अधिक से अधिक लाभार्थियों का टीकाकरण कराना सुनिश्चित करें: डीएम

0
  • कोविड को लेकर जिला स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक आयोजित
  • प्रखंड विकास पदाधिकारियों के साथ समन्वय स्थापित कर लक्ष्य निर्धारित करें एमओआईसी
  • जिले में अब तक 36542 लाभुकों को लगाया गया है टीका

सीवान: समाहरणालय सभागार कक्ष में जिला अधिकारी अमित कुमार पांडेय की अध्यक्षता में कोविड-19 टीकाकरण को लेकर जिला स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक आयोजित की गई। जिसमें डीएम ने सिविल सर्जन तथा प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि अधिक से अधिक लाभुकों को कोविड-19 का टीकाकरण कराना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी अमित कुमार पांडेय ने प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि प्रखंड स्तर पर प्रखंड विकास पदाधिकारियों के साथ समन्वय स्थापित कर लक्ष्य निर्धारित करें और निर्धारित लक्ष्य को हर हाल में शत-प्रतिशत हासिल करना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने कहा कि टीकाकरण केंद्र पर आने वाले बुजुर्गों को किसी प्रकार की परेशानी ना हो इसका विशेष रूप से ख्याल रखा जाए। टीकाकरण केंद्रों पर पीने के लिए पानी की व्यवस्था तथा बैठने के लिए कुर्सी की व्यवस्था सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी अमित कुमार पांडे ने निर्देश दिया कि वैसे स्वास्थ्य कर्मी तथा फ्रंटलाइन वर्कर जिनका सेकंड डोज का समय पूरा हो गया है और अभी तक नहीं लिए हैं वह शीघ्र अपना सेकंड डोज का टीकाकरण करा लें।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

जिले में अब तक कुल 36542 लाभार्थियों को लगायी गयी वैक्सीन

बैठक के दौरान जिलाधिकारी अमित कुमार पांडेय के द्वारा कोविड टीकाकरण के अब तक के प्राप्त लक्ष्यों की समीक्षा की गई। इस दौरान जिलाधिकारी ने बताया कि जिले में अब तक कुल 36542 लाभार्थियों को कोविड-19 का टीका लगाया गया है। जिसमें स्वास्थ्य कर्मी, आईसीडीएस कर्मी, फ्रंटलाइन वर्करों में जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन के पदाधिकारी, पंचायती राज के पदाधिकारियों के साथ-साथ बुजुर्ग भी शामिल है। जिलाधिकारी ने कहा कि जिले में अब तीसरे चरण की शुरुआत हो गई है। इसके तहत 60 वर्ष या उससे अधिक तथा 45 से 59 वर्ष तक के वैसे नागरिक जो किसी गंभीर बीमारी से ग्रसित हैं उनको टीका लगाया जा रहा है।

जनप्रतिनिधियों के सहयोग से फैलाए जागरूकता

जिलाधिकारी अमित कुमार पांडेय ने सिविल सर्जन तथा प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि प्रखंड स्तर पर पंचायत के जनप्रतिनिधियों से समन्वय स्थापित कर अधिक से अधिक लोगों को टीकाकरण के प्रति जागरूक करें तथा उनका टीकाकरण कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि कोविड-19 संक्रमण से बचने के लिए टीकाकरण कराना अति आवश्यक है। इसमें जनप्रतिनिधियों की सहभागिता अपेक्षित है।

टीबी उन्मूलन के लिए चलेगा जन आंदोलन

बैठक के दौरान जिला पदाधिकारी अमित कुमार पांडेय ने राष्ट्रीय टीबी उन्मूलन कार्यक्रम की भी समीक्षा की तथा 24 मार्च को विश्व टीबी दिवस की तैयारियों की जानकारी ली। डीएम ने बताया कि भारत सरकार के द्वारा वर्ष 2025 तक देश को टीबी मुक्त करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसको लेकर जन आंदोलन के रूप में अभियान चलाने का निर्णय लिया गया है। इस अभियान के तहत प्रखंड व गांव स्तर पर लोगों को जागरूक करने की आवश्यकता है। टीबी के मरीजों को दी जाने वाली सुविधाओं निक्षय पोषण योजना के बारे में अधिक से अधिक जागरूक करें। इस बैठक में सिविल सर्जन डॉ यदुवंश कुमार शर्मा, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ प्रमोद कुमार पांडेय, जिला यक्ष्मा पदाधिकारी डॉ अनिल कुमार सिंह, आईसीडीएस के डीपीओ प्रतिभा गिरी, डब्ल्यूएचओ के एसएमओ डॉ रंजितेश कुमार समेत सभी प्रखंडों के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक तथा सहयोगी संस्थाओं के प्रतिनिधि शामिल थे।