छपरा: संस्थानों में शत-प्रतिशत दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करें: क्षेत्रीय अपर निदेशक

0
  • प्रमंडलीय समीक्षात्मक सह डाटा वैलीडेशन कमिटी की बैठक
  • क्षेत्रीय अपर निदेशक ने की स्वास्थ्य विभाग के कार्यों की समीक्षा
  • तीनों जिले के कोविड टीकाकरण की हुई समीक्षा
  • प्रसव कक्ष एवं मातृत्व शल्य कक्ष को सुदृढ करने का निर्देश

छपरा: सदर अस्पताल के क्षेत्रीय प्रशिक्षण केन्द्र में स्वास्थ्य विभाग के प्रमंडलीय समीक्षात्मक बैठक एवं डाटा वैलिडेशन कमिटि की बैठक क्षेत्रीय अपर निदेशक डॉ. रत्ना शरण की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में क्षेत्रीय अनुश्रवण एवं मूल्यांकन पदाधिकारी-सह-प्रभारी शादाँ रहमान के द्वारा पीपीटी के माध्यम से बैठक में उपस्थित सभी पदाधिकारीयों एवं कर्मियों को सारण प्रमंडल में स्वास्थ्य से संबंधित सभी योजनाओं एवं प्रगति प्रतिवेदन के बारे में बताया गया। बैठक का उद्देश्य स्वास्थ्य विभाग में सारण प्रमंडल अंतर्गत चलने वाले विभिन्न कार्यक्रमों का सफलतापूर्वक संचालन करना, उपलब्धि की समीक्षा करना एवं उपलब्धि को शत-प्रतिशत सुनिश्चित करना था। क्षेत्रीय अपर निदेशक द्वारा कोरोना वायरस के वैक्सीनेशन के संबंध में तीनों जिला से जानकारी ली गई।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

प्रसव कक्ष एवं मातृत्व शल्य कक्ष को सुदृढ करने का निर्देश:

क्षेत्रीय अपर निदेशक ने लक्ष्य कार्यक्रम अंतर्गत प्रसव कक्ष एवं मातृत्व शल्य कक्ष को सुदृढ़ करने एवं प्रमाणीकरण प्रमाणिकरण प्राप्त करने के संबंध में तीनों जिला के सिविल सर्जन एवं अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी को निदेश दिया । तीनों जिला के सिविल सर्जन को निदेश दिया गया कि प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के अंतर्गत प्रत्येक माह के 9 तारीख को कार्यक्रम आयोजित कर आयेजित कर जटिल प्रसव वाली महिलाओं को चिह्नित चिन्हित कर उचित सेवा देना सुनिश्चित करेंगे।

sansthan me dawa

संस्थानों में शत-प्रतिशत दवा की उपलब्धता सुनिश्चित करें:

प्रमंडल अंतर्गत सभी स्वास्थ्य संस्थानों में लक्ष्य के अनुसार ओपीडी एवं आईपीडी में दवा उपलब्धता की समीक्षा की किया गयी या तथा निदेश दिया गया कि सभी संस्थानों में शत-प्रतिशत दवा की उपलब्धता सुनिश्चित करें। बैठक में एचएमआई पोर्टल पर प्रतिवेदित सभी प्रकार के आंकड़ों आँकड़ो का वैलिडेशन किया गया। जिला सारण द्वारा प्रतिवेदित आंकड़ों आँकड़ो की त्रुटियों को सुधार कर पुनः पोर्टल पर प्रतिवेदित करने का निदेश दिया गया। वित्तीय वर्ष 2020-21 में माह अप्रैल 2020 से संस्थानवार सभी प्रतिवेदन नये एचएमआईएस पोर्टल पर शत-प्रतिशत अपलोड करने का निदेश दिया गया।

सारण में सबसे अधिक संस्थागत प्रसव:

बैठक के दौरान प्रमंडल अंतर्गत मातृ मृत्यु की समीक्षा की गई एवं मातृ मृत्यु के कारणों की समीक्षा हेतु तीनों जिला को निदेश दिया गया। क्षेत्रीय अनुश्रवण एवं मूमुल्यांकन पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि सारण प्रमंडल अन्तर्गत तीनों जिलों में माह दिसम्बर 2020 तक संस्थागत संस्थगत प्रसव क्रमशः सारण में 33962 , सिवान में 28333 एवं गोपालगंज में 26016 हुआ है| जिसमें सिजेरियन की संख्या सारण में 276, सिवान में 511 एवं गोपालगंज में 391 है।

जननी सुरक्षा योजना के लाभार्थियों का शीघ्र करें भुगतान:

क्षेत्रीय अपर निदेशक ने सभी जिलों को निदेश दिया कि प्रसवोपरांत जननी सुरक्षा योजना के अंतर्गत लाभार्थी का शीघ्र भुगतान करना सुनिश्चित करेंगे। माह दिसम्बर 2020 तक जिला सारण में 8429, सिवान में 526 एवं गोपालगंज में 9801 जेबीएसवाई का बैकलॉग् है, जिसे शीघ्र भुगतान कर समाप्त करने का निदेश दिया गया। मिशन परिवार विकास अभियान के अंतर्गत चल रहे पखवाड़ा की समीक्षा की गई। कायाकल्प, परिवार नियोजन, संस्थागत प्रसव, प्रतिरक्षण, रेफरल ट्रांसपोर्ट इत्यादी कार्यक्रमों पर विस्तार पूपुर्वक चर्चा की गई। तीनों जिलों के सिविल सर्जन, अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी, जिला कार्यक्रम प्रबंधक, जिला लेखा प्रबंधक, जिला अनुश्रवण एवं मुल्यांकन पदाधिकारी, जिला योजना समन्वयक, क्षेत्रीय अनुश्रवण एवं मूमुल्यांकन पदाधिकारी-सह-प्रभारी क्षेत्रीय कार्यक्रम प्रबंधक, सारण, प्रभारी क्षेत्रीय लेखा प्रबंधक, मनोज कुमार तथा संतोष कुमार सिंह, प्रमंलीय आशा समन्वयक उपस्थित थे।