छपरा: शांतिपूर्ण एवं सौहार्दपूर्ण वातावरण में संपन्न होगा मुहर्रम का त्योहार – जिलाधिकारी

0

परवेज अख्तर/एडिटर इन चीफ: मुहर्रम का त्योहार शांतिपूर्ण माहौल से संपन्न कराने के उद्देश्य से सारण समाहरणालय सभागार में एक बैठक आयोजित की ग ई । बैठक की अध्यक्षता जिलाधिकारी, राजेश मीणा ने की। उन्होंने बैठक में उपस्थित सभी पदाधिकारियों को मुहर्रम का त्योहार शांतिपूर्ण एवं सौहार्दपूर्ण वातावरण में संपन्न हेतु आवश्यक निर्देश दिये ।जिलाधिकारी ने बताया कि इस वर्ष मुहर्रम का त्योहार 09 अगस्त को मनाये जाने की सूचना है। यह पर्व मुस्लिम समुदाय के शिया और सुन्नी दोनों सम्प्रदायों के द्वारा अपनी परंपराओं के अनुरूप मनाया जाता है। मुहर्रम में झण्डे के साथ ताजिया जुलूस निकाले जाने की परम्परा है। ताजिया जुलूस में झण्डा एवं ताजिया के साथ परम्परागत हथियार यथा लाठी, फरसा, तलवार, भाला तथा ढोल नगाड़े के साथ मुस्लिम समुदाय के लोग शामिल होते हैं।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

मुहर्रम के जुलूस में तलवारबाजी तथा लट्ठबाजी जैसे परम्परागत खेलों का प्रदर्शन भी किया जाता है। इस परिप्रेक्ष्य में पर्याप्त सतर्कता बरतना आवश्यक है। जिलाधिकारी के द्वारा जुलूस के मार्ग के भौतिक सत्यापन हेतु संबंधित थानाध्यक्ष और प्रखंड विकास पदाधिकारी को निर्देशित किया गया। जिलाधिकारी के द्वारा निर्देश दिया गया कि बिना लाइसेन्स के जुलूस का अयोजन नहीं किया जाएगा । इसके लिए पूर्व में ही अनुमति प्राप्त करनी होगी। लाइसेन्स जिनके नाम से निर्गत किया जायगा उनके लिए आवश्यक होगा कि वे युवा हों तथा आम लोगों में उनकी पकड़ हो। जुलूस के लिए परम्परागत रूप से निर्धारित मार्ग पर अनुज्ञप्ति प्रदान की जायगी। प्रत्येक ताजिया जुलूस के साथ पुलिस स्कॉट की व्यवस्था रहेगी। सभी जुलूसों में लाउडस्पीकर के उपयोग की अनुमति सक्षम प्राधिकार द्वारा दी जाएगी। डी. जे. का उपयोग पूर्णतया प्रतिबंधित रहेगा।

निर्देश दिया गया कि बिना अनुमति प्राप्त किए हुए जुलूस निकालने का प्रयास किया जाता है तो जुलूस को गैर कानूनी मजमा घोषित करते हुए आयोजक पर सख्त कार्रवाई की जाये।बैठक में बताया गया कि विधि व्यवस्था संधारण हेतु सभी अनुमण्डल पदाधिकारी, अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी के द्वारा पूर्व में दिए गए निदेश के आलोक में सभी थाना क्षेत्रों में शान्ति समिति की बैठक कर ली गयी है। बताया गया कि गृह विभाग द्वारा दिए गए निदेशानुसार यदि कोई व्यक्ति जान बूझ कर दुर्भावना से ग्रसित हो कर किसी की धार्मिक भावना, मान्यता को ठेस पहुँचाने के उद्देश्य से कोई कार्य करता है तो उसके विरुद्ध भा. द. वि. की धारा 153 क, 295 और 295 ‘क’ के तहत कार्रवाई की जाये।

सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचल अधिकारी, कार्यपालक पदाधिकारी, नगर पंचायत, पुलिस निरीक्षक, पुलिस अंचल और थानाध्यक्ष अपने अपने क्षेत्र में सघन गश्ती करते हुए विधि- व्यवस्था को संधारित करेंगें। विधि व्यवस्था की स्थिति पर नजर रखने हेतु विभिन्न थाना क्षेत्रों में वरीय पदाधिकारियों की भी प्रतिनियुक्ति की गई है जो भ्रमणशील रह कर विधि व्यवस्था बनाये रखेंगे। जिला के सभी पुलिस थानों के थानाध्यक्ष संबंधित प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचल अधिकारी से लगातार समन्वय बनाये रखेंगे और कहीं से भी विधि व्यवस्था के संबंध में सूचना प्राप्त होते ही वरीय पदाधिकारियों को सूचित करते हुए तुरंत घटना स्थल के लिये प्रस्थान करना सुनिश्चित करेंगे। बताया गया कि मुहर्रम पर विधि व्यवस्था संधारित करने हेतु संयुक्तादेश के जरिए सभी थानाक्षेत्रों में विशेषकर संवेदनशील स्थलों पर भी वरीय पदाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति कर दी गयी है।

पुलिस अधीक्षक के द्वारा भी त्योहार के शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराये जाने के संदर्भ में महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश थानाप्रभारीगणों को दिया गया। अंत में जिलधिकारी ने अपेक्षा करते हुए कहा कि सभी पदाधिकारी पूरी निष्पक्षता एवं कर्तव्य निष्ठा से अपने कर्तव्यों का निर्वहन करेेंगे। कार्य में शिथिलता पाये जाने पर कठोर अनुशासनिक कार्रवाई करने की चेतावनी भी दी गयी।विधि व्यवस्था संधारण हेतु जिला स्तर पर जिला नियंत्रण कक्ष 24 घंटे कार्यरत रहेगा। जिला नियंत्रण कक्ष, सारण का दूरभाष संख्या 06152-242444 है। जिला नियंत्रण कक्ष के वरीय प्रभार में डा० गगन, अपर समाहर्ता, सारण (मो० नं० 9473191268) एवं श्री सौरभ जायसवाल, पुलिस उपाधीक्षक, मुख्यालय, सारण-8544428112 रहेंगे। सभी अनुमण्डल पदाधिकारी, अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी अपने अपने अनुमण्डल की विधि व्यवस्था के वरीय प्रभार में रहेंगे। इसके अतिरिक्त जिला आपदा नियंत्रण कक्ष भी 24×7 क्रियाशील रहेगा। जिसका दूरभाष संख्या-06152 245023 है।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here