छपरा: 45 वर्षों के बाद परिवार में बिटिया ने लिया जन्म तो पालकी में रखकर घर ले आये परिजन, बताया लक्ष्मी का स्वरूप

0

छपरा: एकमा नगर पंचायत के इस परिवार ने साबित किया कि बेटियां बेटों से कम नहीं है: एकमा नगर पंचायत क्षेत्र में रहने वाले एक परिवार ने बेटी के जन्म लेने पर पालकी की और परिवार में नव आगंतुक बिटिया को पालकी से घर ले आये।

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

एकमा नगर पंचायत क्षेत्र के शिवजी प्रसाद के पुत्र धीरज गुप्ता की पत्नी ने एकमा के एक निजी हॉस्पिटल में बेटी को जन्म दिया। बेटी के जन्म लेने पर परिजनों के खुशी का ठिकाना नहीं रहा। बेटी के जन्म लेने पर परिजन उसे पालकी कर गाजा बाजा बजाते हुए घर ले आये। एकमा नगर पंचायत में इस परिवार द्वारा बेटी के जन्म लेने पर उसका इस तरीके से स्वागत करते हुए घर ले आना हर जगह चर्चा का विषय बना हुआ है।

धीरज गुप्ता के बड़े भाई बबलू गुप्ता ने बताया कि हम चार भाइयो में किसी को बेटी नहीं थी। परिवार में बेटी आये इसके लिए हर कोई तरस रहा था। बबलू ने आगे बताया कि उनके परिवार में करीब 45 वर्षो के बाद बेटी ने जन्म लिया है। वहीं धीरज के पिता शिवजी प्रसाद ने कहा कि बेटियां साक्षात लक्ष्मी का स्वरूप होती हैं।
वहीं परिवार में बिटिया के आगमन पर पिता धीरज गुप्ता व माता पूजा देवी ने भी प्रसन्नता जाहिर करते हुए कहा है कि बेटियां किसी भी मामले में बेटों से कम नहीं हैं।

एकमा नगर पंचायत में परिजनों द्वारा किये गए इस नेक कार्य की सराहना हर ओर हो रही है। लोग ये भी कह रहे हैं कि गर्भ में बेटी होने पर भ्रूण हत्या करने वाले लोगों के लिए इस परिवार ने एक नई नजीर पेश किया है और यह साबित किया है कि बेटियां वास्तव में बेटो से कम नहीं हैं।