गोपालगंज: स्वस्थ जीवन के लिए उचित पोषण का विशेष महत्व: डीएम

0
  • पोषण अभियान के विभिन्न गतिविधियों का डीएम ने किया उद्घाटन
  • पोषण मेला में विभिन्न व्यंजनों की लगायी गयी प्रदर्शनी
  • स्लोगन लेखन व मेहंदी प्रतियोगिता का भी हुआ आयोजन

गोपालगंज: समाहरणालय सभागार में आईसीडीएस के द्वारा पोषण मेला का आयोजन किया गया। जिसका शुभारंभ जिलाधिकारी डॉ. नवल किशोर चौधरी व पुलिस अधीक्षक आनंद कुमार के द्वारा किया गया। इस दौरान जिलाधिकारी के द्वारा पोषण मेला में विभिन्न स्टॉलों का निरीक्षण किया गया तथा जानकारी ली गयी। जिलाधिकारी डॉ. नवल किशोर चौधरी ने कहा कि पोषण हर किसी के लिए आवश्यक है। देश के हर नागरिक को यह अधिकार है की वह सुपोषित हो। इसके लिए जन जागरूकता होते रहना चाहिए । पोषण माह के विभिन्न थीम है – पोषण वाटिका, योग एवं आयुष, क्षेत्रीय पोषण किट वितरण एवं गंभीर रूप से तीव्र कुपोषण बच्चों की पहचान एवं उनके बीच पौष्टिक भोजन का वितरण, जिसपर इस तरह के कार्यक्रम किए जा रहे हैं। डीएम ने कहा कि बच्चों में दुबलापन तथा महिलाओं एवं बच्चों में एनीमिया हमारे लिए चुनौती है। इसमें सुधार लाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। पोषण माह एक बेहतर अवसर है जब हम सामुदायिक सहभागिता के माध्यम से अधिक से अधिक लोगों को पोषण पर जागरूक कर सकते हैं। साथ ही एनीमिया की समस्या को कम करने के लिहाज से उचित पोषण का विशेष महत्व है। डीएम ने कहा कि सभी लाभार्थियों को प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना तथा मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना का लाभ देना सुनिश्चित करें। इस मौके पर जिलाधिकारी के अलावां एसपी आनंद कुमार, आईसीडीएस के डीपीओ शम्स जावेद अंसारी, पोषण अभियान के जिला समन्वयक बृजकिशोर प्रसाद समेत अन्य मौजूद थे।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ad-mukhiya

स्लोगन लेखन और मेहंदी रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन

आईसीडीएस के आंगनबाड़ी सेविका सहायिकाओं के द्वारा पोषण के प्रति जागरूकता पैदा करने के उद्देश्य से मेहंदी प्रतियोगिता तथा स्लोगन लेखन कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया। जिसमें जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक के द्वारा स्लोगन लिखकर आमजनों को जागरूकता संदेश दिया गया। इसके साथ हीं जिलाधिकारी के द्वारा हरी झंडी दिखाकर पोषण रथ को भी रवाना किया गया। पोषण रथ विभिन्न गली-मुहल्ले में जाकर ऑडियो के माध्यम पोषण के प्रति लोगों को प्रेरित करेगी। इस मौके पर आंगनबाड़ी सेविकाओं के द्वारा रंगोली भी बनाया गया था। जिसका अवलोकन जिलाधिकारी ने की। जिलाधिकारी के द्वारा अन्नप्राशन व गोदभराई का रस्म भी पूरा किया गया।

पोषण के पांच सूत्रों से कुपोषण पर लगेगा लगाम

आईसीडीएस के डीपीओ शम्स जावेद अंसारी ने बताया कि कुपोषण को दूर करने के लिए पोषण के पांच सूत्र तैयार किये गये हैं। पहला सुनहरा 1000 दिन, डायरिया प्रबंधन, पौष्टिक आहार, स्वच्छता एंव साफ-सफाई, एनिमिया प्रबंधन शामिल हैं। इन पांच सूत्रों से कुपोषण पर लगाम लगाने की तैयारी की गयी है। जिले के सभी प्रखंडों के आंगनबाड़ी केंद्रों में रंगोली बनाकर, पोषण वाटिका तथा रैली के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जा रहा है। इस दौरान कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए आंगनबाड़ी केन्द्र स्तर पर विभिन्न गतिविधियों का आयोजन करना है। उन्होंने बताया कि पोषण माह का मुख्य उद्देश्य देश के बच्चों, किशोरों एवं महिलाओं को कुपोषण मुक्त, स्वस्थ और मजबूत बनाना है।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here