छपरा: विश्व कैंसर दिवस के उपलक्ष्य पर शुरू हुआ निःशुल्क कैंसर रोग चिकित्सा व परामर्श शिविर

0
  • सभी स्वास्थ्य संस्थानों पर सप्ताह भर लगेगा शिविर
  • प्रारम्भिक जांच व इलाज से कैंसर से मुक्ति आसान
  • चिन्हित मरीजों को किया जाएगा रेफर

छपरा: “आज हम कैंसर जैसे भयानक बीमारी को जड़ से खत्म करने के लिए एकजुट हुये हैं। कई राष्ट्रीय व राज्यीय स्तर की योजनाओं के बावजूद आज भी राज्य में ओरल कैंसर व जागरूकता के अभाव में महिलाओं में ब्रेस्ट व सर्वाइकल कैंसर के मामले बढ़ रहे हैं।हालांकि कैंसर पहले के दशकों में लाइलाज हुआ करता था।लेकिन अब इसका इलाज पूरी तरह संभव है। लेकिन, इसके लिए समय पर इसकी पहचान लक्षणों की पहचान बेहद जरूरी है। ताकि, समय पर मरीज का इलाज शुरु कर उसकी जान बचाई जा सके। उक्त बातें जिला गैर संचारी रोग नियंत्रण पदाधिकारी डॉ. भूपेंद्र कुमार ने कही।

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

विश्व कैंसर दिवस से 10 फरवरी तक जिले के सदर अस्पताल, अनुमंडल अस्पताल व रेफ़रल अस्पताल में शिविर का आयोजन किया जाएगा। साथ ही, सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र व अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों एवं हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर आयोजित किया जाएगा। डॉ वरुण कुमार, डॉ0 संदीप कुमार, डॉ0 विजय लाल, दिनेश प्रजापति, राजेश्वर प्रसाद (अस्पताल प्रबंधक), निधी कुमारी, राज कन्या, आरती कुमारी, राजीव गर्ग, बंटी रजक शामिल थे।

परामर्श के साथ होगा उपचार:

सदर अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ. एसडी सिंह ने कहा कि यहां आने वाले लोगों की कैंसर की निशुल्क जांच की जाएगी। साथ ही, कुछ सामन्य कैंसर जैसे ब्रैस्ट कैंसर एवं मुंह के कैंसर इत्यादि के संभावित कारणों, लक्षणों एवं उससे बचाव के लिए जरुरी परामर्श भी दिए जाएंगे राज्य स्वास्थ्य समिति ने लोगों को जागरूक करने का उद्देश्य से सभी जिलों में शिविर लगाने का निर्णय लिया है। शिविर के दौरान चिकित्सकों द्वारा सामान्य कैंसर रोगियों की पहचान की जाएगी। संभावित कैंसर मरीज को बेहतर उपचार के लिए पटना स्थित महावरी कैंसर अस्पताल, इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान, पटना मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल एवं एम्स में रेफर किया जाएगा। कैंसर की बीमारी का मुख्य कारणों में लोगों द्वारा अधिकाधिक मात्रा में धूम्रपान व तम्बाकू का सेवन तो है ही, साथ में आर्सेनिक युक्त पानी का सेवन व आजकल बाजार में पाए जा रहे अथिकतर खाद्य वस्तुओं में मिले केमिकल्स भी हैं। डब्लूएचओ की रिपोर्ट के अनुसार वर्तमान में भारत में कैंसर मरीजों की संख्या लगभग 25 लाख से ज्यादा है।इसलिए धूम्रपान व तंबाकू सेवन से बचें ।

लक्षणों पर करें गौर , निशुल्क जांच व इलाज उपलव्ध :

  • शरीर के किसी अंग में असामन्य सूजन का होना
  • तिल या मस्सों के आकार या रंग में परिवर्तन
  • लगातार बुखार या वजन में कमी
  • स्तन में सूजन या कड़ापन का होना
  • घाव का लंबे समय से नहीं भरना हैं

कैंसर से बचाव के उपाय:

  • ध्रूमपान एवं तम्बाकू का सेवन नहीं करें
  • भोजन में फ़ल एवं सब्जियों का अधिक उपयोग करें
  • शरीर के वजन को संतुलित रखें
  • नियमित शारीरिक व्यायाम करें