों ने श्रीकांत सिंह और आनंदी सिंह पर तबातोड़ फायरिंग कर उन्हें गम्भीर रूप से घायल कर दिया था बाद में सुचना पाकर बाजारवासियों ने आनन -फानन में दोनों घायलों को इलाज हेतु सीवान सदर अस्पताल में भर्ती कराया था।बाद में दोनों घायलों की हालत नाजुक रहने के कारण चिकित्सकों ने बेहतर इलाज के लिए पटना रेफर कर दिया था लेकिन जीवन और मौत की लड़ाई लड़ते-लड़ते घायल श्रीकांत सिंह ने पटना के एक निजी अस्पताल में दम तोड़ दिया था।उधर जैसे ही श्रीकांत सिंह की मौत की सुचना चाड़ी बाजारवासियों को लगी थी तो बाजारवासियों का आक्रोश पुलिस के प्रति भड़क उठा था आक्रोशितों ने बाजार में आगजनी कर पुलिस के खिलाफ जमकर बवाल काटा था बाद में एएसपी कार्तिके शर्मा व कई प्रशासनिक पदाधिकारी के पहुँचने के बाद आक्रोशितों का बवाल काफी मान मनोव्वल व आश्वासन के बाद थमा था।इस सन्दर्भ में एएसपी कार्तिके शर्मा ने बताया की गिरफ्तार लाइनर के बिरुद्ध कई ऐसे सबूत मिले है तथा पूछताछ के क्रम में भी कई रहस्य तथ्यों का उजागर भी हुआ है जिसके आधार पर पुलिस काम कर रही है।पुलिस को अभी और सफलता मिलने के आसार है।उधर जीबी नगर थाने के इंस्पेक्टर ललन कुमार ने बताया की इस घटना को लेकर घायलों में आनंदी सिंह के फर्दबयान के आधार पर अज्ञात अपराधियों के बिरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी तथा अनुसंधान के क्रम में पुलिस को इस काण्ड में काफी सफलता हाथ लगी है और सफलता के लिए आगे प्रयास जारी है।