छपरा: आईसीडीएस के डीपीओ समेत अन्य कई कर्मियों ने लिया कोविड-19 का टीका

0
  • सारण में 18 स्थलों पर शुरू हुआ वैक्सीनेशन
  • डीपीओ ने कहा- टीका पूरी तरह सुरक्षित, बिना डरे कराएँ टीकाकरण
  • आंगनबाड़ी की सेविका -सहायिका उत्साह के साथ वैक्सीनेशन के लिए पहुंची

छपरा: वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जिले में गुरुवार को 18 सत्र स्थलों पर कोविड-19 का टीकाकरण किया गया। टीकाकरण के लिए कर्मियों को पहले से मोबाइल पर सूचना भेजी गई थी। गुरुवार को आईसीडीएस की जिला कार्यक्रम अधिकारी वंदना पांडेय समेत कई आईसीडीएस कर्मियों ने कोविड 19 का टीका लिया। कोरोना काल में समाज के लिए सुरक्षा प्रहरी की भूमिका निभाने वाली आंगनबाड़ी की सेविका-सहायिका कोविड-19 टीकाकरण स्थल पर उत्साह के साथ पहुंची और बिना किसी झिझक और डर के कोविड-19 का टीका लिया| साथ हीं लोगों से अपील भी किया कि कोविड-19 का टीका पूरी तरह से सुरक्षित और प्रभावी है। इसमें सभी को आगे आना चाहिए और अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करके समाज को एक नये संदेश देने का काम किया जाना चाहिए।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

पोर्टल पर रजिस्टर्ड लाभार्थियों को ही दी जाएगी वैक्सीन:

कोविड-19 का टीकाकरण पूर्णता कोविन पोर्टल पर आधारित है। जिले में पोर्टल पर तकनीकी समस्याओं के कारण समय अनुसार सत्रों का निर्धारण नहीं हो पा रहा है। जिससे लाभार्थियों को टीकाकरण कराने के लिए ससमय सूचना प्रदान नहीं हो पा रही है। अतः आवश्यक है कि कोविन पोर्टल पर सत्रों का निर्धारण कम से कम 2 दिन पूर्व ही कर लिया जाए तथा लाभार्थियों को कोविड-19 टीकाकरण कराने के लिए कम से कम 1 दिन पहले सूचित किया जाए। साथ ही यह भी निर्देश दिया गया है कि किसी भी सत्र का आयोजन ऑफलाइन नहीं किया जाएगा।

दोनों डोज लेने के 2 सप्ताह बाद कोरोना के प्रति एंटीबॉडी का निर्माण:

सीएस डॉ. मावेश्वर झा ने बताया कि वैक्सीन की प्रभावशीलता और कोरोना के प्रति एंटीबाडी विकसित होने के लिए वैक्सीन की के दो डोज लेना अति आवश्यक है। वैक्सीन की का पहली प्रथम डोज लेने के 4 हफ्ते या 28 दिन बाद ही इसका दूसरा डोज दिया जाएगा। आमतौर पर कोरोना वैक्सीन के दोनों डोज लेने के 2 सप्ताह बाद कोरोना के प्रति एंटीबॉडी का निर्माण शुरू हो जाता है।

covid ka tika

डीपीओ ने कहा- टीका पूरी तरह सुरक्षित, बिना डरे कराएँ कराए टीकाकरण:

आईसीडीएस की के डीपीओ वंदना पांडेय ने कोविड का टीका लेने के बाद कहा कि मैंने पूरे उत्साह के साथ वैक्सीन ली और पूरी तरह स्वस्थ हूँ। किसी प्रकार का साइड इफेक्ट नहीं हुआ। इसलिए, वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित है। मैं हर व्यक्ति से अपील करती हूँ कि सभी लोग समय आने पर उत्साह के साथ निर्भीक होकर वैक्सीन लें एवं अन्य लोगों को भी इसके लिए प्रेरित करें।

टीका लेने के बाद नहीं हुई कोई परेशानी:

सेंटर फॉर एडवोकेसी एंड रिसर्च के प्रमंडलीय कार्यक्रम समन्वयक गणपत आर्यन ने कोविड का टीका लेने के बाद कहा कि टीका के लिए मेरे मन में काफी उत्सुकता थी। मुझे वैज्ञानिकों व चिकित्सकों पर पूरा भरोसा है इसलिए मैने टीका लिया है। टीका लेने के बाद मुझे किसी तरह की कोई परेशानी नहीं हुई। रोज की दिनचर्या दिनचार्या की तरह मैने अपना काम किया। इसलिए सभी से अपील है कि अपनी बारी आने पर टीका जरूर लगवायें।

खुद के साथ परिवार व समाज की सुरक्षा के लिए भी जरूरी है वैक्सीन :

आईसीडीएस की के परियोजना सहायक आरती कुमारी ने कहा कि खुद के साथ परिवार व समाज की सुरक्षा के लिए भी वैक्सीन जरूरी है। इसलिए मैंने पूरे उत्साह के साथ वैक्सीन ली लिया है। आईसीडीएस के अधिकतर कर्मियों ने वैक्सीन ली लिया है। जो लोग नहीं लिए है उनसे अपील है कि बिना डरे कोरोना का टीका लगवायें। यह टीका पूरी तरह से सुरक्षित और प्रभावी है।