छपरा: अंतर विभागीय समन्वय स्थापित कर पोलियो अभियान को बनाएं सफल: प्रभारी डीएम

0
  • 27 जून से घर-घर जाकर बच्चों को पिलाई जायेगी दो-बूंद जिन्दगी की
  • प्रभारी डीएम सह उप विकास आयुक्त की अध्यक्षता में हुई जिला टास्क फोर्स की बैठक
  • अभियान को सफल बनाने के लिए माइक्रो प्लान तैयार करने का दिया निर्देश

छपरा: जिले में 27 जून से 03 जुलाई तक पल्स पोलियो अभियान कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। इसके तहत 0 साल से लेकर 5 साल तक के बच्चों को घर-घर जाकर दो बूंद जिंदगी की खुराक पिलाई जाएगी। इसके सफल क्रियान्वयन को लेकर प्रभारी जिलाधिकारी सह उपविकास आयुक्त अमित कुमार की अध्यक्ष्ता में समाहरणालय सभाकक्ष में जिला टास्क फोर्स की बैठक की गयी। जिसमें प्रभारी डीएम ने कहा कि अंतर विभागीय समन्वय स्थापित कर पल्स पोलियो अभियान को सफल बनाएं। प्रखंड स्तर पर स्वास्थ्य, विभाग, आईसीडीएस व प्रखंड विकास पदाधिकारी से समन्वय स्थापित कर माइक्रोप्लान तैयार करें। हर बच्चे को पोलियो की खुराक पिलाना आवश्यक है। यह सुनिश्चित किया जाये कि कोई भी बच्चा पोलियो की दवा से वंचित नहीं रहे। डीएम ने कहा कि पल्स पोलियो अभियान की सफलता के लिए अधिकारियों को अपने उत्तरदायित्वों का निर्वहन ईमानदारी पूर्वक करना होगा। चिन्हित किये गए सभी केंद्रों पर ससमय दवा उपलब्ध कराते हुए सभी 5 वर्ष से नीचे के बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाकर अभियान को सफल बनायें।उन्होंने कहा कि पल्स पोलियो अभियान का विभिन्न माध्यमों से व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार कराया जाय तथा आमजन को अपने बच्चों को पल्स पोलियो की खुराक पिलाने के लिए जागरूकता अभियान चलाई जाय ताकि अभिभावक अपने बच्चों को पोलियो की खुराक पिलवा सकें।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2023-10-11 at 9.50.09 PM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.50 AM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.51 AM
ahmadali
WhatsApp Image 2023-11-01 at 2.54.48 PM

कोविड संबंधित सुरक्षा का ध्यान रखना जरूरी

डीएम ने कहा कि कोरोना काल में पोलियो राउंड को लेकर विशेष सतर्कता बरती जाएगी। मास्क की अनिवार्यता और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हर किसी के लिए जरूरी होगा। कोविड संबंधित सुरक्षा को देखते हुए मानकों को ध्यान में रखना जरूरी है। सभी वैक्सीन बॉक्स वाहकों को यह सख्त निर्देश दिए गए हैं कि पोलियो अभियान के दौरान उपयोग होने वाले सभी कोल्ड बॉक्स और आइस पैक की अच्छी तरह साफ-सफाई सुनिश्चित करेंगे। क्षेत्र में निकलने से पहले मास्क जरूर पहनेंगे, हाथों को जीवाणुमुक्त रखेंगे और शारीरिक दूरी का पालन करेंगे।

पोलिया अभियान के दौरान भी जारी रहेगा कोविड व नियमित टीकाकरण

इस दौरान प्रभारी डीएम के द्वारा कोविड व नियमित टीकाकरण कार्यक्रम की समीक्ष की गयी। समीक्षा के दौरान उन्होने कहा कि पोलियो अभियान के दौरान कोविड व नियमित टीकाकरण निरंतर जारी रहेगा। उन्होने कहा कि टीकाकरण के लक्ष्य को हर हाल में शत-प्रतिशत हासिल करना है। जिले में प्रतिदिन 25 से 25 लाभार्थियों को कोविड का टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया है। लोगों को जागरूक कर लक्ष्य अनुरूप शत-प्रतिशत टीकाकरण सुनिश्चित कराएं। प्रत्येक पीएचसी, सीएचसी के अतिरिक्त टीका एक्सप्रेस द्वारा अधिक से अधिक टीकाकरण सुनिश्चित करवाएं।

जागरूकता अभियान का दिख रहा है असर

प्रभारी डीएम ने कहा कि टीकाकरण के प्रति जागरूकता के लिए चलाये गये अभियान की सकारात्मक तस्वीर देखने को मिल रही है। अब टीकाकरण के लिए लोग बेझिझक केंद्र पर पहुंच रहे हैँ। जागरूकता अभियान में जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग व जनप्रतिनिधि, धर्म गुरुओं के साथ मीडिया की भी अहम भूमिका है। ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण को लेकर विभिन्न तरह की अफवाहें फैली कि लोग टीका लेने से कतराने लगे थे। अब परिस्थिति बिलकुल ही अलग देखने को मिल रही है । ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण केंद्रों पर लोगों की भीड़ दिख रही है। इस बैठक में सिविल सर्जन डॉ. जेपी सुकुमार, डीआईओ डॉ. अजय कुमार शर्मा, डीपीएम अरविन्द कुमारी, एसएमओ डॉ. रंजितेश कुमार, आईसीडीएस डीपीओ वंदना पांडेय, सभी सीडीपीओ व सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी मौजूद थे।