गोपालगंजः फरार वारंटियों को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हमला, शराब कांड से जुड़ा है मामला, 8 गिरफ्तार, कई जख्मी

0

गोपालगंजः शराब के मामले में फरार दो वारंटियों को पकड़ने गई पुलिस की टीम पर बुधवार की रात आरोपितों के परिजनों ने हमला कर दिया. घटना फुलवरिया थाना क्षेत्र के बथुआ बाजार की है. पुलिस पर किए गए पथराव और लाठी-डंडे से हमले में एक चौकीदार समेत दो लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं जिनका फुलवरिया रेफरल अस्पताल में इलाज चल रहा है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2023-10-11 at 9.50.09 PM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.50 AM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.51 AM
ahmadali
WhatsApp Image 2023-11-01 at 2.54.48 PM

हथुआ एसडीपीओ नरेश कुमार ने बताया कि वर्षों से फरार चल रहे शराब कांड के दो आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए फुलवरिया थानाध्यक्ष अशोक कुमार और एसआई मुकेश कुमार के नेतृत्व में पुलिस की टीम छापेमारी करने गई थी. पुलिस आरोपी जय कुमार चौधरी उर्फ ढेबर और सुरेंद्र चौधरी को गिरफ्तार कर अपनी गाड़ी में बैठाकर ले जाने लगी तो दर्जनों की संख्या में लाठी-डंडा से लैस होकर कुछ लोग गाड़ी के पास पहुंच गए. गिरफ्तार किए गए दोनों आरोपितों को पुलिस से जबरन छुड़ाने का प्रयास करने लगे.

चौकीदार और उसके भाई को पीटा

विरोध करने पर पुलिस की टीम पर हमला कर दिया. हमले के दौरान किसी तरह थानाध्यक्ष गिरफ्तार आरोपी को लेकर वाहन के साथ थाना पहुंचे. इसी बीच हमलावर स्थानीय चौकीदार जंगबहादुर पासवान की पिटाई करने लगे जिसका बीच-बचाव करने पहुंचे चौकीदार के भाई भोला पासवान को भी पीट कर जख्मी कर दिया. इस घटना की सूचना वरीय पदाधिकारियों को मोबाइल पर दी गई.

सूचना मिलते ही स्थानीय सीओ श्यामसुंदर राय, मीरगंज पुलिस इंस्पेक्टर वीरेंद्र कुमार सिंह, भोरे थानाध्यक्ष सुभाष सिंह, श्रीपुर ओपी प्रभारी नागेंद्र कुमार सहनी, गोपालपुर थानाध्यक्ष मिथिलेश कुमार पांडेय सहित कई थाने की पुलिस पहुंची. इसके बाद पुलिस पदाधिकारी घायल चौकीदार और उसके भाई को स्थानीय मरछियां देवी रेफरल अस्पताल फुलवरिया में भर्ती कराया. बथुआ बाजार पुलिस छावनी में तब्दील हो गया. पुलिस द्वारा सर्च अभियान भी चलाया गया जिसमें दो आरोपित सहित आठ लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

14 लोगों को किया गया नामजद

पुलिस की टीम पर जानलेवा हमला करने के मामले में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है. 14 नामजद को आरोपित करते हुए सरकारी काम में बाधा डालने का मामला दर्ज किया गया है. पुलिस अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही है.