गोपालगंज: शराब कांड के मुख्य आरोपित की टोह में छापेमारी तेज

0

गोपालगंज: जिले के महम्मदपुर जहरीली शराब कांड मामले में फरार चल रहे मुख्य आरोपित तथा शराब सप्लायर की ठोह में पुलिस टीम ने सीमावर्ती उत्तर प्रदेश के साथ ही सिवान तथा छपरा में विभिन्न ठिकानों पर छापेमारी की। हालांकि, मुख्य आरोपित के बारे में पुलिस को सुराग नहीं मिल सका। महम्मदपुर तुरहा टोली में जहरीली शराब पीने से 13 लोगों की मौत होने के बाद एसपी आनंद कुमार ने निर्देश पर सदर एसडीपीओ संजीव कुमार के नेतृत्व में पुलिस की टीम 11 आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है, लेकिन मुख्य आरोपित महम्मदपुर निवासी छट्ठू राम तथा शराब सप्लायर करण सिंह पुलिस की गिरफ्त में अब तक नहीं आए हैं। मुख्य आरोपित तथा शराब के सप्लायर को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस की अलग अलग टीमें लगातार छापेमारी अभियान चला रही हैं।

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

पुलिस की टीम ने सिवान, छपरा तथा यूपी के सीमावर्ती इलाके में विभिन्न ठिकानों पर छापेमारी की। हालांकि मुख्य आरोपित तथा शराब का सप्लायर के बारे में पुलिस को सुराग नहीं मिल सका। मुख्य आरोपित को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस टीम टेक्निकल सेल की मदद भी ले रही है। पुलिस सूत्र बताते हैं कि महम्मदपुर तुरहा टोली शराब कांड का मुख्य आरोपी छटठू राम के कुछ रिश्तेदार छपरा तथा सिवान में रहते थे, जिसकी सूचना मिलने के बाद पुलिस टीम ने सिवान व छपरा में छापेमारी कर मुख्य आरोपित के रिश्तेदारों से घंटों पूछताछ की। वहीं शराब सप्लायर नगर थाना क्षेत्र के हरपुर गांव निवासी करण सिंह के सीमावर्ती उत्तर प्रदेश में छिपे होने की सूचना मिलने पर पुलिस टीम ने यूपी के देवरिया जिले के विभिन्न ठिकानों पर छापेमारी की।

हालांकि दोनों आरोपित पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ सके। इस संबंध में पूछे जाने पर सदर एसडीपीओ संजीव कुमार ने बताया कि फरार आरोपितों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस की टीमें लगातार छापेमारी अभियान चला रही है। जल्द ही आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। जहरीली शराब कांड मामले में फरार चल रहे शराब सप्लायर करण सिंह की गिरफ्तारी के लिए पुलिस उसका लोकेशन निकालती रही, लेकिन वह हर घंटे अपना लोकेशन बदलते रहा। जिसके कारण पुलिस उस तक नहीं पहुंच पा रही है। पुलिस सूत्र बताते हैं कि फरार करण सिंह का मोबाइल लोकेशन सीमावर्ती उत्तर प्रदेश के देविरया जिले में मिला था। इसके बाद पुलिस टीम ने देवरिया में विभिन्न ठिकानों पर छापेमारी किया, लेकिन छापेमारी से पहले की आरोपित ने अपना ठिकाना बदल दिया।