सिविल सर्जन डॉ जनार्दन प्रसाद सुकुमार ने ग्रहण किया पदभार, कहा-कोविड-19 टीकाकरण के शत प्रतिशत लक्ष्य को हासिल करना सर्वोच्च प्राथमिकता

0

छपरा : कोविड-19 टीकाकरण के लक्ष्य को हर हाल में शत-प्रतिशत हासिल करना मेरी सर्वोच्च प्राथमिकता होगी. उक्त बातें सारण के नए सिविल सर्जन डॉ जनार्दन प्रसाद सुकुमार ने पदभार ग्रहण करते हुए कही.

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

उन्होंने कहा कि जिले में तीसरे चरण की शुरुआत की गई है. जिसके तहत बुजुर्गों का टीकाकरण किया जा रहा है और निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप टीकाकरण की उपलब्धि प्राप्त करना है. इसको लेकर बेहतर तरीके से समन्वय स्थापित कर कार्य करने की आवश्यकता है. सिविल सर्जन ने कहा कि स्वास्थ्य के हर एक बिंदुओं पर सारण जिला को सर्वोच्च स्थान दिलाना हमारा प्रयास होगा स्वास्थ्य के सभी मानकों पर रैंकिंग में सारण को पूरे राज्य में पहला स्थान दिलाना हमारा प्रयास होगा. उन्होंने निवर्तमान सिविल सर्जन के कार्यो की सराहना करते हुए कहा कि सारण जिले मानकों के रैंकिंग निचले स्तर से 5 या 8 नंबर रहता था. लेकिन इनके मेहनत के बदौलत सारण जिला अब टॉप 5 में शामिल है.

सिविल सर्जन डॉ. जेपी सुकुमार ने कहा कि स्वच्छता से ही बेहतर स्वास्थ्य की परिकल्पना को पूरी की जा सकती है. इसलिए सभी स्वास्थ्य संस्थानों में स्वच्छता का विशेष ख्याल रखा जाएगा और इसके लिए कार्य किया जाएगा. अगर कोई व्यक्ति अपने आपको स्वस्थ रखना चाहता है तो सबसे पहले उसे स्वस्थ रहना होगा.

सारण के निवर्तमान सिविल सर्जन डॉ माधवेश्वर झा का तबादला दरभंगा में क्षेत्रीय अपर निदेशक के पद पर किया गया है. नए सिविल सर्जन डॉ जेपी सुकुमार राज्य यक्ष्मा विभाग के अपर निदेशक के पद पर तैनात थे. अब वह सारण के सिविल सर्जन के पद पर पदस्थापित किए गए हैं.

2023 में टीबी मुक्त होने वाला बिहार का पहला जिला बनेगा सारण

सिविल सर्जन डॉ जेपी सुकुमार ने कहा कि वर्ष 2025 तक केंद्र सरकार के द्वारा देश को टीबी मुक्त करने का लक्ष्य रखा गया है लेकिन हमारा प्रयास होगा कि सारण जिला को वर्ष 2023 तक टीबी मुक्त किया जाए और यह बिहार का पहला जिला होगा
उन्होंने कहा कि टीबी के क्षेत्र में उनका काफी पुराना अनुभव रहा हैयक्ष्मा विभाग में अपर निदेशक के पद पर कार्य कर चुके हैं. उन्होंने कहा कि हमारे पास इसको लेकर कार्य योजना है जिसको लागू कर जिले को टीबी मुक्त किया जाएगा.

सभी स्वस्थ संस्थानों में दवाओं की उपलब्धता की जाएगी सुनिश्चित

सिविल सर्जन ने कहा कि स्वास्थ्य सेवा को गुणवत्तापूर्ण बनाने के लिए प्रयास किया जा रहा है. सभी स्वास्थ संस्थानों में दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी ताकि मरीजों को किसी प्रकार की परेशानी ना हो. इमरजेंसी वार्ड में साफ सफाई का विशेष रूप से ख्याल रखना है. उन्होंने कहा कि सभी कर्मी अपने कर्तव्यों का ईमानदारी से पालन करें किसी प्रकार की शिकायत की कोई गुंजाइश नहीं रहे.