छपरा: मेरी घर वापसी हुई है, आप सभी का प्यार आजीवन याद रहेगा: सिविल सर्जन

0
  • सारण के सिविल सर्जन को दी गयी विदाई
  • नए सीएस डॉ सागर दुलाल सिन्हा का हुआ स्वागत

छपरा: सदर अस्पताल के बॉयज हॉस्टल सभागार में सारण के निवर्तमान सिविल सर्जन डॉ जेपी सुकुमार का विदाई समारोह तथा नए सीएस डॉ सागर दुलाल सिन्हा का स्वागत समारोह आयोजित किया गया। इस मौके पर स्वास्थ्य कर्मियों ने निवर्तमान सिविल सर्जन को भावभीनी विदाई दी तथा उनके सराहनीय कार्यों की चर्चा की। निवर्तमान सीएस डॉ जेपी सुकुमार ने कहा कि सारण के चिकित्सकों तथा सभी स्वास्थ्य कर्मियों ने स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने में जिस तरह से अपना योगदान दिया है वह काफी सराहनीय है। यहां के लोगों के साथ काम करके काफी अच्छा लगा। उन्होंने कहा कि सारण में पदभार संभालते ही यहां के कर्मियों ने जिस तरह से सकारात्मक सहयोग दिया उस सहयोग की बदौलत कई विकट परिस्थिति और चुनौतियों को आसानी से पार करने में कामयाबी मिली।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
metra hospital

कर्मियों की सजगता से बची कई मरीजों की जान

सीएस ने अपने कार्यों के बारे में चर्चा करते हुए कहा कि कोरोना की दूसरी लहर में सीमित संसाधनों और सीमित कर्मियों के बावजूद भी बेहतर चिकित्सा सुविधा आम जनता को पहुंचाने का प्रयास किया है। उन्होंने बताया कि कोरोना काल में वह लगातार अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते रहे और इस दौरान उनके सामने कई विकट परिस्थितियां भी आई और कर्मियों के सहयोग से उस विकट परिस्थितियों से भी निपटने में कामयाबी हासिल की। उन्होंने एक घटनाक्रम का चर्चा करते हुए बताया कि कोरोना काल के दौरान जब आइसोलेशन सेंटर में मरीज भर्ती थे तब एक दिन अचानक सदर अस्पताल के ट्रांसफार्मर में आग लग गई और आइसोलेशन सेंटर का बिजली सप्लाई बंद हो गया। बिजली सप्लाई बंद होते ही अफरा-तफरी हो गयी। लेकिन सारण के डीपीएम अरविंद कुमार और हेल्थ मैनेजर राजेश्वर प्रसाद की सूझबूझ से काफी कम समय में बिजली की समस्या को दूर कर आइसोलेशन सेंटर में बिजली आपूर्ति बहाल की गई। उन्होंने कहा कि अगर समय रहते बिजली की समस्या दूर नहीं होती तो उस दिन 30 से 40 मरीजों की मौत हो जाती। लेकिन इन लोगों की सजगता से मरीजों की जान बच गयी।

कर्मियों का सहयोग सदा याद रहेगा

आपको बता दें कि डॉ जे पी सुकुमार का तबादला पटना में क्षेत्रीय अपर निदेशक के पद पर किया गया है। उन्होंने कहा इतने कम समय में यहां के कर्मियों ने जिस तरह से सहयोग किया और अपना प्यार दिया वह आजीवन याद रहेगा। उन्होंने कहा कि मेरी बातों को जन-जन तक पहुंचाने में मीडिया के सहयोग से सेंटर फॉर एडवोकेसी एंड रिसर्च की टीम ने जिस तरह से सहयोग किया वह काफी सराहनीय है। कोरोना संक्रमण तथा स्वास्थ्य सेवाओं के अन्य कार्यक्रमों के बारे में समुदाय को जागरूक करने में मीडिया के माध्यम से सीफार की टीम ने बेहतर कार्य किया है और ऐसी उम्मीद है कि आगे भी इस तरह के कार्य करते रहेंगे।

सारण के नए सिविल सर्जन का हुआ स्वागत

सारण के नए सिविल सर्जन के रूप में बिहार के प्रसिद्ध सर्जन डॉ सागर दुलाल सिन्हा ने योगदान किया है। आयोजित कार्यक्रम में सिविल सर्जन का स्वागत चिकित्सा कर्मियों ने पुष्प गुच्छ व अंग वस्त्र देकर किया। इस मौके पर सिविल सर्जन डॉ सागर दुलाल सिन्हा ने कहा कि सारण में स्वास्थ्य सेवाओं को गुणवत्तापूर्ण तथा बेहतर बनाना मेरा लक्ष्य होगा। टीकाकरण के शत-प्रतिशत लक्ष्य को हासिल करना मेरी प्राथमिकता है । समुदाय के हर वर्ग के लोगों तक स्वास्थ्य सेवा पहुंचे यह सुनिश्चित की जाएगी अस्पतालों में मरीजों को बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने का प्रयास करेंगे। सीएस ने कहा कि जिस तरह से आप सभी ने पूर्व के अधिकारी को सहयोग किया है। ऐसी उम्मीद है कि मुझे भी वह सहयोग प्राप्त होगा और आपके सहयोग से सारण को एक नया आयाम देने का प्रयास करेंगे।

आपको बता दें कि इसके पूर्व डॉ सागर दुलाल सिन्हा पटना में अपर निदेशक के पद पर पदस्थापित थे। अब सारण के सिविल सर्जन की कमान संभाल रहे हैं। इस मौके पर डीएमओ डॉ दिलीप कुमार सिंह, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ चंदेश्वर सिंह, जिला स्वास्थ्य समिति के डीपीएम अरविंद कुमार, सदर अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ एसडी सिंह , जिला स्वास्थ्य समिति के डीपीसी रमेश चंद्र कुमार, डीसीएम बृजेंद्र कुमार सिंह ,डीएमएन्डई भानु शर्मा, डब्ल्यूएचओ के एसएमओ डॉ रंजितेश कुमार, सीफार के डीसी गनपत आर्यन, गौरव कुमार, नीरज कुमार समेत सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, बीएचएम, बीसीएम समेत अन्य मौजूद थे।