गोपालगंज: स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर मानपुर में बदमाशों ने कर दी युवक की निर्मम हत्या

0

गोपालगंज: शनिवार की रात यानी स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर मानपुर सहित हर जगह जश्न की तैयारी की गई। लेकिन इस राष्ट्रीय पर्व से बदमाशों को कुछ लेना-देना नहीं है। मोफस्सिल थाना क्षेत्र के नौरंगा के युवक की घर से बुलाकर निर्मम हत्या कर दी गई। इसका खुलासा रविवार की सुबह हुई। बदमाशों ने युवक की हत्या कर शव को बधार में फसल लगे खेत में फेंक दी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

सूचना पर पुलिस पहुंची। शव अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कालेज में पोस्टमार्टम कराकर स्वजनों को सौंप दिया गया। मृतक की पहचान अशोक वर्मा के 19 वर्षीय पुत्र विक्रम कुमार के रूप में हुआ। युवक की हत्या के मामले में चार नामजद आरोपितों पर थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। वारदात के तीन दिन गुजरने के बाद भी पु़लिस का हाथ खाली है।

ऐसे हुई युवक की हत्या

स्वतंत्रता दिवस के पूर्व शनिवार की रात विक्रम स्वजनों के साथ घर में बैठा था। इसी दरम्यान उसके मोबाइल पर किसी का फोन आया। मोबाइल से बात करते-करते घर से बाहर निकला। जब वह देर रात तक घर वापस नहीं लौटा तो स्वजन उसके दोस्तों एवं अन्य जगहों पर काफी खोजबीन की। लेकिन विक्रम का काई अता-पता नहीं चला। सुबह में घर से कुछ ही दूरी पर बधार में लगे फसल में विक्रम का शव मिला। बदमाशों ने विक्रम की हत्या चाकू एवं पसूली से की थी। उसके शरीर पर चाकू एवं पसूली के कई निशान थे।

घटनास्थल के आसपास कई स्थान पर खून के निशान पुलिस वाले को मिली है। जिससे अनुमान लगाया जा रहा है कि विक्रम की हत्या काफी बेरहमी से की गई है। बदमाशों द्वारा चाकू-पसुली प्रहार करने पर विक्रम भागने का काफी प्रयास किया होगा। भागने के दरम्यान ही खून के निशान कई स्थान पर गिरे हैं। उसकी हत्या प्लाङ्क्षनग बनाकर किए जाने की आशंका ग्रामीणों द्वारा जाहिर की जा रहे है।

मृतक के मोबाइल गायब है। पुलिस मोबाइल की खोजबीन कर रही है। पारिवारिक सूत्रों के अनुसार घटना के कुछ दिन पूर्व किसी बात को लेकर किसी से विवाद हुआ था। उस वक्त भी विक्रम को जान मारने की धमकी दी गई थी। विक्रम के साथ किस बात को लेकर विवाद हुआ था। इस बात की खुलासा अभी नहीं हो पा रही है। पुलिस इस पहलू पर भी छान बीन कर रही है।प्रथम श्रेणी में पास हुआ था विक्रम

गत वर्ष विक्रम बिहार बोर्ड से मैट्रिक की परीक्षा में प्रथम श्रेणी से पास किया था। उसके माता-पिता रो-रोकर यही कहते की मेरा लाल बार-बार यही कहता था कि मैं एक अधिकारी बनूंगा। इसके लिए वह रात-दिन पढ़ाई-लिखाई में ही ध्यान लगाए रहता था। हमलोग भी खेती-बारी एवं मजदूरी कर बेटे को पढ़ाने में जी जान से जुटे थे। गांव के लोग भी कहते हैं कि विक्रम काफी सीधा-साधा युवक था।

मुफस्सिल थानाध्‍यक्ष पंकज कुमार सिंह ने बताया कि विक्रम की हत्या चाकू एवं पसूली से बदमाशों द्वारा कर दिया गया है। घटनास्थल से अभी तक कोई सुराग नहीं मिला है। मृतक के स्वजनों के द्वारा चार लोगों पर नामजद की है। पुलिस घटनास्थल और आसपास लगे सीसीटीवी को भी खंगाल रही है।